धारा 144 क्या है? पूरी जानकारी

धारा 144 का मुख्य मकसद कई लोगों को एक जगह इकठ्ठा होने से रोकना होता है। धारा 144 तब लगाया जाता है। जब लोगों के इकट्ठा होने से कोई खतरा हो।

धारा 144 क्या है?

सीआरपीसी की धारा 144 शांति व्यवस्था को बनाए रखने के लिए लागु किया जाता है। धारा 144 को दंगा, लूटपाट, हिंसा, मारपीट, आदि को रोक कर फिर से शांति व्यवस्था को स्थापित करने के लिए लगाया जाता है

सीआरपीसी की धारा 144 के लागु होने के बाद लागु होने वाले क्षेत्र में 4 या 4 से अधिक लोग इकट्ठे नहीं हो सकते हैं। यानी की लोगों को एकत्र होने पर पुरी तरह से पाबंदी होती है। उस क्षेत्र में हथियारों के लाने तथा ले जाने पर भी रोक लगा दी जाती है।

धारा 144 कितने दिनो के लिए लगाया जा सकता है?

सीआरपीसी की धारा 144 को दो महीनो के लिए लगायी जा सकती है। जरुरत हो तो इसे बढ़ाकर 6 महीनो तक भी किया जा सकता है।

धारा 144 को 6 महीनो से ज्यादा समय तक के लिए नहीं लगाया जा सकता है तथा स्थिति समान्य होने पर किसी भी समय वापस लिया जा सकता है।

धारा 144 कौन लगा सकता है?

धारा 144 को किसी क्षेत्र में लागु करने के लिए उस क्षेत्र के जिला मजिस्ट्रेट या जिलाधिकारी के द्वारा एक अधिसूचना जारी किया जाता है। जिसके बाद उस क्षेत्र में धारा 144 लागु कर दी जाती है।

इसका उल्लंघन करने पर क्या होता है?

धारा 144 लागु होने पर सारे कानूनी अधिकार इलाके के मजिस्ट्रेट को दे दिए जाते हैं। इस दौरान धारा 144 का उल्लंघन करने पर अधिकतम 3 साल की सजा और जुर्माना भी हो सकता है।

ये भी पढ़े:-

  1. मोबाइल से PNB का Balance कैसे चेक करें?
  2. PNB Bank Account में अपना मोबाइल नम्बर कैसे जोड़े?
  3. WhatsApp के चैट को lock कैसे करें?

धारा 144 लागु होने के बाद इसका पालन करना हर नागरिक की जिम्मेदारी है। इसलिए आपको भी पालन करना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to top
error: Content is protected !!