e Passport क्या है?इससे मिलने वाले लाभ क्या है?

e Passport का पुरा नाम इलेक्ट्रॉनिक पासपोर्ट है। इसे Biomatrical Passport या Digital Passport के तौर पर भी जाना जाता है। e Passport के बारे में जानने से पहले जानते हैं की आखिर Passport क्या होता है।

Passport क्या है?

पासपोर्ट किसी राष्ट्रीय सरकार द्वारा जारी वह दस्तावेज होता है जो अंतर्राष्ट्रीय यात्रा के लिए उसके धारक की पहचान और राष्ट्रियता को प्रमाणित करता है। पहचान स्थापित करने के लिए नाम, जन्म तिथि, लिंग और जन्म स्थान के विवरण इसमे प्रस्तुत किये जाते हैं। आमतौर पर एक व्यक्ति की राष्ट्रीयता और नागरिकता समान होती हैं।
भारतीय पारपत्र (Indian Passport) भारत के राष्ट्रपति के आदेश से भारतीय नागरिको को जारी किया गया पारपत्र है। यह पारपत्र 1967 के पारपत्र अधिनियम के अनुसार भारतीय नागरिकता का प्रमाण है। इसका धारक विदेशों की यात्रा करने के लिये इसका उपयोग कर सकता है।
जैसा की मैने पहले ही बताया है की पासपोर्ट का उपयोग विदेशों की यात्रा और लोगो की पहचान करने के लिए उपयोग कर सकते हैं। लेकिन लोगो ने जाली पासपोर्ट बनाना शुरु कर दिया या दुसरे का पासपोर्ट का उपयोग कर के विदेशों की यात्रा करने लगे जो की गलत है। इसे रोकने के लिए पासपोर्ट को कंम्प्युटरीकृत किया गया और पासपोर्ट को e Passport मे बदल दिया गया। तो जानते हैं e Passport के बारे में।

e Passport क्या है।

ई-पासपोर्ट (जिसे बायोमेट्रिक पासपोर्ट या डिजिटल पासपोर्ट के रूप में भी जाना जाता है ) एक पारंपरिक पासपोर्ट है जिसमें एक एम्बेडेड इलेक्ट्रॉनिक माइक्रोप्रोसेसर चिप होती है जिसमें बायोमेट्रिक जानकारी होती है। जिसका उपयोग पासपोर्ट धारक की पहचान को प्रमाणित करने के लिए किया जा सकता है। यह संपर्क रहित स्मार्ट कार्ड प्रौद्योगिकी का उपयोग करता है , जिसमें एक माइक्रोप्रोसेसर चिप और ऐन्टेना पासपोर्ट के सामने या पीछे के कवर या केंद्र पृष्ठ में शामिल है। पासपोर्ट की महत्वपूर्ण जानकारी दोनों ही पासपोर्ट के डेटा पेज पर छपी होती है और चिप में संग्रहित होती है।
इसमें मोबाइल की तरह एक चिप लगी होगी। इस चिप में पासपोर्ट होल्डर का डिजिटल सिग्नेचर डाटा, नाम, नागरिकता, पासपोर्ट नंबर आदि दर्ज होंगे। इससे पासपोर्ट को प्रमाणित करने में मदद मिलेगी। सरकार पासपोर्ट में सिक्योरिटी फीचर बढ़ाने को लेकर काम कर रही है।
कुछ देशो में पहले से ही इ पासपोर्ट की शुरुआत हो चुकी है। अब भारत में भी जल्द ही ई-पासपोर्ट की शुरूआत हो जाएगी. जिसके बाद भारतीय पासपोर्ट धारक बहुत ही जल्द अपनी विदेश यात्राओं पर इन पासपोर्ट का इस्तेमाल कर पाएंगे. ई-पासपोर्ट पूर्ण रूप से भारत में बने सॉफ्टवेयर से निर्मित होगा, जिसे आईआईटी कानपुर और राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्रने विकसित किया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को प्रवासी भारतीय दिवस पर ई-पासपोर्ट का ज़िक्र किया. उन्होंने कहा कि बहुत ही जल्द भारत में ई-पासपोर्ट की शुरूआत हो जाएगी.

e Passport के कुछ प्रमुख फीचर।

1. नए पासपोर्ट के सामने और पीछे के कवर मोटे हो सकते हैं.
2. ऑफिसियल्स के मुताबिक बैक कवर में छोटा सा सिलिकॉन चिप हो सकता है.
3. यह चिप पोस्टेज स्टांप से भी छोटा होगा और इसमें एक आयताकार एंटीना लगा होगा.
4. सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए किसी भी कॉमर्शियल एजेंसी को इसमें इंवॉल्व नहीं किया गया है.
5. चिप में 64 किलोबाइट्स की मेमोरी स्पेस होगी.
6. चिप में पासपोर्टधारक का फोटोग्राफ और फिंगरप्रिंट्स स्टोर होगा.
7. चिप में 30 विजिट्स और अंतरराष्ट्रीय यात्राओं की जानकारी स्टोर करने की क्षमता होगी.

e Passport के आने से क्या फायदा होगा?

1. फेक पासपोर्ट के मामलों में लगाम लगाई जा सकेगी।
2. इससे पासपोर्ट का गलत इस्तेमाल नहीं हो पाएगा।
3. इससे ट्रैवलर की नागरिकता आसानी से वेरिफाई हो जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to top
error: Content is protected !!