Sim Card क्या होता है? पूरी जानकारी

Sim Card एक प्रकार का Smart Card है। जिसका का पुरा नाम Subscriber Identity Module (ग्राहक पहचान माड्यूल) है। यह एक Integrated Circuit है। जिसमें मोबाइल फोन या कम्प्युटरों पर मोबाइल टेलीफोनी के लिये आवश्यक Service Subscriber Key स्टोर रहती है। जिसका उद्देश्य अंतरराष्ट्रीय मोबाइल ग्राहक पहचान (IMSI) संख्या और इसके संबंधित कुंजी को सुरक्षित रूप से संग्रहीत करना है। जिसका उपयोग पहचान और प्रमाणीकरण के लिए किया जाता है। सिम कार्ड का इस्तेमाल सैटेलाइट, फोन, स्मार्ट वॉच, कंप्यूटर या कैमरे में भी किया जा सकता है।

Sim Card काम कैसे करता है?

सिम कार्ड का पूरा नाम Subscriber Identity Module है। यह एक छोटी इलेक्ट्रोनिक चिप होती है। इसको मोबाइल में डालने के बाद यह मोबाइल के सिस्टम से कनेक्ट हो जाता है और यह मोबाइल से नजदीक के कोई GSM नेटवर्क को सर्च करता है। अगर सर्च में उसको GSM नेटवर्क मिल जाता है, तो वह उस से कनेक्ट हो जाता है। यह GSM नेटवर्क मोबाइल के ट्रांसलेटर से सिग्नल भेजकर कनेक्ट होता है और कनेक्ट होने के बाद आप इस से कॉल कर सकते हैं और कॉल रिसीव भी कर सकते हैं। जब भी हम अपने मोबाइल नंबर से कोई नंबर डायल करते हैं तो वह नजदीक के किसी GSM टावर से फोन की पहचान करता है और जो नंबर आपने डायल किया है उसके इंफॉर्मेशन सेटेलाइट की मदद से सर्च करके उसको कनैक्ट करने में मदद करता है। तो इस तरह से आप किसी को कॉल कर पाते हैं।

Sim Card के प्रकार

मोबाइल में दो तरह की सिम का इस्तेमाल होता है।

1. GSM

GSM पुरा नाम Global System For Mobiles है। इसको सबसे पहले 1970 में बनाया गया था। यह SIM Narrow Band Transmission टेक्निक का इस्तेमाल करती है जो कि Time Division Access Multiplexing का एक हिस्सा है। इसमें डाटा ट्रांसफर की रेट 16 Kbps से लेकर 120 Kbps तक होती है। अभी नयी नयी टेक्नालजी का इस्तेमाल करके इसकी स्पीड कई गुना बढ़ा दी गयी।

2. CDMA

इसका पूरा नाम Code Division Multiple Access। इसमे Communication Spread-Spectrum Technology के हिसाब से होता है। यह एक Spacial कोडिंग Technology का इस्तेमाल करके Communication करता है।

Prepaid Sim और Postpaid Sim क्या होता है?

1. Prepaid Sim

Prepaid Sim में सर्विस प्राप्त करने के लिए पहले रीचार्ज करवाना होता है, तभी आप इसमें प्राप्त सुविधाओं का लाभ प्राप्त कर सकते है, अथार्त किसी को कॉल या मैसेज करने के लिए पहले कॉल करने का रिचार्ज और मैसेज करने का रिचार्ज करवाना होता है। और इंटरनेट का प्रयोग करने के लिए भी पहले इंटरनेट पैक करवाना होता है

2. Postpaid Sim

Postpaid Sim में आपको एक प्लान लेना होता है, वह पूरे महीने कार्य करता है, इसमें आप अपने प्लान के अनुसार कॉल, मैसेज और इंटरनेट का प्रयोग कर सकते है | इसका भुगतान आपको महीने के अंत में करना होता है | प्रत्येक माह आपको कंपनी के द्वारा बिल दिया जाता है। जिसको समय सीमा के अंदर भुगतान करना होता है | यदि आप भुगतान नहीं करते है तो आपकी सारी सेवाओं को बंद कर दी जाती है।

ये भी पढ़ें:-

  1. जियो नंबर पर कॉलर टून कैसे लगाएँ?
  2. IP Address क्या होता है? पूरी जानकारी
  3. Paytm क्या है? Paytm Account कैसे बनाए?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to top
error: Content is protected !!