Menu Close

Modem क्या है? इसकी परिभाषा, प्रकार और कार्य

Modem क्या है? – Modem से आप क्या समझते हैं? क्या आपने पहले कभी Modem का नाम सुना था। आपने इंटरनेट का नाम जरूर सुना होगा। सुना क्या, आप इंटरनेट का इस्तेमाल भी किए होंगे। आप इस लेख को पढ़ पा रहे हैं। तो यह सिर्फ और सिर्फ इंटरनेट के कारण संभव हुआ है। आज इंटरनेट लगभग सभी के घर में उपयोग किया जाता है। अगर आपके पास स्मार्टफोन है। लेकिन उसमें इंटरनेट कनेक्शन नहीं है। तो स्मार्टफोन का कोई मतलब नहीं बनता है। आज इंटरनेट इतना लोकप्रिय हो चुका है कि इसका परिचय देने की आवश्यकता नहीं है। इसके बारे में सभी को पता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि इंटरनेट कैसे बना है? इंटरनेट का निर्माण कैसे हुआ है।

• Ad

आपके जानकारी के लिए बता दे कि इंटरनेट एक प्रकार का कंप्यूटर नेटवर्क है। दुनिया का सबसे बड़ा कंप्यूटर नेटवर्क। जब दो या दो से अधिक कंप्यूटर को आपस में संचार करने के लिए जोड़ा जाता है। तब कंप्यूटर नेटवर्क का निर्माण होता है। वहीं दुनियाभर के कंप्यूटर को आपस में जोड़ते हैं। तब उस नेटवर्क को इंटरनेट कहते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि दुनियाभर के कंप्यूटर को आपस में जोड़ने के लिए कौन-से तकनीक का इस्तेमाल किया जाता है। कैसे दो या दो से अधिक कंप्यूटर को आपस में जोड़ा जाता है। सामान्यत कंप्यूटर्स को आपस में जोड़ने के लिए कई तरह के तकनीक का इस्तेमाल किया जाता है। जिसमें बहुत सारे Device का उपयोग होता है। जैसे; Modem, Router, Hub, Switch, Gateway, Ethernet Cable इत्यादि।

इन सभी Device को Network Device कहा जाता है। जिसमें Modem एक महत्वपूर्ण Network Device है। अगर आप Computer Science के Student हैं। या फिर आप Computer अथवा Computer Network के फिल्ड में अपना Career बनाना चाहते हैं। तब आपको Modem के बारे में पता होना चाहिए। वैसे तो एक Smart Computer User को भी Modem के बारे में पता होना चाहिए। क्योंकि Modem कंप्यूटर नेटवर्क से संबंधित एक महत्वपूर्ण Device है। इसलिए अगर आपको भी Modem के बारे में जानकारी नहीं है। तब इस लेख को अंत तक जरूर पढ़िए। क्योंकि इस लेख में हमने Modem की पूरी जानकारी बताया है। वो भी विस्तार से तो देर किस बात की चलिए जानते हैं कि Modem क्या है?

विस्तार से जाने:-

Modem क्या है? (What is Modem in Hindi)

• Ad

Modulator-Demodulator को संक्षेप में Modem कहा जाता है। Modem एक Networking Device है। जिसे Computer Network में Digital Signal को Modulate कर Analog Signal तथा प्राप्त Analog Signal को Demodulate कर Digital Signal में बदलने के लिए प्रयोग किया जाता है। क्योंकि किसी Transmission Media के माध्यम से Computer या अन्य आंकिक मशीन के साथ संचार स्थापित करने के लिए यह एक महत्वपूर्ण युक्ति होता है। क्योंकि Transmission Media Analog Signal को Transmit करती है। जबकि Computer Digital Signal को समझती है।

Digital Signal कंप्यूटर या अन्य सभी मशीनों की मातृभाषा है। इसे मशीनी भाषा (Machine Language) कहते हैं। यह और कुछ नहीं सिर्फ बंद (On) और चालू (Of) का संकेत मात्र है। जिसे सभी मशीनें समझती है और इसी के आधार पर कार्य करती है। जबकि Analog Signal एक निरंतर तरंग है। जो एक समय अवधि में बदलता रहता है। इसीलिए यहाँ Modem का इस्तेमाल किया जाता है। जो Computer और Transmission Media के साथ तालमेल बैठाता है और Computer या Router को ब्रॉडबैंड नेटवर्क से जोड़ता है। उदाहरण के लिए आप इंटरनेट को देख सकते हैं। इंटरनेट दुनिया का सबसे बड़ा कंप्यूटर नेटवर्क है। आज हम सभी इंटरनेट का उपयोग कर बहुत कुछ करते हैं।

यह और कुछ नहीं सिर्फ दुनियाभर के Electronic Device जैसे; Computer, Smartphone, Server, Gaming Console, SmartTV और SmartWatch इत्यादि को टेलीफोन या केबल लाइन की मदद से आपस में जोड़ा गया एक बहुत बड़ा जाल है। इसीलिए तो इंटरनेट को हिंदी में अंतर्जाल कहते हैं। चूँकि टेलीफोन लाइन Analog Signal को Transmit करती है। लेकिन Computer सिर्फ Digital Signal समझता है। इसलिए इंटरनेट से जुड़ने के लिए भी Modem की आवश्यकता होती है। अगर आप अपने कंप्यूटर से इंटरनेट Access करना चाहते हैं। तब इसी तरह आपको भी एक Modem की आवश्यकता होगी।

उदाहरण –

  1. जैसा कि आपको पता होगा कि सभी वेबसाइट एक HTML Documents होता है। जो कि किसी Server पर संग्रहित (Store) होता है और वह Server हमेशा इंटरनेट से जुड़ा रहता है। ताकि वेबसाइट हमेशा इंटरनेट पर Live रहे।
  2. वेबसाइट को Open करने के लिए वेब ब्राउजर का इस्तेमाल होता है। जब हम उस वेबसाइट को अपने कंप्यूटर में Open करते हैं। तब वेब ब्राउजर सबसे पहले Server को एक Request भेजता है। जिसपर वेबसाइट Store है।
  3. यह Request Digital Format या Digital Signal में होता है। जिसे Modem Analog Signal में Modulate या बदल देता है। उसके बाद यह Analog Signal टेलीफोन या केबल लाइन से होते हुए Server के पास पहुंचती है।
  4. लेकिन Server भी एक Computer होता है। इसलिए यह Analog Signal को नहीं समझ सकता है। इसलिए इसके पास भी एक Modem होता है। जो प्राप्त Analog Signal को Demodulate कर के Server को भेजता है।
  5. चूँकि Server भी एक Computer है। इसलिए यह Digital Signal को समझता है। जिसके बाद वही Process दोबारा होता है और टेलीफोन या केबल लाइन से होते हुए वेबसाइट का डेटा हमारे कंप्यूटर तक पहुंचता है। जिसे वेब ब्राउजर दिखाता है।

कुछ इसी तरह एक कंप्यूटर नेटवर्क में Modem अपना महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। चलिए अब जानते हैं कि Modem का Full Form क्या होता है? क्या आपको पता है…

इसे भी पढ़िए:-

Modem का पूरा नाम क्या है? (Modem Ka Full Form in Hindi)

क्या आप जानते हैं कि Modem का नाम आखिर Modem ही क्यों है। चूँकि आप जानते हैं कि Modem एक Network Device है। जो Computer Network में Modulation और Demodulation का कार्य करता है। इसीलिए इसका नाम Modem रखा गया है। क्योंकि Modem का पूरा नाम Modulator और Demodulator होता है। MO से Modulator और DEM से Demodulator

  • MO – Modulator
  • DEM – Demodulator

Modem की परिभाषा (Modem Definition in Hindi)

Computer Network की वह युक्ति जिसके द्वारा Modulation और Demodulation की क्रिया होती है। Modem कहलाता है। Modem को हमेशा टेलीफोन लाइन और कंप्यूटर के मध्य लगाना होता है। यह डाटा प्रेषित और प्राप्त दोनो करता है। इसलिए इसे Input Output (I/O) Device के अंतर्गत रखा जाता है।

अर्थात Modem एक Network Device है। जो किसी Computer Network में Modulation और Demodulation की प्रक्रिया करता है। जब Digital Signal को Analog Signal में बदला जाता है। तब इस प्रक्रिया को Modulation तथा Analog Signal को Digital Signal में बदलना Demodulation कहलाता है। Computer Network इसी Modulation-Demodulation की प्रक्रिया के आधार पर Digital Signal को Analog और Analog को Digital में बदलता है। चूँकि यह Data को भेजता भी है और प्राप्त भी करता है। इसलिए इसे Input Output (I/O) Device कहते हैं।

Modem के प्रकार (Types of Modem in Hindi)

Modem मुख्य रुप से तीन प्रकार के होते हैं। जो कि निम्नलिखित है।

  1. External Modem
  2. Internal Modem
  3. Fax Modem

चलिए Modem के प्रकार को विस्तार से जानते हैं।

1. External Modem क्या है?

External Modem एक Box जैसा होता है। जिसमें Data को Modulate व Demodulate करने के लिए जरूरी Equipment लगे होते हैं। यह Computer System के बाहर स्थित होता है। इसीलिए इसे बाह्य मॉडेम या External Modem कहते हैं। यह Computer System से एक Serial Port, Universal Serial Bus या Firewire Port की मदद से जुड़ा होता है। साथ ही यह Telephone Line से जुड़ा होता है। इसमें कई छोटे-छोटे LED Lights लगे होते हैं।

जो Modem को ON/OF और Network Connection आदि स्थिति को प्रदर्शित करते हैं। इसे शुरुआती Modem के रूप में जानते हैं। क्योंकि इंटरनेट के शुरुआती दौर में External Modem का ही उपयोग किया जाता था। यह अन्य Modem से सस्ता और Electronic Shop पर आसानी से मिल जाता है। जहाँ Internal Modem नहीं होते हैं। लेकिन उसे Network से Connect करने की आवश्यकता होती है। वहाँ External Modem की उपयोगी होती है। External Modem को एक System से अलग कर दूसरे System में आसानी से लगा सकते हैं।

2. Internal Modem क्या है?

Internal Modem एक Curcuit Board होता है। जो Computer अथवा Laptop के अंदर पहले से ही लगा होता है। यह System के Expansion Slot में स्थित होता है। जो System को किसी Network अथवा अन्य Computer के साथ संचार स्थापित करने के लिए सक्षम बनाता है। Internal Modem का लाभ है कि यह अलग से External Modem की तरह कोई जगह नही घेरता है और न ही इसे अलग से Electricity Connection की आवश्यकता होती है। Internal Modem दो तरह के हो सकते हैं। Dial-Up और WiFi

3. Fax Modem क्या है?

Fax Modem का उपयोग Fax की सूचना का आदान-प्रदान करने के लिए किया जाता है। इससे आप अपने Computer से Fax भेज सकते हैं और साथ में Fax प्राप्त भी कर सकते हैं। अर्थात इस Modem का प्रयोग कर हम अपने Computer को Fax मशीन की तरह इस्तेमाल कर सकते हैं।

Modem के कार्य (Functions of Modem in Hindi)

सामान्यतः Modem का कार्य केबल लाइन की मदद से Computer को अन्य Computer अथवा Computer Network (जैसे; इंटरनेट) से जोड़ना होता है। ताकि आपस में संचार कर सके। लेकिन एक Modem का कार्य Computers को आपस में Connect करने के अलावा Digital Signal को Analog और Analog Signal को Digital Signal में बदलना भी होता है। ऐसा इसलिए करता है क्योंकि Computer सिर्फ Digital Data को समझता है। इसलिए यह Digital Data उत्पन्न करता है। लेकिन टेलीफोन लाइन Digital Data के बजाय Analog Data को Transmit करती है। ऐसे में एक ऐसे युक्ति की आवश्यकता होती है। जो Digital को Analog में बदल सके। जिसकी पूर्ति Modem से होती है। यह Digital Data को Analog में बदलता है तथा प्राप्त होने वाले Analog Data को पुनः Digital Data में बदलकर Computer को देता है। इस तरह एक Network में Modem का कार्य महत्वपूर्ण होता है।

Modem कैसे काम करता है? (How Modem Works in Hindi)

लेकिन क्या आप जानते हैं कि यह कार्य कैसे करता है। यह कैसे Digital को Analog और Analog को Digital Format में बदलता है। आपके जानकारी के लिए बता दें कि Modem में दो महत्वपूर्ण भाग होते हैं। Modulator और Demodulator

जैसा कि नाम से ही समझ गए होंगे। Modulator Digital Data को Analog में Modulate करता है। ताकि टेलीफोन लाइन में Data Travel कर के अपने गंतव्य स्थान तक पहुंच सके। Digital Data को Analog में बदलने की प्रक्रिया को Modulation कहा जाता है। इस प्रक्रिया में Digital Data को Analog में बदला जाता है। Demodulator Analog Data को Digital Data में Demodulate करता है। ताकि प्राप्त Data को Computer समझ सके। इस प्रक्रिया को Demodulation कहा जाता है। जिसमें Analog Data को Digital Data में बदला जाता है। कुछ इस तरह Modem अपना कार्य Modulation और Demodulation को Modulator और Demodulator की सहायता करता है।

Modem का आविष्कार किसने किया? (Who Invented The Modem in Hindi)

क्या आप यह सोच रहे हैं कि Modem का आविष्कार किसने किया था। तो चलिए हम आपको बताते हैं कि Modem का आविष्कार कब और किसने किया था। आपको बता दें कि सन् 1962 में Bell 103 ने AT&T Corporation द्वारा पहला Modem बनाया गया था। यह Modem सामान्य फोन लाइनो पर 300 bit/sec की गति प्रदान किया था। इसके बाद सन् 1996 में 56K Modem का आविष्कार हुआ। इस Modem की गति 56000 bit/sec था।

Modem संबंधित प्रश्न और उनके उत्तर (FAQ)

1. Modem किसे कहते हैं?

Computer Network का वह उपकरण जो Digital Signal को Analog Signal तथा Analog Signal को Digital Signal में बदलता है। उसे Modem कहते हैं।

2. Modem कितने प्रकार के होते हैं?

Modem को विशेषता और आकार के आधार पर कई प्रकार में बांटा जाता है। लेकिन मुख्य रूप से Modem को तीन प्रकार में बांटते हैं। जिसकी जानकारी हमने ऊपर बता दिया है।

3. Modem कौन-सा Device है?

आमतौर पर Modem को Network Device या Networking Device कहते हैं। क्योंकि यह एक महत्वपूर्ण Networking Device है। आपके जानकारी के लिए बता दे कि यह न तो सिर्फ Input Device है और न ही Output Device है। बल्कि यह दोनो का मिश्रण है। इसलिए इसे Input Output (I/O) Device कहते हैं।

4. Modem का उद्देश्य क्या है?

एक Modem का उद्देश्य किसी Computer या Router को ब्रॉडबैंड नेटवर्क के साथ जोड़ना होता है। साथ ही यह Modulation-Demodulation की प्रक्रिया भी करता है।

5. Modem का उपयोग क्या है?

Modem का उपयोग Computer या Router को ब्रॉडबैंड नेटवर्क से जोड़ने के लिए किया जाता है। साथ ही यह Digital Signal को Analog और Analog Signal को Digital Signal में भी बदलता है।

6. किसी Modem की गति को किस इकाई में मापा जाता है?

Modem की गति को bps या kbps में मापा जाता है।

7. Modulator और Demodulator को संयुक्त रुप से जाना जाता है?

Modulator और Demodulator को संयुक्त रुप से Modem के नाम से जाना जाता है।

जरुर पढ़ें:-

Conclusion – Modem in Hindi

अगर आप Computer के फील्ड से हो। तब आपको Modem के बारे में अक्सर सुनने को मिलता होगा। लेकिन शायद ही किसी को Modem की जानकारी होती है। इस लेख में हमने Modem की पूरी जानकारी बताने की कोशिश किया है। उम्मीद है कि यह लेख भी आपको पसंद आया होगा। अगर आपको Modem से संबंधित कुछ पूछना है। तो कमेंट के माध्यम से पूछ सकते हैं। यह लेख आपको कैसा लगा? बताना न भूलें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.