Computer क्या है? इसकी परिभाषा, परिचय, प्रकार, अर्थ और कार्य

Computer से आप क्या समझते हैं। क्या आप जानते हैं कि Computer क्या है इसकी उपयोगिता एवं विशेषताएँ बताइए गए हैं। अगर आपको Computer के बारे में जानकारी नहीं है। तब इस लेख को जरूर पढ़िए लेख में Computer की पूरी जानकारी बताया गया है। जिसमें हमने बताया कि Computer क्या होता है, Computer का Full Form, Computer की परिभाषा, Computer कैसे काम करता है, Computer कितने प्रकार के होते हैं, Computer का प्रमुख कार्य, Computer का इतिहास, Computer की विशेषता और Computer का उपयोग कहाँ-कहाँ होता है। अगर आप Computer के क्षेत्र में अपना Career बनाना चाहते हैं। तब तो आपको Computer की पूरी जानकारी होनी ही चाहिए। लेकिन अगर आप अपना Career Computer के क्षेत्र में बनाना नहीं चाहते हैं।

तब भी आपको Computer की जानकारी होनी चाहिए। क्योंकि आज Computer का उपयोग हर जगह और हर क्षेत्रों में किया जा रहा है। ऐसा कोई कार्य नहीं होगा। जिसमें Computer का प्रयोग नहीं किया जाता हो। ऐसे में अगर आप Computer से Connected रहेंगे या फिर Computer को जानते रहेंगे। तब आपको किसी भी कार्य को करने में आसानी होगी। क्योंकि Computer की एक खास विशेषता है कि यह किसी भी कार्य को जल्दी और आसानीपूर्वक करता है। उदाहरण के लिए जो Mathematical Question आपको Solve करने में घंटो लगते हैं। Computer उस Question को भी बहुत ही कम समय (Seconds) में Calculate कर सकता है।

इसलिए अगर आप अपने कार्य में Computer का उपयोग करते हैं। तब आप उस कार्य को मनुष्य के द्वारा करने के तुलना में जल्दी कर पायेंगे। शायद इसीलिए Computer को सभी जगह उपयोग किया जा रहा है। आज भारत में भी Computer का उपयोग पिछले कुछ सालों के मुकाबले ज्यादा हो गया है और यह आंकड़ा दिन-प्रतिदिन बढ़ता ही जाएगा। India में Computer के Popular होने का एक महत्वपूर्ण कारण सारे कार्यों को कंप्यूटरीकृत करना भी है। आज लगभग सभी कार्यों को घर बैठे Computer के द्वारा किया जा सकता है। अब तो किसी भी प्रकार के Job के लिए भी Computer का जानकार होना जरूरी हो गया है। अगर आप किसी कंपनी या सरकारी नौकरी के लिए अप्लाई करते हैं। तब इसमें आपके Computer Skills को बताना और Computer Certificate देना पड़ता है।

ऐसा करने से Job मिलने की संभावना अधिक होती है। इसलिए अगर आप एक छात्र या छात्रा हैं। तब तो अनिवार्य रुप से Computer सीख लेना चाहिए। इससे आपको Career बनाने में मदद मिल जाती है। इसके अलावा आज लगभग सभी दैनिक कार्य कंप्यूटरीकृत हो रहा है। जैसे; शॉपिंग करना, रिजल्ट देखना, रिचार्ज करना, पढ़ाई, संचार और मनोरंजन जैसे बहुत से कार्य आज घर बैठे किया जा सकता है। यह सब Computer के द्वारा ही संभव हो पाया है। ऐसे में अगर आपको भी Computer की जानकारी होगी। तब आप भी इन सुविधाओं का लाभ ले सकते हैं। लेकिन क्या आपको पता है कि Computer क्या है और यह किस तरह काम करता है। अगर आपको ये सभी जानकारी पता नहीं है। तब इस लेख को अंत तक जरूर पढ़ें। इस लेख में Computer की पूरी जानकारी शेयर किया गया है। चलिए सबसे पहले जानते हैं कि Computer क्या है।

Computer क्या है? (What is Computer in Hindi)

Computer एक इलेक्ट्रॉनिक मशीन है। जो बहुत सारे इलेक्ट्रॉनिक उपकरण से मिलकर बना है। यह तीव्र गति से कार्य करता है और कोई गलती भी नहीं करता है। इसे काम करने लायक बनाने के लिए पहले प्रोग्राम किया जाता है। यानी Computer सिर्फ वही कार्य कर सकता है। जो इसके प्रोग्राम में दिया गया हो। इसके अलावा यह कोई कार्य नहीं कर सकता है। जिसके कारण इसकी क्षमता सीमित होती है। साधारण भाषा में कहें तो Computer एक मनुष्य की तरह ही कार्य करता है। इसके पास भी दिमाग होता है। लेकिन मनुष्य गलती कर सकता है। वहीं Computer कोई गलती नहीं करता है। इसके अलावा Computer की स्मरण शक्ति भी मनुष्य की तुलना में उच्च होती है।

Computer बहुत सारे जानकारी को संचित और सूचनाओं को Process कर सकता है। यह एक इलेक्ट्रॉनिक और स्वचालित यंत्र है। जो Data को ग्रहण करता है और उस Data को सॉफ्टवेयर या प्रोग्राम के अनुसार परिणाम (Result) के लिए Process करता है। जिसमें इनपुट उपकरणों के द्वारा प्राप्त निर्देशों के आधार पर परिणाम निष्पादित करता है। इस परिणाम को आउटपुट उपकरण द्वारा दिखाया या प्रदान किया जाता है। निर्देश कई प्रकार के Data का सम्मिलित रुप होता है। जैसे; संख्या, वर्णमाला, आंकड़े इत्यादि। Computer इन सभी Data और परिणाम को भविष्य में इस्तेमाल करने के लिए सुरक्षित भी रखता है।

Charles Babbage को Modern Computer के जनक के रुप में जाना जाता है। क्योंकि यही वो व्यक्ति थे। जिन्होंने सबसे पहले Mechanical Computer को बनाया था। जिसे Analytical Engine के नाम से जानते हैं। इस Computer में निर्देश देने के लिए Punch Card का इस्तेमाल करता था। किंतु आज के Computer बहुत Advance हो चुके हैं। इसमें निर्देश देने और परिणाम प्राप्त करने के लिए इलेक्ट्रॉनिक उपकरण का उपयोग होता है। जिसे Input Device और Output Device कहा जाता है। आज के Modern Computer का इस्तेमाल बहुत सारे कार्यों को आसानी से करने के लिए किया जाता है। ये Computer जटिल से जटिल गणितीय प्रश्नों को एक सेकंड से भी कम समय में Solve कर सकता है।

Computer हमारे द्वारा दिए गए निर्देश को सबसे पहले समझता है। इसे Processing कह सकते है। इसके बाद निर्देश के अनुसार परिणाम प्राप्त होता है। लेकिन एक Computer हमारे द्वारा दिए गए निर्देश को सीधे तौर पर नहीं समझता है। क्योंकि Computer को हमारी भाषा समझ नहीं आती है। इसे सिर्फ 0 और 1 की भाषा समझ आती है। जिसे मशीनी भाषा या बाइनरी भाषा कहते हैं। इसलिए प्रोग्रामिंग लैंग्वेज और ट्रांसलेटर को बनाया गया। जो हमारी भाषा को Computer की भाषा में बदल सके। Computer कैसे काम करता है। इसकी जानकारी नीचे विस्तार से बताया गया है।

Computer की परिभाषा (Computer Definition in Hindi)

Computer प्रोग्राम किया एक Electronic Machine है। यानी यह कुछ तय निर्देशों के आधार पर कार्य करता है। यह अपने कुछ उपकरणों की मदद से Computer User से आंकड़ा प्राप्त करता हैं। जिसे Process कर अपने कुछ उपकरण की सहायता से उस आंकड़ा को सुचना के रुप में प्रदान करता है। यह Arithmetic (अंकगणितिय) और Logical (तार्किक) गणना को Automatically करने में सक्षम होता है। इनके अलावा यह सूचनाओं को संचित, उसे ढूंढ, व्यवस्थित कर सकता है और अन्य मशीनों पर नियंत्रण भी कर सकता है।

Computer की परिभाषा से यह साफ होता है कि Computer बहुत सारे उपकरण से मिलकर बना है। जिसमें कुछ उपकरण का कार्य Computer User से Input लेना और Process करना, कुछ उपकरण का कार्य Computer User को Results के रुप में Output देना होता है। इसमें सूचनाओं को संचित करने के लिए भी कुछ उपकरण होते हैं। Computer के सभी उपकरण (Computer Parts) को नीचे विस्तार से बताया गया है।

Computer का पूरा नाम (Computer Full Form in Hindi)

Computer एक अंग्रेजी शब्द है। इसे हिंदी में संगणक कहा जाता है। यह अभिकलक यंत्र (Programmable Machine) भी है। इसलिए इसका अन्य नाम अभिकलित्र भी हैं। ये तो रहा Computer का हिंदी नाम। लेकिन क्या आपको पता है कि Computer का पूरा नाम क्या होता है। यानी Computer का Full Form क्या है?

अगर बात Computer के Full Form की करें। तब Computer अंग्रेजी के आठ अक्षरों से मिलकर बना है। प्रत्येक अक्षर के अर्थ को देखा जाए। तब Computer के उपयोग, विशेषता और कार्य आदि को समझ सकते हैं। वैसे भी ये सभी जानकारी नीचे विस्तार से बताया गया है।

  • C- Commonly
  • O- Operated
  • M- Machine
  • P- Particularly
  • U- Used for
  • T- Technical
  • E- Education and
  • R- Research

Computer का अर्थ (Computer Meaning in Hindi)

Computer क्या है ये तो आप जान ही गए होंगे। लेकिन क्या आप जानते हैं कि Computer का क्या अर्थ होता है। वैसे तो Computer एक स्वचालित इलेक्ट्रॉनिक उपकरण है। लेकिन इसका उपयोग बहुत सारे कार्यों के लिए किया जाता है। जिसके कारण सभी लोग इसके अर्थ को अलग अलग बता सकते हैं। जैसे; जो व्यक्ति Computer से गणना करता है। वह इसका अर्थ एक गणक यंत्र के रुप में बताएगा। वहीं इसका उपयोग जानकारी को Store करने वाला व्यक्ति इसका अर्थ भंडारण यंत्र के रुप में बताएगा। इसी प्रकार लेखक या टाइपिस्ट से पूछने पर टाइप मशीन बताएगा। गेम खेलने वाले बालक गेमिंग मशीन बताएगा। ऑफिस में काम करने वाले व्यक्ति ऑफिस के काम जल्दी निपटाने वाला यंत्र बताएगा।

यानी Computer को किसी एक अर्थ से प्रस्तुत नहीं किया जा सकता है। लेकिन यहाँ हम इसके नाम से अर्थ निकालने की कोशिश करेंगे। Computer का Full Form “Commonly Operated Machine Particularly Used in Technical and Educational Research” होता है। जिसका हिंदी अर्थ “तकनीकी और शैक्षिक अनुसंधान में विशेष रूप से उपयोग की जाने वाली सामान्य रूप से संचालित मशीन” है। इसे गणक यंत्र, परिकलक या संगणक भी कहते हैं। इस नाम के आधार पर इसका अर्थ गणना करने वाला यंत्र होता है। Computer शब्द को लैटिन भाषा के Computare शब्द से आया है। जिसका अर्थ गणना करना ही होता है। इसीलिए Computer को परिकलक और संगणक आदि कहा जाता है।

Computer का परिचय (Computer Introduction in Hindi)

Computer का चित्र

बहुत सारे लोग Computer को नहीं जानते होंगे। इसलिए यहाँ हम आपको Computer से परिचय करवाएंगे। ऐसे बहुत सारे लोग भी होंगे। जिन्होंने Computer का नाम तो सुना होगा। Computer क्या है ये भी जानते होंगे। लेकिन Really में Computer को नहीं देखें होंगे। ऐसे ही लोग गूगल पर Computer का चित्र खोजते रहते हैं। इसलिए ऊपर हमने Computer का चित्र दिखाया है। जिसे आप देखकर समझ सकते हैं कि एक Computer कैसा होता है। हालांकि Computer के प्रकार के अनुसार Computer का आकार और बनावट भी बदल जाता है। लेकिन यहाँ हमने मुल Computer जिसे Desctop कहते हैं को बताया है। इसमें एक मॉनिटर, सीपीयू, कीबोर्ड और माउस दिखता हैं। ये सभी अलग अलग होते हैं। इसे तार (Wire) के द्वारा एक दुसरे से जोड़ा जाता है।

Computer दो भाग सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर से मिलकर बना एक इलेक्ट्रॉनिक उपकरण होता है। Computer के जिस भाग को देख और छू सकते हैं। उसे हार्डवेयर कहते हैं। Computer के जिस भाग को देख या छू नहीं सकते हैं। उसे सॉफ्टवेयर कहते हैं। सॉफ्टवेयर निर्देशों का समूह या प्रोग्राम होते हैं। जो Computer के Storage Device में Stored होते हैं। इनका कार्य हार्डवेयर को मैनेज करना और हार्डवेयर को बताना हैं कि करना क्या है। Computer के हार्डवेयर भी बहुत सारे उपकरण से मिलकर बना होता है।

Computer के हार्डवेयर भाग (Parts) Computer के प्रकार पर भी निर्भर कर सकते हैं। लेकिन आमतौर पर Computer में एक कीबोर्ड, माउस, मॉनिटर, मदरबोर्ड, सीपीयू, रैम और रॉम आदि उपकरण होता है। Computer के सभी भाग (Computer all Parts) को मुख्य रुप से चार भागों में बांट दिया जाता है। जो कि निम्नलिखित है-

  1. Input Device
  2. Output Device
  3. Storage Device
  4. Processing Device

चलिए इन सभी को विस्तार से जानते हैं कि कौन से भाग में Computer हार्डवेयर का कौन सा उपकरण आता है।

1. Input Device

Computer User द्वारा Computer को निर्देश देने के लिए Computer के जिस उपकरण (Device) का इस्तेमाल किया जाता है। वो सभी उपकरण Input Device कहलाते हैं। जैसे; कीबोर्ड, माउस, माइक्रोफोन आदि।

2. Output Device

Computer User को Computer द्वारा परिणाम (Results) दिखाने या बताने के लिए Computer के जिस Device का इस्तेमाल किया जाता है। उसे Output Device कहते हैं। जैसे; मॉनिटर, स्पीकर, प्रिंटर आदि।

3. Storage Device

Computer का वह Device जो निर्देशों, सूचनाओं तथा आंकड़ो को स्टोर करता है। उसे Storage Device कहते हैं। Storage Device को सामान्य भाषा में मेमोरी के नाम से जाना जाता है। जैसे; Hard Disk Drive, DVD Drive आदि।

4. Processing Device

Computer User द्वारा Computer को दिए गए निर्देश का परिणाम तय करने के लिए Computer के जिस Device का उपयोग करता है। उसे Processing Device कहते हैं और इस क्रिया को Processing कहते हैं। Processing Device के अंतर्गत निम्न Device आते हैं। जैसे; सीपीयू, प्रोसेसर आदि।

Computer कैसे काम करता है? (How does works Computer in Hindi)

Computer क्या है ये तो आप लोग जान गये होंगे। Computer से परिचित भी हो गये होंगे। चलिए अब इसके कार्य पद्धति को समझते हैं। Computer हमारे द्वारा दिए गए निर्देश (Instructions) को समझ नहीं सकता है। क्योंकि हम Computer को हमारे Language (जैसे; हिंदी, अंग्रेज़ी, तेलुगु आदि) में निर्देश देते हैं। लेकिन Computer हमारे Language को नहीं समझता है। Computer एक मशीन है। इसलिए इसे सिर्फ Machine Language ही आती है। जो कि 0 और 1 के रुप में होता है। प्रत्येक इलेक्ट्रॉनिक उपकरण 0 और 1 के रुप में ही कार्य करता है। जिसे Binary Digits कहते हैं। इसे ही आप मशीनों का मातृभाषा या Computer का प्राकृतिक भाषा कह सकते है। जिसमे 0 का मतलब Off यानी बंद और 1 का मतलब On यानी चालू से है। जिसे Binary Language भी कहते हैं। इस Language के अलावा Computer को कोई और Language नहीं आता है।

इसी Language के आधार पर Computer कार्य करता है। Computer में सभी कार्य Binary Digits के रुप में ही होता है। अगर आप Computer पर कुछ देख रहे हैं। जैसे; विडियो, इमेज आदि। तब ये भी Computer में Binary Digits के रुप में मौजूद है। लेकिन आप उसे किसी उपकरण की सहायता से अपने Language में देख और समझ सकते हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि उसे उस तरह से Program किया गया होता है। इसी प्रकार जो निर्देश हम Computer को Input Device की सहायता देते हैं। वो भी Computer में Binary Digits के रुप में जाता है। ये सभी कार्य Translator का होता है। जो हमारे Language को मशीनरी भाषा बदल देता है। हालांकि Computer को सीधे Binary Language के द्वारा निर्देश दिया जा सकता है।

लेकिन यह कार्य एक बहुत कठिन है। क्योंकि इसे सीखना, इसमें प्रोग्राम लिखना, परीक्षण करना और डिबगिंग करना कठिन और त्रुटिपूर्ण कार्य है। इसलिए समय के साथ बहुत सारी कृत्रिम Computer Language का अविष्कार हुआ। आज High Level Computer Language भी बन चुका है। जिसकी सहायता से Computer को निर्देश देना आसान होता है। क्योंकि यह Language आम English Word के समान होता है। Computer को कार्य करने के लिए Software की आवश्यकता होती है। जो कि Computer Language से ही बनाया जाता है। Computer को कार्य करने के लिए क्रमशः Input Device, Storage Device, Processing Device और अंत में Output Device की आवश्यकता होती है। Input Device से निर्देश प्राप्त करता है, Storage Device से निर्देश को Store करता है, Processing Device से निर्देश को Process करता है और अंत में Output Device से निर्देश का परिणाम Provide कराता है।

Computer को संचालित कैसे करते हैं? (How to Operate Computer in Hindi)

सबसे पहले Computer को कार्य करने लायक बनाने के लिए Computer प्रोग्राम में निर्देश दिया जाता है। इसी निर्देश के आधार पर Computer कार्य करता है। Computer प्रोग्राम में निर्देश देने के लिए खास भाषा का उपयोग किया जाता है। जिसे कंप्यूटर भाषा (Computer Language) कहा जाता है। इसे प्रोग्रामिंग लैंग्वेज भी कहते हैं। इसके बाद Computer कार्य करने लायक बनता है। अब इस Computer को एक सामान्य व्यक्ति भी संचालित कर सकता है। Computer को संचालित करने के लिए तीन प्रक्रिया (Three Process) से गुजरना होता है। पहला Input, दूसरा Processing और अंत में Output होता है। चलिए तीनों Steps को विस्तार से जानते हैं।

1. Input

यह Computer संचालित करने की पहली प्रक्रिया है। पहली प्रक्रिया में Computer को निर्देश देना होता है। जिसे Input कहते हैं। आप Computer को Input के रुप में किसी भी प्रकार का आंकड़ा दे सकते हैं। लेकिन एक बात का ध्यान रखें कि आप जो आंकड़ा देंगे। Computer उसी के लिए कार्य करेगा। Computer को Input देने के लिए Input Device का उपयोग किया जाता है। जैसे; कीबोर्ड, माउस, माइक्रोफोन आदि।

2. Processing

Computer संचालित करने का यह दूसरा प्रक्रिया होता है। इस प्रक्रिया में Computer निर्देश का परिणाम प्राप्त करने के लिए Process करता है। जिसे Processing कहते हैं। यानी Processing में आपको कुछ भी नहीं करना होता है। यह कार्य Computer के CPU का होता है। यही वह उपकरण होता है। जो प्रत्येक निर्देश का परिणाम तय करता है।

3. Output

Computer संचालित करने का यह अंतिम प्रक्रिया है। इस प्रक्रिया में निर्देश को Process कर के परिणाम दिखाया या बताया जाता है। जिसे Output कहते हैं। Computer प्रत्येक निर्देश का Output, Output Device के द्वारा दिखाता या बताता है। जैसे; मॉनिटर, स्पीकर, प्रिंटर आदि।

एक उदाहरण से इसके प्रक्रिया को समझने की कोशिश करते हैं। जैसे; आप Computer को On करना चाहते हैं। तब सबसे पहले Computer On करने वाले बटन को दबाना होता है। जब आप Computer On करने वाली बटन को दबाते हैं। तब यह Computer को Input के रुप में प्राप्त होता है। Computer इस Input को CPU से Process कर के Output (परिणाम) के रुप में Computer On कर के दे देता है।


Computer के प्रकार (Types of Computer in Hindi)

वैसे देखा जाए तो बहुत सारे और बहुत तरह के Computer बन चुके हैं। बहुत तरह के कहने से मेरा तात्पर्य Computer के प्रकार से है। जैसे आज आपलोग जिस Smartwatch का उपयोग करते हैं। वो भी एक Computer है। Smartphone भी एक Computer है। Server भी एक Computer ही है। जहाँ वेबसाइट को Store किया जाता है। इसी तरह Computer बहुत तरह के हैं। इसलिए इसके प्रकार को इसके कार्य, आकार और उद्देश्य के आधार पर बांटा जाता है।

अनुप्रयोग के आधार पर Computer के प्रकार

अनुप्रयोग के आधार पर Computer को तीन प्रकार में विभाजित किया जाता है। जो निम्नलिखित है-

  1. Analog Computer
  2. Digital Computer
  3. Hybrid Computer

1. Analog Computer क्या है? (What is Analog Computer in Hindi)

वे Computer जो भौतिक मात्राओं की गणना करती है Analog Computer कहलाती है। Analog Computer तापमान, दाब, ऊँचाई, लम्बाई, इत्यादि को मापकर उनके परिमाप को अंको में व्यक्त करता है। जैसे:- थर्मामीटर

एनालॉग Computer को मुख्य रूप से विज्ञान और प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में प्रयोग किया जाता है। क्योंकि विज्ञान और प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में भौतिक मात्राओं का मापन अधिक होता है।

2. Digital Computer क्या है? (What is Digital Computer in Hindi)

वे Computer जो अंको की गणना करता है Digital Computer कहलाता है। Digital Computer बाइनरी नंबर सिस्टम के आधार पर कार्य करता है। बाइनरी नंबर दो अंक 0 और 1 को कहते हैं। आज डिजिटल Computer काफी पोपुलर भी है। इसका उपयोग मुख्य रूप से शिक्षा, मनोरंजन, बैंकिंग, व्यापार इत्यादि में होता है।

3. Hybrid Computer क्या है? (What is Hybrid Computer in Hindi)

जिनमें Analog Computer और Digital Computer दोनो के गुण होते हैं ऐसे Computer को Hybrid Computer कहते हैं। Hybrid Computer अधिक गुणधर्मों वाले होते हैं। इसका मुख्य रूप से चिकित्सा के क्षेत्र में उपयोग किया जाता है। किसी का रक्तचाप, धड़कन आदि मापने के लिए Hybrid Computer का इस्तेमाल किया जाता है।

आकार के आधार पर Computer के प्रकार

आकार के आधार पर Computer को मुख्य रुप से चार प्रकार में बांट सकते हैं।

  1. Micro Computer
  2. Mini Computer
  3. Mainframe Computer
  4. Super Computer

1. Micro Computer क्या है? (What is Micro Computer in Hindi)

Micro Computer में Micro Processor का प्रयोग किया जाता है इसलिए इस Computer को Micro Computer कहते हैं। सामान्यतः यह दुसरे Computer के तुलना में छोटा होता है। जिस कारण से इसे Study Table या Briefcase में रख सकते हैं।

इस Computer की कार्य करने की क्षमता बड़े Computer के समान होती है। किन्तु इस Computer का आकार उनकी तुलना में छोटा होता है। इस Computer का एक बार में एक ही व्यक्ति उपयोग कर सकता है। Micro Computer को Personal Computer (PC) कहते हैं तथा यह Computer पाँच प्रकार के होता है। जो निम्न है-

  • Desktop Computer
  • Laptop Computer
  • Pamtop Computer
  • Notebook Computer
  • Tablet Computer

2. Mini Computer क्या है? (What is Mini Computer in Hindi)

Mini Computer Multiprocessing और Multiuser Computer है। यह मध्य आकर के होते हैं। Mini Computer Micro Computer से कुछ बड़ा, अधिक गति तथा अधिक Memory वाले होते हैं। इन Computer में एक से अधिक सीपीयू (CPU) भी हो सकते हैं। ये Computer Micro Computer से अधिक महंगे भी होते हैं। इन Computer को Server Computer के लिए प्रयोग किया जाता है।

3. Mainframe Computer क्या है? (What is Mainframe in Hindi)

Mainframe Computer Mini Computer से भी अधिक क्षमता व गति वाले Computer हैं। ये Computer आकार में भी बहुत बड़े होते हैं। इन Computer को Server Computer के लिए प्रयोग किया जाता है। इन Computer में Micro Computer का उपयोग Client के तौर पर किया जाता है।

4. Super Computer क्या है? (What is Super Computer in Hindi)

यह एक विशेष प्रकार के Computer होते हैं। इनका प्रयोग विशेष कार्य के लिए होता है। Super Computer दुनिया के सबसे तेज और बड़े Computer होते हैं। Super Computer सबसे महंगे होते हैं तथा भारत के प्रथम Super Computer परम है।

उद्देश्य के आधार पर Computer के प्रकार

उद्देश्य के आधार पर Computer को दो प्रकार में बांटते हैं। सामान्य उद्देश्य और विशिष्ट उद्देश्य

1. सामान्य उद्देश्य कंप्यूटर क्या है? (What is General Purpose Computer in Hindi)

सामान्य उद्देश्य कंप्यूटर के द्वारा सामान्य कार्य किए जाते हैं। इस कंप्यूटर का उपयोग सामान्यतः दुकानों व घरों में किया जाता है। जैसे:- पत्र तैयार करना, दस्तावेज प्रिंट करना आदि।

2. विशिष्ट उद्देश्य कंप्यूटर क्या है? (What is Special Purpose Computer in Hindi)

विशिष्ट उद्देश्य कंप्यूटर के द्वारा विशेष कार्य किया जाता है। सामान्यतः इसका उपयोग मौसम विज्ञान, कृषि विज्ञान, युद्ध व अंतरिक्ष इत्यादि कार्य के लिए किया जाता है।


Computer की विशेषताएं (Features of Computer in Hindi)

आज Computer बहुत अधिक Popular हो गया है। Computer के इतना Popular होने का मुख्य कारण इसकी विशेषता है। तो चलिए जानते हैं इसके कुछ महत्वपूर्ण विशेषताएं को।

1. गति (Speed)

Computer एक स्वचालित है। जो बहुत Fast कार्य करता है। एक मनुष्य जिस जटिल Calculations को करने में घंटो लगाता है। उसे Computer एक से दो सेकंड में Solve कर देगा। Computer की Speed को MIPS (Million of Instructions Per Seconds) मे मापते हैं। इसकी Speed आप इसी बात से लगा सकते हैं कि Computer प्रत्येक सेकंड लाखो गणनाओं या Instructions को Execute करने की क्षमता रखता है।

2. सटीकता (Accuracy)

अगर आपसे Computer की दो विशेषता है। तब आप Computer की दूसरी विशेषता Accuracy बता सकते हैं। क्योंकि Accuracy Computer की महत्वपूर्ण विशेषता है। Computer द्वारा की गई प्रत्येक गणना 100 प्रतिशत Correct होती है। जहाँ मनुष्य से कुछ ना कुछ गलतियाँ होती रहती है। वहीं Computer कोई गलती नहीं करता है।

3. स्वचालित (Automation)

जैसा कि आप जानते हैं Computer एक स्वचालित मशीन है। जो स्वचालित रूप से कार्य करता है। Users का कार्य सिर्फ Computer को Input देना होता है। जिसके बाद Computer खुद Process कर के Output दे देता है।

4. भंडारण क्षमता (Storage Capacity)

Computer में उच्च भंडारण की सुविधा होती है। जिसमें Data सुरक्षित रखने की Capability होती है। इस कारण Computer में विभिन्न प्रकार के Files को भविष्य के लिए सुरक्षित रख सकते हैं। सामान्यतः Computer में डेटा भंडारण के लिए SSD और HDD का उपयोग होता है। Computer की भंडारण क्षमता को Kilobytes (KB), Megabytes (MB), Gigabytes (GB) और Terabytes (TB) में मापते हैं।

5. गोपनीयता (Secrecy)

Computer में Data को आप सुरक्षित तो रख सकते हैं। लेकिन अगर आप अपने Data को गोपनीय रखना चाहते हैं। ताकि आपके Computer में संग्रहित डेटा को कोई देख ना सके और ना ही उसमें बदलाव कर सके। यानी डेटा में छेड़छाड़ को रोकने के लिए Computer डेटा गुप्त या छुपाने में मदद करता है। Computer में Data को गोपनीय रखने के लिए Data में Password Protection का इस्तेमाल कर सकते हैं। साथ ही Antvirus का उपयोग करे। यह आपके डेटा को Computer Virus से सुरक्षित रखने में मदद करेगा।

6. विश्वसनीयता (Reliability)

Computer एक विश्वसनीय मशीन है। जिस पर विश्वास किया जा सकता है। यही कारण है कि इसका उपयोग सभी जगह हो रहा है। क्योंकि लोगों को इस पर विश्वास है। यह विश्वास के लायक इसलिए है कि इसका इस्तेमाल बिना किसी त्रुटि के लगातार कर सकते हैं। इसके विश्वसनीय होने के कारण इसे Reliable Machine भी कहते हैं।

7. पुनरावृत्ति (Repetition)

मनुष्य एक ही काम को बार-बार नहीं कर सकता है। आप किसी को एक ही काम करने के लिए बोल कर देख सकते हैं। वहीं Computer बिना थके एक ही काम को बार-बार करने में सक्षम है। यह शिकायत भी नहीं करता है। एक बार Computer को दोहराने के लिए निर्देश देने पर यह उस काम को दोहरा भी सकता है।

8. प्रतिभा (Versatility)

Computer विभिन्न प्रकार के कार्य कर सकता है। Computer के इसी प्रतिभा के कारण Computer को Versatility Machine कहा जाता है।

9. परिश्रमी (Diligence)

मनुष्य किसी भी कार्य को लंबे समय तक नहीं कर सकता है। क्योंकि ज्यादा देर तक कार्य करते रहने से मनुष्य के एकाग्रता में कमी और थकान महसूस होने लगता है। इसलिए मनुष्य के लिए किसी भी कार्य को करते वक्त बीच-बीच में Break लेना अनिवार्य होता है। जबकि Computer एक Machine है। जिसका एकाग्रता और थकान से दूर-दूर तक कोई लेना-देना नहीं है। इसलिए यह हमेशा बिना थके उसी सटीकता के साथ कार्य कर सकता है।

10. शीघ्र निर्णय (Quick Decision)

Computer पूर्व निर्धारित निर्देशों के आधार पर कार्य करता है। इसलिए यह शीघ्र निर्णय लेने की क्षमता रखता है।

Computer की उपयोगिता (Use of Computer in Hindi)

Computer दिन-प्रतिदिन Popular होते जा रहा है। व्यापार के क्षेत्र में इस मशीन का उपयोग बहुत तेजी से बढ़ रहा है। जिसकी वजह से मनुष्य का कार्य आज Computer कर रहा है। जो कि ना कभी शिकायत करता है और ना कभी बोर होता है। इसके साथ कोई गलती भी नहीं करता है। जिसके कारण बेरोजगारी भी दिन-प्रतिदिन बढ़ रहा है। क्योंकि Computer के विशेषता को देखते हुए सभी क्षेत्र में Computer का इस्तेमाल किया जा रहा है।

इन लोगों का Computer को लेकर एक ही प्रश्न होता है कि “Computer क्यों आवश्यक” है। अगर देखा जाए तो Computer आज की आवश्यकता बन चुका है। जहाँ आज Computer सभी कार्यों को बड़ी आसानी से करता है। जिस कारण इसका इस्तेमाल सभी क्षेत्र में किया जाता है। Computer का उपयोग होने वाले कुछ निम्नलिखित क्षेत्र है। अगर आपसे Computer के अनुप्रयोग (Application of Computer in Hindi) के बारे में पूछा जाए। तब भी आपको नीचे बताए गए क्षेत्रों के बारे बताना होगा। इन क्षेत्रों में Computer का अनुप्रयोग आम है।

1. शिक्षा के क्षेत्र में

शिक्षा के क्षेत्र में Computer का उपयोग आम बात हो गया है। आजकल सभी लोग अपनी पढ़ाई में Computer की मदद लेते हैं। जहाँ पहले शिक्षा बुक और नोटबुक तक सीमित था। वहीं आज बिना बुक और नोटबुक के भी पढ़ाई कर सकते हैं और यह संभव सिर्फ Computer के कारण हुआ है। आज कई Institute में Smart Classroom की सुविधा होते हैं। जिसमें Computer के जरिए पढ़ाया जाता है। इसके अलावा शिक्षा के क्षेत्र में e-classroom की व्यवस्था भी शुरू हो चुकी है।

जो कि इस Lockdown में तेजी से लोकप्रिय हुआ है। आज के समय में कई Institute शिक्षा के साथ-साथ Degree भी प्रदान कर रहे हैं। इन सभी के अलावा शिक्षा संबंधित दूसरे कार्य जैसे; Project व Assignment तैयार करने, Report Card बनाने, Exam कराने तथा Certificate बनाने में भी Computer का उपयोग होता है

2. विज्ञान के क्षेत्र में

Computer का उपयोग विज्ञान और अनुसंधान में शुरू से ही हो रहा है। लेकिन यह कह सकते हैं कि विज्ञान और अनुसंधान के क्षेत्र में Computer का उपयोग पहले से ज्यादा होता है। Scientists अपने Research संबंधित जानकारी को Computer में सुरक्षित रखते हैं। इसके अलावा मौसम का हाल और भूकम्प जैसी स्थितियों का पता लगाने के लिए Scientists Computers का उपयोग करते हैं।

3. रेलवे तथा वायुयान के क्षेत्र में

आपने Travel करते वक्त Railway Station तथा Airports पर Computer का इस्तेमाल होते देखा होगा। जैसे; Tickets काटने, यात्रीयों की जानकारी रखने और सुरक्षा संबंधित कार्यों में Computer का उपयोग होता है। कुछ Hightech Airports पर Robots भी देखने को मिलता है।

4. बैंकिंग के क्षेत्र में

बैंकों में Computer का उपयोग बखूबी होता है। यह आपको बताने की आवश्यकता नहीं है। बैंक के लगभग सभी कार्य Computer से ही होता है। जैसे; खाताधारक की जानकारी सुरक्षित रखना, Transactions का Track रखना, पासबुक का प्रिंट करना तथा Statement की प्रिंट निकालने में भी Computer इस्तेमाल किया जाता है। इसके अलावा आप जिस ATM Machine से पैसे निकालते हैं। वो भी एक तरह का Computer ही है।

5. रक्षा तथा सैन्य के क्षेत्र में

रक्षा तथा सैन्य के क्षेत्र में Computer का उपयोग विभिन्न कार्यों में होता है। दुश्मनों, दुश्मनों की टैंको, मिसाइलों तथा वाहनों को Track करना तथा अपने सैन्य साथियो को Communicate करने और प्रशिक्षित करने में Computer उपयोग होता है। इसके अलावा सैनिक और शत्रु सैनिको की जानकारी रखने में भी Computer इस्तेमाल होता है। रक्षा के क्षेत्र में Computer का इस्तेमाल शुरू से ही किया जा रहा है। लेकिन आज के समय में इसके मायने बदल चुका है। आज के समय में Computer से मिसाइल, परमाणु हथियार तथा सेटेलाइट आदि को Control भी किया जाता है।

6. व्यापार के क्षेत्र में

Computer का उपयोग Business में होने के बाद Business को कही से भी संभाला जा सकता है। आज के समय में ऐसा कोई दफ्तर नहीं होगा। जहाँ Computer नहीं होगा। क्योंकि आज दफ्तर के सारे कार्य Computer से होता है। चाहे कर्मचारियों का Record रखना हो, उत्पादन और बिक्री का Record रखना तथा Stock इत्यादि को संभालने में Computer का इस्तेमाल होता है। व्यापार में इसके प्रयोग से कार्य तेजी से होता है। इसलिए व्यापार में Computer का उपयोग होता है।

7. प्रशासन के क्षेत्र में

सरकारी कामकाज भी Computer से अछूता नहीं रहा है। आज प्रशासनिक कार्यों में भी Computer का प्रयोग किया जाता है। जैसे; नागरिको की जानकारी रखना, सरकारी कर्मचारी का Record रखना इत्यादि।

8. चिकित्सा के क्षेत्र में

अब तो Doctors भी Computer का उपयोग चिकित्सा में करते हैं। Medical के क्षेत्र में Computer वरदान से कम नहीं है। आज लगभग सभी चिकित्सा केन्द्र या अस्पताल में Computer का उपयोग होता है। आज अस्पतालों में Computers की सहायता से बड़ी-बड़ी बिमारीयों का पता लगाया जाता है।

9. संचार के क्षेत्र में

Computer का प्रमुख कार्यों में से Communication भी एक है। Computer के आने के बाद संचार पूरी तरह से बदल गया। जहाँ पहले किसी को कुछ बताने के लिए खुद जाना पड़ता था या फिर पत्र लिखना पड़ता था। जिसमें बहुत ज्यादा समय भी लगता था। साथ में यह तरीका सुरक्षित नहीं था। वहीं Computer और Internet के प्रयोग से घर बैठे Real Time Communicate कर सकते हैं।

10. प्रकाशन के क्षेत्र में

आज ऑनलाइन न्यूज पढ़ना प्रकाशन के क्षेत्र में Computer के उपयोग से संभव हुआ है। आज न्यूज लिखने का काम भी Computer से होता है तथा इसे Publish करने का काम भी। आज लोगों को Newspaper पढ़ने से ऑनलाइन News तथा Blogs पढ़ना पसंद है।

11. मनोरंजन के क्षेत्र में

मनोरंजन के क्षेत्र को हम नहीं छोड़ सकते हैं। क्योंकि मनोरंजन में Computer का सबसे ज्यादा इस्तेमाल होता है। Computer का इतना लोकप्रिय होने का एक कारण यह भी है कि आज इससे हम अपना मनोरंजन भी कर सकते हैं। चाहे ऑनलाइन मनोरंजन करना हो ऑफलाइन Sports लगभग सभी में Computer इस्तेमाल होता है। आज Cricket में भी Computer (Third Umpire) का इस्तेमाल हो रहा है।

12. रोजमर्रा के दैनिक कार्यों में

आप अपने रोजमर्रा के काम भी Computer से करते हैं। चाहे कुछ खरीदना हो या बिजली, पानी का बिल जमा करना हो। इसी बात से अंदाजा लगा सकते हैं कि आज लगभग सभी घरो में Computer देखने को मिलता है। जिसकी सहायता ऑनलाइन गेम खेलते हैं, ईमेल भेजना, इंटरनेट चलाना हो या ऑफिस का कार्य करना हो।

Computer के लाभ (Advantage of Computer in Hindi)

Computer के कुछ महत्वपूर्ण लाभ निम्नलिखित है-

1. तीव्रता

Computer का सबसे बड़ा लाभ यही है कि यह बेहद तीव्र गति से कार्य करता है। यही मुख्य वजह भी है कि Computer का उपयोग बैंकिंग, व्यापार, सरकारी कर्मचारी और चिकित्सा इत्यादि में होता है।

2. त्रुटि रहित कार्य

Computer तीव्र गति से कार्य करने के साथ-साथ त्रुटिहीन कार्य करते हैं। इसकी शुद्धता मानव परिणामों से अधिक होती है। यह GIGO (Garbage in Garbage Out) सिद्धांत पर कार्य करता है।

3. कम मेहनत

Computer बिना थके, रुके कार्य करता रहता है। यह बोरियत और थकान मुक्त मशीन है। जो कभी शिकायत भी नहीं करता है। इसकी वजह से किसी भी कार्य में मेहनत कम करना पड़ता है।

4. स्वचालित

Computer का एक और फायदा है यह कि Computer एक स्वचालित मशीन है। जिसका मतलब है कि पूर्व निर्धारित निर्देशों के आधार पर स्वयं कार्य करता है।

5. समय की बचत

Computer प्रत्येक कार्य बहुत तीव्र गति से करता है। साथ में यह एक स्वचालित मशीन है। इस कारण Computer बहुत ज्यादा Time की बचत करता है। इसका निर्माण ही कार्य को जल्दी करने के लिए किया गया था। Computer से और भी बहुत फायदे हैं। जिसमें महत्वपूर्ण है कि यह समय की बचत करता है।

6. संचार की सुविधा

Computer संचार का सबसे अच्छा माध्यम बन कर उभरा है। Computer से किसी भी संसाधन को साक्षा करने में आसानी और तेजी होती है। Computer सभी महत्वपूर्ण फाइल्स को साक्षा करने की बेहतरीन मशीन है। आज इसकी सहायता से Real Time Communication करते हैं।

7. मल्टीटास्किंग

Computer की शुरुआत गणना करने के लिए हुआ था। लेकिन आज के Computer गणना करने के अलावा भी बहुत सारे कार्य करते हैं। यानी यह मशीन बहुउद्देशीय है। जिसका मतलब है कि इसकी सहायता से एक ही समय में एक से अधिक कार्य कर सकते हैं।

8. प्रकृति के अनुकूल

Computer का एक और प्रमुख लाभ यह है कि यह Nature Friendly है। जिसका मतलब है कि यह प्रकृति का नुकसान नहीं करता है।

9. मनोरंजन का साधन

आज के समय में Computer मनोरंजन का Best साधन बन चुका है। इसी कारण Computer को लगभग सभी वर्ग और उम्र का व्यक्ति इस्तेमाल कर रहा है।

10. शिक्षा का साधन

आज के समय में Computer का शिक्षा के प्रति महत्वपूर्ण योगदान है। आज सिर्फ इस एक मशीन से लगभग सभी तरह की डिग्रियाँ हासिल की जा सकती है। इसके उपयोग से शिक्षा प्राप्त करना बहुत सरल हो गया है।

Computer के हानी (Disadvantage of Computer in Hindi)

Computer के निम्नलिखित हानी भी है-

1. विवेक का अभाव

Computer को कार्य करने के लिए पहले इसे निर्देश देना पड़ता है। यह पूर्व निर्धारित निर्देशों के आधार पर कार्य करता है। यानी यह सोचने और समझने में सक्षम नहीं होता है। इसमें विवेक का अभाव होता है।

2. निर्भरता

आज के समय में Computer का यह सबसे प्रमुख नुकसान है। Computer लगभग सभी कार्य को करने में सक्षम है। इस कारण सभी लोग इसी की सहायता से अपना कार्य करते हैं। इसकी सहायता से कार्य सटीक और जल्दी तो होता है। लेकिन आज प्रत्येक काम के लिए इसी पर निर्भर हो चुके हैं। जो कि गलत है। इसकी वजह से हम अपने कार्य कुशलता में कमी ला रहे हैं।

3. समय की बर्बादी

Computer पर समय बर्बाद करने या मनोरंजन करने के लिए बहुत सारी सामग्री उपलब्ध है। ऐसे में Computer का उपयोग गलत तरीके से करने पर समय की बर्बादी हो सकती है।

4. स्वास्थ्य का नकारात्मक प्रभाव

आज के समय में Computer के कारण स्वास्थ्य पर बहुत ज्यादा नकारात्मक प्रभाव देखने को मिल रहा है। चूंकि Computer उपयोग करते वक्त शारीरिक गतिविधियों में कमी हो जाती है। इस कारण बहुत तरह के शारीरिक समस्या होती है। ज्यादा इस्तेमाल करने से सर दर्द और कमर दर्द आम बात है। जिसके कारण लोग अनिद्रा और डिप्रेशन का शिकार भी हो रहे हैं। Laptop को जांघ पर रखकर उपयोग करने से नपुंसकता भी हो सकती है।

5. आँखों में कमजोरी

Computer का उपयोग एक टक करना पड़ता है। जिसके कारण आँखों पर बहुत बुरा प्रभाव डालता है। जिसकी वजह से आंखो की कमजोरी हो सकती है। ऐसी समस्या ज्यादातर दफ्तरों और कार्यालयों में होता है। यहाँ Computer पर दिनभर कार्य करना होता है।

6. परिवार से दूरियां

Computer के आने के बाद लोग अपने परिवार से दूरी बनाते जा रहे हैं। खासकर बच्चे अपने माता-पिता से। क्योंकि Computer पर शिक्षा से लेकर मनोरंजन तक सभी चीजे मिल जाती है। अब तो Computer से पैसे भी कमा रहे हैं।

7. कंप्यूटर वायरस

Computer में Virus नामक हमलावर देखने को मिलता है। जो हमारे जरूरी Files को नष्ट करते हैं। Computer Virus मानव निर्मित होता है।

8. साइबर अपराध

Computer के जरिए Hacking जैसी घटना को अंजाम दिया जाता है। जिससे दुसरो को नुकसान पहुंचाया जाता है और ऑनलाइन लूटपाट किया जाता है। आज के समय रोजाना ऑनलाइन ठगी का शिकार होते हैं। इससे सरकार भी अछूता नहीं है। Cyber Criminal सरकार को भी Hacking के जरिए नुकसान पहुंचाते हैं।

9. बेरोजगारी

Computer का यह एक प्रमुख नुकसान है। जहाँ इसके आने से सभी कार्य सुलभता से हो जाती है। लेकिन इसके विपरीत इसके आने से बहुत सारे लोग बेरोजगार हो गये। Computer धीरे-धीरे सभी क्षेत्रों में अपना वर्चस्व स्थापित कर रहा है।

Computer संबंधित अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न और उनके उत्तर

1. Computer क्या है?

उत्तर – इलेक्ट्रॉनिक मशीन

2. Computer शब्द किस भाषा से लिया गया है

उत्तर – लैटिन भाषा के Computare शब्द से

3. Computer का जनक कौन है?

उत्तर – चार्ल्स बैबेज (Charles Babbage)

4. Computer के भौतिक को क्या कहते हैं।

उत्तर – हार्डवेयर

5. Computer कौन-सी भाषा पर कार्य करता है?

उत्तर – मशीनी भाषा

6. Computer का अन्य नाम क्या होता है?

उत्तर – कम्प्यूटर, संगणक, परिकलक, अभिकलक और अभिकलित्र

7. Computer का दिमाग क्या कहलाता है?

उत्तर – सीपीयू (CPU)

8. दुनिया का सबसे महंगा Computer क्या है?

उत्तर – जापान के सुपर Computer फुगाकू (Japanese Supercomputer Fugaku) को दुनिया के सबसे तेज कंप्यूटर का दर्जा प्राप्त हुआ। इस सुपर कंप्यूटर की कीमत (Price) लगभग 1 बिलियन अमेरिकी डॉलर होता है।

9. भारत के पहले सुपर Computer का क्या नाम है?

उत्तर – परम 8000

10. Computer को ऑन करने की प्रक्रिया कहलाती है?

उत्तर – बुटिंग (Booting)

11. गणना और तुलना के लिए Computer के किस भाग का प्रयोग किया जाता है?

उत्तर – Arithmetic Logic Unit (ALU)

12. Computer को किस प्रकार की बुद्धि की संज्ञा दी गई है?

उत्तर – कृत्रिम बुद्धि

Conclusion – What is Computer in Hindi

इस लेख में हमने Computer की पूरी जानकारी देने की कोशिश किया है। जिसमें हमने बताया है कि Computer क्या है, Computer के Full Form, Computer के प्रकार, Computer का परिचय, Computer का अर्थ, Computer की परिभाषा, Computer कैसे काम करता है, Computer की इतिहास, Computer का कार्य, Computer की विशेषता, Computer का उपयोग, Computer के लाभ और हानी क्या होता है। हम उम्मीद करते हैं कि Computer की ये जानकारी “Computer क्या है? इसकी परिभाषा, प्रकार और कार्य” आपको पसंद आया होगा। अगर आपके दिमाग में Computer संबंधित कोई सवाल है। तब आप कमेंट से पूछ सकते हैं।

Computer संबंधित अन्य लेख

  1. कंप्यूटर हार्डवेयर क्या है?
  2. Software क्या है?
  3. Operating System क्या है?
  4. Programming Language क्या है?
  5. Keyboard क्या है?
  6. Computer Mouse क्या है?
  7. Monitor क्या है?
  8. मदरबोर्ड क्या है?
  9. CPU क्या है?
  10. BIOS क्या है?
  11. कंप्यूटर मेमोरी क्या है?
  12. ROM क्या है?
  13. RAM क्या है?
  14. Processor क्या है?
  15. Computer Virus क्या है?
  16. Antivirus क्या है?
  17. Database क्या है?
  18. Web Browser क्या है?
  19. Search Engine क्या है?
  20. GPS क्या है?
  21. VPN क्या है?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to top
Exit mobile version