Python क्या है? इसकी विशेषता और इसे कैसे सीखे?

आप कंप्यूटर, स्मार्टफोन में जो कुछ भी देखते हैं। या फिर ऐप्लिकेशन या सॉफ्टवेयर आदि बनाने में किसी ना किसी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का ही हाथ होता है। प्रोग्रामिंग लैंग्वेज बहुत सारे है। जिसमें से 2500 प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को मान्यता प्राप्त है।

प्रत्येक प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का अपना अलग अलग फीचर्स होता है। उसके फीचर्स के कारण ही कंप्यूटर प्रोग्रामर किसी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को सीखते हैं। Python भी एक प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है। जो आज काफी लोकप्रियता हासिल कर चुका है। और इसका कारण सिर्फ इसके फीचर्स हैं।

Python प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को आज कल सबसे अधिक लोकप्रिय प्रोग्रामिंग लैंग्वेज में से एक स्थान प्राप्त है। और इसकी लोकप्रियता और इसका उपयोग भविष्य में और बढ़ सकता है। इसलिए Python प्रोग्रामर के रुप में भी एक अच्छा कैरियर बनाया जा सकता है।

इसके लोकप्रियता को देखते हुए। यह कहना गलत नहीं होगा कि भविष्य में Python प्रोग्रामर की डिमांड बढ़ने वाली है। या फिर जो लोग अपना खुद का ऐप्लिकेशन, सॉफ्टवेयर या टूल बनाना चाहते हैं। वे लोग इसे सीख सकते हैं। यदि कंप्यूटर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज पहली बार सीख रहे हैं। वो भी Python को सीख सकते हैं।

Python क्या है?

Python एक General Purpose और High Level Programming Language है। इसे ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड/इंटरप्रिंटेड और स्क्रिप्टिंग भाषा भी कहते हैं। इस प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को 1991 में Guido van Rossum के द्वारा बनाया गया था।

Python को पहली प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के रुप में सीखा जा सकता है। क्योंकि इसे इस तरह से बनाया गया है कि इसके कोड को आसानी से पढ़ा और समझा जा सकता है। इसके कोड में बाकी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज की तरह मझोले कोष्ठक का प्रयोग नहीं किया जाता है। इसके कोड समान्य अंग्रेजी के तरह होते हैं।

इसका सोर्स कोड इसके वेबसाइट पर अपलोड है। क्योंकि यह एक Open Source Programming Language है। यह प्रोग्रामिंग लैंग्वेज सबसे अधिक पॉपुलर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज में से एक है। जिसका उपयोग सबसे अधिक वेब ऐप्लिकेशन, सिस्टम सॉफ्टवेयर, गेम डेवलपमेंट, ऐप डेवलपमेंट, सर्वर साइड प्रोग्राम और वेबसाइट बनाने में उपयोग किया जाता है।

यदि आप कंप्यूटर के क्षेत्र जैसे; ऐप डेवलपर, गेम डेवलपर या सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनना चाहते हैं। तब आपको पाइथन प्रोग्रामिंग सीख लेना चाहिए। क्योंकि पाइथन प्रोग्रामर की मांग दिन प्रतिदिन बढ़ते जा रहा है। इसका उपयोग मशीन लर्निंग और आर्टिफिशल इंटेलिजेंस आदि में भी पसंद किया जा रहा है।

साथ ही इसके किसी प्रकार की उपयोग के लिए लाइसेंस लेने की जरूरत नहीं है। और ना ही इसके लिए पैसे देने होते हैं। क्योंकि पाइथन प्रोग्रामिंग लैंग्वेज जनरल पब्लिक लाइसेंस (GPL) के तहत उपलब्ध है।

Python को हिंदी में क्या कहते हैं।

दोस्तो शायद अब आप लोग सोच रहे होंगे कि Python Programming Language को आखिर Python नाम क्यों रखा गया है। जबकि Python सांपो की प्रजाति अजगर को कहते हैं। हाँ दोस्तो अजगर को अंग्रेजी में Python ही कहा जाता है।

लेकिन Python Programming Language को अजगर के नाम पर नहीं रखा गया है। बल्कि इसका नाम एक सर्कस के नाम पर रखा गया है। जिसका नाम Monty Pythons Flying Circus था। इस सर्कस से प्रभावित होकर Guido van Rossum ने इस प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को Python रख दिया।

Python का इतिहास

Python की शुरुआत 1980 में हुआ था। इसे साल 1980 के अंत तक डिजाइन कर लिया गया था। किंतु इसे लांच 1991 में किया गया और इसका पहला संस्करण (First Version) 1.0 को 1994 में पब्लिश किया गया। इसका दुसरा संस्करण 2.0 को साल 2000 में पब्लिश किया गया। इसके तीसरे संस्करण 3.0 को 2008 में पब्लिश किया गया। फिलहाल Python का नया संस्करण 3.6.1 को 2017 में पब्लिश किया गया था। जो Python का नवीनतम संस्करण है।

VersionRealising Date (Year)
Version 1.01994
Version 2.02000
Version 3.02008
Latest Version 3.9.02020

Python के विशेषता

  1. Python प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को सीखना, समझना या किसी अन्य कार्य के लिए उपयोग करना आसान है।
  2. Python Open Source और High Level Programming Language है।
  3. Python Portable Language है। इसके द्वारा बनाए गए एक प्रोग्राम को अलग अलग प्लेटफॉर्म पर भी चला सकते हैं। जैसे; Window Os के लिए बनाए प्रोग्राम को Linux और Mac पर चला सकते हैं।
  4. यह Integrated Language है। अर्थात इसे अन्य प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के साथ Integrate किया जा सकता है।
  5. Python इंटरप्रिंटेड प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है। इसे C और C++ प्रोग्रामिंग लैंग्वेज की तरह कम्पाइल नहीं किया जाता है।
  6. इससे ग्राफिकल यूजर इंटरफेस (GUI) डिजाइन किया जा सकता है।

Python क्यों सीखनी चाहिए?

यदि प्रोग्रामिंग लैंग्वेज सीखने की सोच रहे हैं। तब आप अपना प्रोग्रामिंग कैरियर पाइथन से शुरुआत कर सकते हैं। मैं पाइथन से शुरुआत करने के लिए क्यों कह रहा हूँ। चलिए जानते हैं।

  1. इसे सीखना और समझना आसान है। इसलिए इसे आप जल्दी सीख सकते हैं।
  2. आज के समय में पाइथन सबसे अधिक पॉपुलर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज में से एक है।
  3. पाइथन डेवलपर के रुप में कैरियर बनाने के लिए।
  4. इसका उपयोग AI और Data Science में भी होता है। इसलिए इसका डिमांड भविष्य में अधिक होने की पूरी संभावना है।
  5. यदि आप हैकर बनना चाहते हो। वैसे हैकर्स तो बहुत सारे लैंग्वेज जानते हैं। किंतु पाइथन हैकर्स का सबसे पसंदीदा प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है।

Python प्रोग्रामिंग लैंग्वेज कैसे सीखे?

Python Programming Language जनरल पब्लिक लाइसेंस (GPL) के तहत उपलब्ध है। जिसका मतलब है कि इसे सीखने या इसका उपयोग के लिए किसी को भुगतान करने की जरूरत नहीं है।

इसलिए यदि आप चाहें तो इसे ऑनलाइन फ्री में सीख सकते हैं। किंतु यदि आप Python प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को सीखने के लिए Serious है। और इसे जल्दी और अच्छे से सीखना चाहते हैं। तब आप किसी अच्छे कंप्यूटर इंस्टीट्यूट ज्वॉइन कर सकते हैं। वहाँ आपको अच्छे प्रोग्रामिंग लैंग्वेज सीखा दिया जाता है।

इसके अलावा आप किताबे खरीद सकते हैं। यदि आपको Python का किताब मार्केट के बुक स्टोर में नहीं मिलता है। तब आप ऑनलाइन स्टोर से खरीद सकते हैं। यहाँ आपको एक से एक बुक मिल जाऐगा। इसके लिए सबसे अच्छा Amazon और Flipkart होगा।

ऊपर तो हमने सिर्फ ऑफलाइन Python सीखने की है। किंतु इसे आप कहीं जाए बिना ऑनलाइन भी सीख सकते हैं। इसके लिए आप YouTube, Web Tutorial या किसी ऑनलाइन कोर्स में ज्वॉइन होकर सीख सकते हैं। ऑनलाइन कोर्स करने के लिए आपको पैसे देने हो सकते हैं।

Conclusion

इस लेख में Python की पूरी जानकारी देने की कोशिश की गई है। उम्मीद करता हूँ कि यह लेख Python क्या है और कैसे सीखे? आपको पसंद आया होगा। और कुछ नया सीखने को मिला होगा। Python अच्छा और पावरफुल प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है।

यदि आपको प्रोग्रामिंग लैंग्वेज में Interest है। तब आपको Python प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को भी सीख लेना चाहिए। क्योंकि यह पॉपुलर तो है ही लेकिन भविष्य में और अधिक पॉपुलर होने की संभावना है। इसलिए इसमें कैरियर बनाना भी आसान होगा। यदि यह लेख अच्छा लगा हो या कुछ नया सीखने को मिला है। तब कमेंट के द्वारा अपने विचार हमारे साथ शेयर कर सकते हैं। इसके साथ ही इसे शेयर करना बिलकुल भी ना भूलें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to top
error: Content is protected !!