Operating System क्या है? इसकी परिभाषा, प्रकार और कार्य

इस लेख में हमने Operating System की पूरी जानकारी बताया है। जिसमें हमने बताया है कि Operating System क्या है, Operating System का कार्य, Operating System का इतिहास, Operating System के प्रकार, Operating System के विशेषताए और Operating System का उदाहरण क्या है।अगर आप एक Computer Science के Student हैं। या फिर कंप्यूटर के क्षेत्र में अपना कैरियर बनाना चाहते हैं। तब आपको Operating System की जानकारी होनी चाहिए। क्योंकि Computer के लिए सबसे जरूरी Software यही होता है।

लेकिन अगर आपको पता है कि Operating System क्या होता है। तब भी आप इस लेख को पढ़ सकते हैं। क्योंकि इस लेख में आपको बहुत कुछ नया सीखने को मिलेगा। चूँकि Operating System कंप्यूटर का एक महत्वपूर्ण Software होता है। इसलिए Operating System को समझने से पहले आपको Software की जानकारी होनी चाहिए। इसके पिछले लेख में हमने Software की पूरी जानकारी शेयर किया था। इसलिए अगर आपको Software की जानकारी नहीं है। तब सबसे पहले उस लेख को पढ़ सकते हैं। इससे Operating System को समझने में आपको आसानी होगी।

जरुर पढ़ें: Software क्या है?

वैसे यहाँ मैंने Operating System को आसान भाषा में विस्तार से बताया है। आपने कभी ना कभी Android Smartphone, iPhone और विंडोज कंप्यूटर का इस्तेमाल जरूर किया होगा। शायद अभी भी इन्हीं में से किसी एक Device का उपयोग कर रहे होंगे। Android Smartphone में Android, iPhone में iOS और विंडोज कंप्यूटर में Windows एक Operating System ही है। बहुत सारे लोग इन Operating System को और कंप्यूटर एवं Smartphone जैसे Device को एक ही मानते हैं। लेकिन ये दोनो एक दूसरे के विपरीत होते हैं। ये दोनो कैसे एक दूसरे के विपरीत हैं और Operating System क्या है? चलिए विस्तार से जानते हैं।

Operating System क्या है? (What is Operating System in Hindi)

Operating System एक Software ही होता है। जिसका मतलब है कि यह भी Programing Language में लिखा गया निर्देशों या प्रोग्रामों का समूह (Collection) है। जो कि Computer के Storage Device में रहता है। Computer को On करने पर Load होने वाला सबसे पहला प्रोग्राम यही होता है। इसे System Software के अंतर्गत रखा जाता है। क्योंकि इसका कार्य पूरे Computer System पर होता है। Operating System Computer Hardware और अन्य Computer Software के बीच Bridge का कार्य करता है।

एक Computer में Operating System का महत्वपूर्ण कार्य होता है। यह Computer के विभिन्न भागों को निर्देश देता है। जिसमें Computer को Start करना, प्रोग्रामों को Manage करना, Memory को Manage करना और Input तथा Output के बीच तालमेल रखना भी होता है। इसका सबसे महत्वपूर्ण कार्य Computer में जान डालना और Computer को कार्य करने योग्य बनाये रखना है। Operating System Computer User द्वारा दिए गए निर्देशों या डेटा (Input) को Machine Language में बदलता है और परिणाम (Output) को Human Language में बदलता है। Operating System के इसी कार्य को Interface कहते है। Operating System का सबसे Popular उदाहरण Windows, Android, iOS, Unix इत्यादि है।

Computer या Smartphone को कार्य करने के लिए Operating System का होना जरूरी है। बहुत सारे लोग तो Operating System को ही Smartphone और Computer मान बैठते हैं। जैसे; अगर किसी से पूछा जाय कि Windows क्या है। तब अक्सर लोग Computer जवाब दे देते हैं। वहीं पूछा जाय कि Android क्या है। तब इसका जवाब Smartphone देते हैं। लेकिन आपके जानकारी के लिए बता दूँ कि ये दोनो आपस में विपरीत होता है। जहाँ Computer और Smartphone Device एक Hardware है। वहीं Operating System एक Software होता है।

जरुर पढ़ें:-

Operating System की परिभाषा (Definition of Operating System in Hindi)

Operating System एक Software है। जिसे संक्षिप्त में OS (ओएस) कहा जाता है। यह Computer के आत्मा के समान होता है। यही Computer System के Resources और Operations को मैनेज करने का काम करता है। यह Computer System और Computer User के बीच Interface Provide कराता है। इसलिए Operating System को System Software का सबसे अच्छा उदाहरण माना जाता है।

बहुत से लोग इंटरनेट पर खोजते रहते हैं कि Operating System का चित्र क्या होता है। इसलिए आपको बता दूँ कि Operating System एक Software है। इसलिए इसका कोई चित्र नहीं होता है। यहाँ तक कि इसे न तो देख सकते हैं, न छू सकते हैं और ना ही महसूस कर सकते हैं। क्योंकि इसका कोई बनावट ही नहीं होता है। यह भौतिक भाग है ही नहीं। चूँकि यह Software होता है। इसलिए यह Program समूह है। जो कि Computer System में Digital रुप Store होता है और अपना कार्य करता है। चलिए Operating System के कार्य को विस्तार से जानते हैं।

Operating System के कार्य (Functions of Operating System in Hindi)

जैसा कि ऊपर आपने Operating System क्या है और Operating System की परिभाषा जाना है। इससे आपको अंदाजा तो हो ही गया होगा कि Computer के लिए Operating System कितना महत्वपूर्ण होता है। जब Computer को शुरू किया जाता है। तब सबसे पहले Operating System ही Load होता है। जिसके बाद यह Computer को संचालित करने में User की मदद करता है। इसके लिए यह Interface Provide कराता है। यहाँ हमने Operating System के कुछ बहुत ही महत्वपूर्ण कार्यों को बताया है।

1. Memory Management

Memory Computer का एक महत्वपूर्ण अंग होता है। इसमें निर्देशों व डेटा को Store किया जाता है। Memory में किसी प्रकार का डेटा या निर्देश को Store तथा Manage करना Operating System का कार्य होता है। Operating System के इन्हीं कार्य को Memory Management कहा जाता है। इसमें Computer के Primary Memory और Secondary Memory दोनो शामिल होते हैं।

2. Processor Management

Processor, जैसा कि नाम से ही पता चलता है कि इससे Computer के सारे Task को Process किया जाता है। यानी यह भी एक महत्वपूर्ण उपकरण होता है। Operating System के द्वारा Processor के Process और Manage करने जैसे कार्य Processor Management कहलाता है।

3. Device Management

Computer बहुत सारे Device से मिलकर बने होते हैं। Computer के इन सभी Device जैसे; कीबोर्ड, माउस, मॉनिटर इत्यादि को Manage करने की प्रक्रिया Device Management कहलाती है। Device Management कार्य भी Operating System का होता है। इसके अनुसार ही ये सभी Device Manage होते हैं।

4. File Management

Computer File में बहुत सारी Directories होती है। जिसे Manage करना जैसे; सूचना, लोकेशन आदि को संगठित करने, परिवर्तित करने तथा मिटाने जैसी कार्य करना File Management कहलाता है। जिसे Operating System करता है।

5. Security Management

Operating System एक महत्वपूर्ण कार्य हमारे Computer को सुरक्षित रखना भी होता है। यह Computer को Unauthorised Access से बचाने का कार्य करता है। अर्थात Computer के Security का कार्य Operating System करता है। जिसे Security Management कहते हैं।

6. System Management

Operating System Computer के पूरे System को Manage व नियंत्रित करता है। जैसे; System का Performance बताना, Error बताना आदि शामिल है। इसे System Management कहते हैं।

7. Interface Providing

Computer हमारे Language को नहीं समझता है और ना ही हम Computer के Language को आसानी से समझ पाते हैं। इसलिए Operating System हमारे द्वारा दिए गए निर्देश (जो कि हमारे भाषा में होता है) को Machine Language में बदल देता है। उसके बाद उस निर्देश के परिणाम (जो कि Machine Language में होता है) को हमारे Language में बदलकर हमें दिखा देता है या बता देता है। इस तरह Operating System Computer और User के बीच Interface की तरह कार्य करता है।

Operating System कैसे काम करता है? (Operating System Work in Hindi)

Operating System प्रोग्रामों का एक सेट है। इसलिए इसे Set of Program भी कह सकते हैं। जो अन्य Program को कार्य करने के लिए Computer के संसाधनों को प्रतिबंधित करता है। सर्वप्रथम जब Computer को On किया जाता है। तब Computer के Motherboard पर BIOS ROM चिप को ढूंढता है। Computer के BIOS चिप में कुछ महत्वपूर्ण निर्देश होता है। Computer On होते ही Start-Up Processing शुरू करता है। जिसके बाद BIOS चिप से महत्वपूर्ण निर्देश तथा प्रोग्रामिंग कोड लोड करता है। इसके बाद Power On Self Test किया जाता है। जिसके अंतर्गत Internal और External Devices को कार्यान्वित करता है।

Power On Self Test के दौरान किसी Error का पता लगने पर Error के बारे में बताता है और Error Code देता है। यह Error सामान्यतः Hardware Device जैसे Memory, Keyboard, Monitor, Mouse में कोई Problem आने पर होता है। जब किसी प्रकार का Error नहीं होता है। या फिर रहने पर उस Error को Solve कर लिया जाता है। Power On Self Test प्रक्रिया पूरा होता है। जब Power On Self Test सफलतापूर्वक सम्पन्न होता है। तब Booting की प्रक्रिया शुरू होती है। इसी प्रक्रिया के दौरान Computer में Operating System लोड होता है। इसके पहले तक Operating System Secondary Memory में होता है। लेकिन Booting प्रक्रिया के बाद यह Main Memory या RAM में लोड होता है।

इस प्रक्रिया के दौरान यह भी देखा जाता है कि Computer के सारे Components ठीक तरह से कार्य कर रहे हैं कि नहीं। जब यह सुनिश्चित हो जाता है। तब User को Computer संचालित करने के लिए Interface प्रदान किया जाता है। अब हम Computer पर कार्र कर सकते हैं। इसलिए अब हम Computer को निर्देश दे भी सकते हैं और परिणाम प्राप्त भी कर सकते हैं। लेकिन Computer Hardware सिर्फ Machine Language समझता है। हमारे Language को नहीं। तब यहाँ Operating System Hardware और Application Software के बीच जुड़कर User के लिए माध्यम का कार्य करता है। यह हमारे द्वारा दिए गए निर्देश को Machine Language में और Machine Language को हमारे Language में बदलकर माध्यम के रूप में कार्य करता है।

Operating System का प्रकार (Types of Operating System in Hindi)

अभी तक Operating System में भी बहुत विकास हुआ और बहुत सारे Operating System बनाए भी जा चुके हैं। आगे भी Operating System में विकास होता रहेगा और नये नये Operating System बनते रहेंगे। Operating System को भी कुछ भागों में बांटा जाता है। चलिए पढ़ते हैं Operating System के कितने और कौन-कौन से प्रकार होते हैं।

  1. Real Time Operating System
  2. Time Sharing Operating System
  3. Single Tasking Operating System
  4. Batch Processing Operating System
  5. Multi Programming Operating System
  6. Multi Processing Operating System
  7. Network Operating System
  8. Distributed Operating System

Operating System के मुख्य रूप से आठ प्रकार बांटते हैं। चलिए Operating System के प्रकार को विस्तार से जानते है।

1. Real Time Operating System

जैसा कि इसके नाम से ही पता चलता है कि Real Time Operating System का मुख्य उद्देश्य तीव्र Response Time उपलब्ध कराना होगा। इस Operating System का उपयोग वैज्ञानिक और औद्योगिक Devices में किया जाता है। इसमें User का हस्तक्षेप ज्यादा नहीं होता है। यह Operating System एक प्रोग्राम के परिणाम को दूसरे प्रोग्राम में Input के रूप में प्रयोग होता रहता है।

2. Time Sharing Operating System

Time Sharing Operating System में User को एक ही संसाधन को साझा करना होता है। यह User के आवश्यकताओं को संतुलित रखता है। इस Operating System में Memory का प्रबंधन जरूरी होता है। इसमें प्रत्येक प्रोग्राम के लिए CPU का बराबर समय दिया जाता है।

3. Single Tasking Operating System

Single Tasking Operating System में एक User को एक समय में एक ही कार्य करने की अनुमति होता है।

4. Batch Processing Operating System

Batch Processing Operating System का उपयोग समूह में किया जाता है। अर्थात Operating System जब सभी कार्यों को User के हस्तक्षेप के बिना समूह में कार्य करता है। तब ऐसे Operating System को Batch Processing Operating System कहा जाता है।

5. Multi Programming Operating System

Multi Programming Operating System में एक समय में एक से अधिक प्रोग्राम या कार्यों को किया जाता है। प्रत्येक प्रोग्राम या कार्य के लिए CPU का एक निश्चित समय देता है।

6. Multi Processing Operating System

Multi Processing Operating System में एक ही Computer System के लिए एक से अधिक CPU का इस्तेमाल किया जाता है।

7. Network Operating System

Networking Computer System (जैसे; Server) में उपयोग होने वाले Operating System को Network Operating System कहा जाता है। Network Operating System इन Computer System को Clients का डेटा, Security, Application और अन्य Networking Function को Manage करने की क्षमता देता है।

8. Distributed Operating System

जब कई सारे Computers किसी Network से जुड़ते हैं। तब ये एक दुसरे से Tasking शेयर करता है। इसी तरह के Operating System Distributed Operating System होता है।

Operating System के विशेषताए (Features of Operating System in Hindi)

Operating System भी एक Software ही होता है। लेकिन यह Computer के लिए सबसे महत्वपूर्ण होता है। इसलिए यहाँ हमने Software की विशेषता बताया है।

  1. आजकल GUI Supported Operating System आते हैं। जिसके कारण Computer संचालित करने में आसानी होती है।
  2. Operating System Processor को बताता है कि किस कार्य या निर्देश को पहले Process करना है और किसे बाद में।
  3. Operating System Primary Memory को Track करता रहता है। जैसे; Memory का इस्तेमाल कहाँ और कितना हो रहा है।
  4. Operating System Computer के सभी Devices का Track रखता है और बताता है किसे क्या करना है।
  5. Operating System सभी Software और Hardware को आपस में जोड़ने के लिए Bridge का कार्य करता है।
  6. Operating System Computer को Unauthorised Access और Virus से सुरक्षित रखता है।
  7. Operating System Computer के सभी कार्यों का Record रखता है।
  8. Operating System Computer System में होने वाली Errors को Detect करता है और उसे Fix करता है।

Operating System का उदाहरण (Example of Operating System in Hindi)

ऊपर आपने जाना की Operating System क्या है, Operating System की परिभाषा और Operating System का Function जाना है। लेकिन यहाँ हम आपको Operating System का कुछ उदाहरण बताने वाला हूँ। इन Operating System का इस्तेमाल Computer में सबसे अधिक होता है। चलिए Operating System का नाम जानते हैं।

  1. Unix
  2. Linux
  3. Ubuntu
  4. Microsoft Windows
  5. Microsoft Dos
  6. Mac OS
  7. Android
  8. iOS
  9. Kali Linux
  10. Fedora

आपके जानकारी के लिए बताता चलें कि Computer में सबसे ज्यादा उपयोग Microsoft Windows तथा Smartphone में Android Operating System का उपयोग सबसे ज्यादा किया जाता है।

इसे भी पढ़ें:-

Conclusion – What is OS in Hindi

इस लेख में हमने Operating System की पूरी जानकारी बता दिया है। जिसे अगर आप पढ़ते हैं। तब आपको निम्न जानकारी प्राप्त होगी। जैसे; Operating System क्या है, Operating System के प्रकार, Operating System की परिभाषा, Operating System का कार्य, Operating System कैसे काम करता है, Operating System के विशेषता, Operating System का उदाहरण या Operating System का नाम क्या है।

हम उम्मीद करते हैं कि हमारे द्वारा बताया गया Operating System का जानकारी आपको पसंद आया होगा। अगर आपको Operating System से संबंधित समझने में कोई समस्या है या फिर आप हमसे कुछ पूछना चाहते हैं। तब कमेंट के माध्यम से आप पूछ सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to top
Exit mobile version