Printer क्या है? इसकी परिभाषा, प्रकार, कार्य और उपयोग

Printer kya hai

Printer से आप क्या समझते हैं। क्या आप जानते हैं कि Printer क्या होता है। क्योंकि इस लेख में Printer क्या है इसके प्रकार बताया गया है। इसलिए अगर आपको Printer क्या है और इसके प्रकार के बारे में पता नहीं है। तब इस लेख को अंत तक जरुर पढ़ें। जिन लोगों को पता है कि Printer क्या होता है और इसके प्रकार कितने हैं। वे लोग भी इस लेख को पढ़ सकते हैं। क्योंकि इस लेख में Printer की पूरी जानकारी विस्तारपूर्वक बताया गया है। जिसमें Printer क्या है, Printer की परिभाषा, Printer का परिचय, Printer के प्रकार और Printer के कार्य वगैरह बताया गया है।

जो कि प्रत्येक Computer Students को जरुर जानना चाहिए। या वे लोग जिन्हे Computer के बारे में जानना अच्छा लगता है। जो Computer के बारे में जानना चाहते हैं। क्योंकि यह Computer संबंधित उपकरण है। इसे आमतौर पर Computer से कनेक्ट कर के इस्तेमाल किया जाता है। इसे आप Computer के सदस्य उपकरण के रुप में समझ सकते हैं। यह Computer का महत्वपूर्ण सदस्य है। इस लेख में Computer के महत्वपूर्ण सदस्य Printer से संबंधित कुछ ऐसे प्रश्नों का उत्तर दिया है। जिसे आप जानना चाहते होंगे। जो इस प्रकार है-

  • Printer क्या है और कैसे काम करता है?
  • Printer कितने प्रकार के होते हैं?
  • Printer का उपयोग क्या है?
  • Printer का क्या कार्य है?
  • Printer का आविष्कार कब और किसने किया

एक Computer User के मन में यह सवाल कभी न कभी जरुर आता है। क्या आप भी इन सवालों का जवाब जानना चाहते हैं। तब अब आप निश्चिंत रहे। क्योंकि ऊपर के सभी सवालों का जवाब यहाँ बताया गया है। यानी मात्र इस लेख को पढ़ने के बाद आपको Printer की समस्त जानकारी हो जाएगी। चलिए सबसे पहले जानते हैं कि Printer क्या है?

Printer क्या है? (What is Printer in Hindi)

Printer एक Computer Hardware Device है। जिसका उपयोग Computer में संग्रहित सूचना को पेपर पर छापने के लिए किया जाता है। यह Computer में संग्रहित किसी भी Photo, Text और Documents आदि को Print कर सकता है। चूँकि यह Device Computer से अलग होता है और Computer के साथ नहीं आता, बल्कि इसे अलग से खरीदना पड़ता है। क्योंकि Printer के न होने से Computer पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता, लेकिन Computer से Hard Copy निकालने के लिए, हमें एक Printer की आवश्यकता होती है।

प्रायः Printer को Computer के साथ इस्तेमाल किया जाता है। लेकिन यह अन्य Device के साथ भी काम कर सकता है। इसे Computer के साथ आपस में कनेक्ट करने के लिए केबल का प्रयोग होता है। लेकिन आज के आधुनिक Printer में Bluetooth और WiFi जैसे तकनीकी विकल्प भी आ गये है। Computer बहुत Fast होता है और यह Output बहुत तेजी से देता है। लेकिन Printer इतनी तेजी से कार्य करने में सक्षम नहीं होता है। जिसके कारण Printer में भी एक Memory का इस्तेमाल होता है। ताकि Printer अपने Memory से परिणामों को प्राप्त कर धीरे-धीरे Print कर सके।

यह Computer Screen पर देखे जाने वाली किसी भी Information को पेपर पर साफ-साफ Print कर सकता है। यह एक Output Device है। जो Output को भौतिक रुप में प्रदान करता है। यह Computer से Text, Characters और Image को Soft Copy के रुप में Input लेते हैं और उसे Paper पर छाप कर Hard Copy के रुप में Output देते हैं। यह Computer का महत्वपूर्ण Output Device है। जिसका उपयोग School, College, Bank और Office आदि में ज्यादा होता है। पहले Dot Matrix Printer का इस्तेमाल किया जाता था। किंतु बाद में इसकी जगह Inkjet Printer और Laser Printer ने अपना लिया। आज भी इन्हीं Printer का सर्वाधिक उपयोग होता है।

Printer की परिभाषा (Printer Definition in Hindi)

वह इलेक्ट्रॉनिक उपकरण जो कंप्यूटर के सॉफ्ट कॉपी को हार्ड कॉपी में बदलने का कार्य करता है, प्रिंटर कहलाता है। प्रिंटर कंप्यूटर से जुड़कर उससे प्राप्त जानकारी को कागज पर छापता है। कागज पर आउटपुट की इस प्रति को हार्ड कॉपी कहा जाता है। यह कंप्यूटर का आउटपुट डिवाइस है।

Computer में Stored Data या इलेक्ट्रॉनिक प्रति को Soft Copy कहते हैं। जब इस Data को किसी यंत्र की मदद से भौतिक वस्तु पर छाप छोड़ते हैं। तब वह Hard Copy कहलाता है। जैसे Computer में Stored आपका फोटो या कोई डॉक्युमेंट Soft Copy होता है। जिसे आप छू नहीं सकते, सिर्फ Computer पर किसी Software की मदद से देख सकते हैं। लेकिन जब इसी फोटो या डॉक्युमेंट को प्रिंटर से किसी कागज पर छापते हैं। तब उसे Hard Copy कहते है। Hard Copy को छू सकते हैं। इसे कागजी प्रति भी कहा जाता है।

Printer का परिचय (Printer Information in Hindi)

प्रिंटर का चित्र

आपने यह तो जान लिया कि Printer क्या है और Printer की परिभाषा क्या है। लेकिन क्या आपको पता है कि Printer कैसा होता है। चूँकि हम यह जानते हैं कि Printer एक Output Device है। तब हमे पता होता है कि हम इस Device से क्या कर सकते हैं। जब हम यह जानते हैं कि Printer क्या है। तब हमें Printer की लगभग बहुत सारी बाते पता होती है। लेकिन Printer क्या है? जानने के बाद भी Printer से बहुत कम लोग परिचित हुए होंगे। क्या आपको पता है कि Printer कैसा होता है या कैसा दिखता है।

इसलिए यहाँ हम आपको Printer से परिचय कराने वाले हैं। जब हम यह जानते हैं कि Printer कैसा होता है। तब हम Printer की पहचान कर पाते हैं और यह जरुरी भी है। इसलिए आपको पता होना चाहिए कि Printer कैसा होता है। जिन्होंने पहले कभी Printer नहीं देखा है या नहीं जानते हैं कि Printer कैसा होता है। उनके लिए ऊपर हमने Printer का चित्र दिखाया है। यह Laser Printer है। जो Printer का एक प्रकार है। इसका इस्तेमाल आजकल ज्यादा होता है। अगर आप कभी किसी Documents का फोटो स्टेट या फोटो कॉपी करने गए होंगे। तब आपने Printer जरुर देखा होगा।

Printer के प्रकार (Types of Printer in Hindi)

Printer Computer (या अन्य कनेक्टेड उपकरण) से प्राप्त Input (Soft Copy) के अनुरूप Output (Hard Copy) देता है। उदाहरण के लिए अगर आपको किसी प्रकार की Report बनानी है। तब इसके लिए सबसे पहले आपको Report का Soft Copy कंप्यूटर में तैयार करना होगा। इसके बाद अपने Printer को Computer से कनेक्ट कर Soft Copy को Printer के जरिए Hard Copy निकाल सकते हैं। लेकिन क्या आपको पता है कि Printer कितने प्रकार के होते हैं। Printer को इसके Printing Method के आधार पर दो वर्गों में वर्गीकृत कर सकते हैं। जो इस प्रकार है

  1. Impact Printer
  2. Non-Impact Printer

Printer के आकार, गुणवत्ता, स्पीड और बनावट के आधार पर भी इसे वर्गीकृत कर सकते हैं। लेकिन Printer का वर्गीकरण मोटे तौर पर दो ही हैं। चलिए दोनो को विस्तार से जानते हैं।

1. इम्पैक्ट प्रिंटर क्या है? (What is Impact Printer in Hindi)

Impact Printer के द्वारा पेपर पर Printing करने के लिए Ink Ribon का प्रयोग होता है। Ink Ribon के प्रयोग से पेपर पर प्रभावी छपाई होती है। यह Typewriter की तरह कार्य करता है और सामान्य Printer की तुलना में अधिक आवाज करता है। इस तरह के Printer में छोटे-छोटे पिन या Print Head होता है। जिसपर अक्षर बना होता है। जो कि Ink Ribon के साथ पेपर से संपर्क कराया (टकराया) जाता है। जिसके बाद अक्षर पेपर पर अपना छाप छोड़ देता है और इसी तरह पेपर पर Printing होता है। Impact Printer एक बार में सिर्फ एक Character या Line को Print कर सकता है। यह अन्य Printers की मुकाबले सस्ते होते हैं। Impact Printer का निम्नलिखित उदाहरण है।

  1. Dot Matrix Printer
  2. Daisy Wheel Printer
  3. Line Printer

चलिए इन्हें भी विस्तार से जानते हैं।

1. डॉट मैट्रिक्स प्रिंटर क्या है? (Dot Matrix Printer in Hindi)

Dot Matrix Printer, Impact Printer का महत्वपूर्ण उदाहरण है। इसमें छोटे-छोटे पिन की पंक्ति होती है। यह पिन Ribon पर प्रहार करता है। जब ये पिन Ribon पर प्रहार करता है। तब डॉट्स (Dots) का समूह मैट्रिक (Matrix) के रुप में पेपर पर पड़ता है। जिसके फलस्वरूप पेपर पर Printing होती है। यह पेपर पर मुहर लगाने जैसा कार्य करता है। Dot Matrix Printer एक धीमी गति का Printer है। जो एक बार में सिर्फ एक Character को Print कर सकता है।

2. डेज़ी-व्हील प्रिंटर क्या है? (Daisy Wheel Printer in Hindi)

Daisy Wheel Printer से Printing के लिए Plastic के पहिये का उपयोग किया जाता है। यह पहिया दिखने में गुलबहार फुल (Daisy Flower) जैसा होता है। इसीलिए इस Printer को Daisy Wheel Printer कहा जाता है। इस Printer के पहिये के प्रत्येक पंखुड़ी पर अक्षर उभरा होता है। Printer में एक मोटर भी लगा होता है। जो पहिये को तीव्र गति से घुमाने का कार्य करता है। जब सही अक्षर पेपर के सही स्थिति पर आती है। तब Hammer या Print Head के द्वारा प्रहार होता है। जिसके फलस्वरूप अक्षर पेपर पर छाप छोड़ देता है। Daisy Wheel Printer एक सेकंड में लगभग 10 से 75 अक्षर छाप सकता है।

3. लाइन प्रिंटर क्या है? (Line Printer in Hindi)

Line Printer एक तरह का Impact Printer है। जिसमें अधिकांश Impact Printer का उपयोग होता है। यह तीव्र गति से कार्य करता है। इसकी गति LPM (Line Per Minute) में मापी जाती है। यह एक समय में पूरी पंक्ति को पेपर पर छाप सकता है।

Line Printer निम्न Types की होती है।

  1. Drum Printer
  2. Chain Printer
  3. Band Printer

चलिए इन्हें भी विस्तार से जानते हैं।

1. ड्रम प्रिंटर क्या है? (Drum Printer in Hindi)

Drum Printer में बेलनाकार ड्रम लगा होता है। इस ड्रम पर विभिन्न अक्षर उभरे हुए होते हैं। Printing के दौरान यह ड्रम तेज गति से घूमता है। जब Printing Paper के सही स्थान पर अक्षर पहुंचता है। तब Printer के Print Hammer या Print Head के द्वारा प्रहार होता है। जिससे पेपर Ink Ribon से टकराता है। जिसके फलस्वरूप अक्षर अपना छाप छोड़ देता है और इसी तरह इससे Printing की जाती है। यह Line Printer है और एक समय में पूर्ण पंक्ति छाप सकता है। इसकी Printing Speed 300 से 2000 Line प्रति मिनट होता है।

2. चैन प्रिंटर क्या है? (Chain Printer in Hindi)

इस Printer में तीव्र गति से घुमने वाली चेन लगा रहता है। इसलिए इसे चैन प्रिंटर कहा जाता है। चेन के हरेक जोड़ पर विभिन्न अक्षर उभरे होते हैं। जब चेन घुमते हुए सही अक्षर को निश्चित स्थान तक पहुंचा देता है। तब Printer का Print Hammer से प्रहार किया जाता है। जिसके कारण अक्षर पेपर पर अपना छाप छोड़ देता है। क्योंकि पेपर Hammer और Ink Ribon के बीच होता है।

3. बैंड प्रिंटर क्या है? (Band Printer in Hindi)

Band Printer में Steel का पट्टा लगा रहता है। इस Steel के पट्टे पर विभिन्न अक्षर उभरे हुए होते हैं। यह भी Line Printer है। जो Chain Printer के समान कार्य करता है। बस अंतर इतना है कि Chain Printer में चेन लगा होता है। जबकि Band Printer में Steel का पट्टा होता है। इस Printer से भी एक बार में पूरी पंक्ति Print होती है।

2. नॉन इंपैक्ट प्रिंटर क्या है? (What is Non-Impact Printer in Hindi)

वह Printer जिससे Printing के लिए Ink Ribon पेपर के ऊपर प्रहार नहीं करता है, वह Non-Impact Printer कहलाता है। जैसा कि अब आपको पता चल गया होगा कि Non-Impact Printer बिलकुल उल्टा होता है Impact Printer के। क्योंकि Impact Printer में Ink Ribon पेपर पर प्रहार कर के Printing करता था। लेकिन इसमें उसका प्रयोग नहीं होता है। Non-Impact Printer में Printing के लिए किसी Spray या इलेक्ट्रॉनिक तकनीक का प्रयोग किया जाता है। Non-Impact Printer के द्वारा उच्च गुणवत्ता वाले अक्षर व ग्राफिक्स का Printing कर सकते हैं। यह Impact Printer से महंगे भी होते हैं। Non-Impact Printer का निम्नलिखित उदाहरण है।

  1. Laser Printer
  2. Photo Printer
  3. Inkjet Printer
  4. Portable Printer
  5. Multi Functional Printer
  6. Thermal Printer

चलिए इन्हें भी विस्तार से जानते हैं।

1. लेजर प्रिंटर क्या है? (Laser Printer in Hindi)

Laser Printer Printer का एक प्रमुख प्रकार है। जिसे की Non-Impact Printer के अंतर्गत वर्गीकृत किया जाता है। यह Printer आजकल सर्वाधिक लोकप्रिय है। क्योंकि यह Printer High Quality Characters और Graphics अपेक्षाकृत तेजी से छापने में सक्षम होता है। इसका उपयोग लगभग 1970 के दशक से होता आ रहा है। इस Printer में Photocopier Technology का उपयोग कर Printing होता है।

2. फोटो प्रिंटर क्या है? (Photo Printer in Hindi)

Photo Printer एक रंगीन प्रिंटर है। जो Lab की Quality Photo Paper पर छापते हैं। इसका उपयोग Documents Print करने के लिए किया जा सकता है। इन Printers के पास अधिक संख्या में नॉजेल होता है। कुछ Photo Printer में Media Card Reader भी होता है।

3. इंकजेट प्रिंटर क्या है? (Inkjet Printer in Hindi)

Inkjet Printer भी आजकल बहुत ज्यादा इस्तेमाल होता है। यह Printer Ink की Tiny Drops को Spray कर पेपर पर Characters और Graphics को Printing करता है। Ink Drops को Spray करने के लिए Ink Cartridge का उपयोग किया जाता है। Cartridge में Ink को संग्रहित रखा जाता है। कई प्रकार के रंगो से Documents Print करने के लिए Cartridge होता है। Inkjet Printer उच्च गुणवत्ता वाले चित्र बनाने सक्षम होता है। साथ ही यह अन्य से सस्ता होता है।

4. पोर्टेबल प्रिंटर क्या है? (Portable Printer in Hindi)

वह Inkjet या Thermal Printer जो छोटे व कम वजन वाले होते हैं, पोर्टेबल प्रिंटर कहलाते हैं। इसे लेकर यात्रा किया जा सकता है। इसके जरिए आप यात्रा के समय कभी भी लैपटॉप से Print निकाल सकते हैं। यह इतना छोटा होता है कि यह ढोने व कहीं ले जाने में आसान और सहज होता है। लेकिन यह सामान्य Inkjet के मुकाबले महंगे होते हैं। इसकी Printing गति भी धीमी होती है।

5. मल्टी फंक्शनल प्रिंटर क्या है? (Multi Functional Printer in Hindi)

ऐसा Printer जिसके जरिए किसी Documents को Print करने के अलावा Scan और Fax करने की सुविधा होती है, Multi Functional Printer कहलाता है। इसे Multi Functional Device भी कहा जाता है। यह एक ऐसा Device होता है। जिसके द्वारा कई Device के कार्य किए जा सकते हैं। इस तरह के Printer में Laser या Inkjet तकनीक का प्रयोग होता है। इसे All in One Printer भी कहते हैं।

6. थर्मल प्रिंटर क्या है? (Thermal Printer in Hindi)

Thermal Printer में ऐसी तकनीक का इस्तेमाल होता है। जो Wax आधारित Ribon के जरिए अक्षर Print किया जाता है। इस Printer से किया गया Print ज्यादा देर तक नहीं रहता है। कुछ समय बाद खुद व खुद Print मिट जाता है। इस तरह का Printing Machine का इस्तेमाल ATM या अन्य Receipt बनाने के लिए होता है।

Printer संबंधित प्रश्न और उत्तर (FAQ)

वैसे तो ऊपर हमने Printer संबंधित सब कुछ बता दिया है। अगर आप ऊपर के लेख को अच्छे से पढ़ा होगा। तब Printer संबंधित सभी प्रश्नों का उत्तर आपको मिल गया होगा। लेकिन फिर भी यहाँ हम कुछ महत्वपूर्ण प्रश्नों का संक्षिप्त उत्तर लिख रहे हैं।

1. Printer किसे कहते हैं? (Printer Kya Hai in Hindi)

जिसके द्वारा हम इलेक्ट्रॉनिक प्रति (Soft Copy) का कागजी प्रति (Hard Copy) निकालते हैं, उसे Printer कहते हैं। हमलोग Documents का Print या Photo Copy इसी मशीन से निकालते हैं। आप भी Aadhar Card, Voter ID Card, Marksheet वगैरह का Print जरुर कभी न कभी निकलवाएं होंगे।

2. Printer का Full Form (Printer Full Form in Hindi)

इस तरह का प्रश्न लोग अक्सर पूछते हैं कि Printer का Full Form क्या होता है। शायद आप भी Printer का Full Form जानना चाहते होंगे। लेकिन क्या Printer का Full Form होता है? नहीं! Printer का कोई Full Form नहीं होता है। यह खूद पूरा नाम है। वह यंत्र या मशीन जो Print निकालता है, Printer कहलाता है।

3. Printer का कार्य (Function of Printer in Hindi)

वो सब तो ठीक है, लेकिन Printer का क्या काम है। क्या आपको पता है कि Printer क्या काम करता है, Printer का कार्य क्या है। अगर आपने इस लेख को अच्छे से पढ़ा होगा। तब आप अच्छे से जाने गये होंगे कि Printer का क्या कार्य है। लेकिन फिर भी हम दोबारा आपको बता देते हैं कि Printer का कार्य Print निकालना होता है। Computer में जो Digital Data होता है। उसे कागज पर Print करने का काम Printer करता है।

4. Printer का उपयोग (Use of Printer in Hindi)

Printer का उपयोग बहुत पहले से हो रहा है। पहले इसका उपयोग Mainframe Computer के साथ किया जाता था। आजकल Laser Printer अधिक लोकप्रिय प्रिय है। वर्ष 1980 में इस Printer का कीमत लगभग 3000 डॉलर था। इसकी गुणवत्ता और स्पीड दोनो बाकी Printers की मुकाबले अच्छी होती है। Printers का उपयोग मुख्य रूप से छपाई करने के लिए होता है। आजकल All in One Printer भी आ रहे हैं। जिसमें Scanner का गुण भी होता है। यानी इस तरह के Printer का उपयोग Scanning और Printing दोनो कार्यों के लिए कर सकते हैं।

5. Printer का आविष्कार किसने और कब किया?

Computer Printer का इतिहास ज्यादा पुराना भी नहीं है। यह लगभग वर्ष 1938 के आसपास शुरू हुआ था। जब Chester Carlson नामक व्यक्ति ने Printer Device का खोज किया था। जिसका नाम Electrophotography रखा था।

6. Printer क्या है Hardware या Software

चूँकि Printer एक उपकरण है। इसलिए यह Hardware होगा। Computer के सभी उपकरण Hardware होता है। अगर आपने Printer को देखा है फिर भी इस तरह का प्रश्न आपके मन में आ रहा है। तब इसका मतलब है कि आपको Hardware और Software की जानकारी नहीं है। इसलिए सबसे पहले आपको Hardware और Software की पूरी जानकारी प्राप्त कर लेनी चाहिए।

जरुर पढ़ें:-

7. Printer क्या है Output या Input

चूँकि Printer के जरिए हमें Output प्राप्त होता है। इसलिए यह Output Device होगा। Output का मतलब है कि Computer कुछ परिणाम दे रहा है। Printer के जरिए Output Printed Form में प्राप्त होती है।

जरुर पढ़ें:-

Conclusion – Printer in Hindi

इस लेख में हमने Computer Printer की पूरी जानकारी बताया है। जिसमें बताया कि Printer क्या है, Printer के प्रकार, Printer की परिभाषा इत्यादि। उम्मीद करते हैं कि यह लेख आपको पसंद आया होगा और कुछ नया जानने को जरुर मिला होगा। यह प्रभावशाली लेख आपको कैसा लगा हमें जरुर बताए। अगर कुछ पूछना चाहते हैं। तब कमेंट के जरिए बेझिझक पूछ सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to top