रोग प्रतिरोधक क्षमता कैसे बढ़ाएं?

रोग प्रतिरोधक क्षमता (Immune System) लगभग सभी उन्नत जीवों जैसे हरेक पौधे और जानवरों में होती है। रोग प्रतिरोधक क्षमता के कई Soldier जीवों को बीमारियों से बचाते हैं। यह हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण होते हैं।

रोग प्रतिरोधक क्षमता शरीर को सभी रोगों से लड़ने में मदद करता है। यह हमारे शरीर को खतरनाक वायरसों से बचाता है। इसलिए लोग रोग प्रतिरोधक क्षमता पर ज्यादा ध्यान दे रहें हैं।

यदि किसी की रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर है तो उसे हमेशा बीमारियों का सामना करना पड़ता है। और जल्दी बीमारी को ठीक भी नहीं कर पाता है। ऐसे में हमें रोग प्रतिरोधक क्षमता पर ज्यादा ध्यान देना चाहिए।

हम रोग प्रतिरोधक क्षमता को खाद्य पदार्थ और कुछ व्यायाम व योगा की मदद से बढ़ा सकते हैं। इस लेख के माध्यम से रोग प्रतिरोधक क्षमता कैसे बढ़ाएं की जानकारी साझा कर रहे हैं। इसके पहले रोग प्रतिरोधक क्षमता क्या होता है यह जानना बेहद जरूरी है।

रोग प्रतिरोधक क्षमता क्या है?

रोग प्रतिरोधक क्षमता शरीर की एक अंदरूनी प्रक्रिया है। जो शरीर को रोगों से लड़ने में मदद करता है। यह एक Soldier का कार्य करता है। यह बैक्टीरिया और वायरस से शरीर की सुरक्षा करता है।

रोग प्रतिरोधक क्षमता में खराबी आने से बैक्टीरिया और वायरस जैसे जीवाणु शरीर में प्रवेश कर जाते हैं। रोग प्रतिरोधक क्षमता में खराबी को इम्यूनोडेफिशिएंसी कहते हैं। इम्यूनोडेफिशिएंसी किसी जेनेटिक बीमारी के कारण या दवाओं या इन्फेक्शन के कारण हो सकता है।

रोग प्रतिरोधक क्षमता के अध्यनन को प्रतिरक्षा विज्ञान कहा जाता है। इसके अध्ययन में रोग प्रतिरोधक क्षमता संबंधी सभी छोटे-बड़े कारणों की जांच की जाती है। प्रतिरक्षा विज्ञान में खोज और शोध निरंतर जारी हैं एवं इससे संबंधित ज्ञान में निरंतर बढोत्तरी होती जा रही है।

रोग प्रतिरोधक क्षमता कैसे बढ़ाएं?

रोग प्रतिरोधक क्षमता क्या है? यह हमने जान लिया और यह सभी जीवों के लिए कितना जरूरी है यह भी जान लिया है। अब रोग प्रतिरोधक क्षमताा को कैसे बढ़ाा सकते हैं यह जानने वाले हैं

खाद्य पदार्थ से रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाएं।

सही खाद्य पदार्थ की मदद से रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ा सकते हैं। यहाँ कुछ खाद्य पदार्थ दिए गए हैं। जिसके सेवन से रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाया जा सकता है।

1. हल्दी

हल्दी antioxidant गुणों से भरपूर होता है। इसलिए हल्दी भी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने वाले खाद्य पदार्थो में से एक है। इसके अलावा हल्दी में curcumin नामक तत्व होता है। जो शरीर के रक्त में शुगर को नियंत्रित करता है।

2. अदरक

अदरक रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए एक अच्छा खाद्य पदार्थ है। यह खुन में कोलेस्ट्रॉल को भी कम करता है। अदरक में Gingerol नामक तत्व पाया जाता है। जो शरीर के नशो को रिलैक्स करता है। अदरक शरीर को रोगों से लड़ने में मदद करता है।

3. लहसुन

लहसुन रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने वाले खाद्य पदार्थो में से एक है। लहसुन antioxidant से भरपूर होता है। जो शरीर को कई प्रकार की रोगों से लड़ने की शक्ति देता है। इसके अलावा लहसुन में allicin भी होता है। जो शरीर में होने वाले कई प्रकार की संक्रमण और बैक्टीरिया से लड़ने में मदद करता है। लहसुन का सेवन जेनेटिक बीमारी से भी बचाता है।

4. बादाम

बादाम में विटामिन इ होता है। विटामिन इ रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने वाले ग्रुप में से एक हैं। विटामिन इ में antioxidant होता है जो शरीर को रोगों से लड़ने में मदद करता है।

5. ग्रीन टी

ग्रीन टी antioxidant गुणों से भरपूर होता है। जिससे इसका उपयोग वजन और मोटापे कम करने तथा रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में किया जाता है। इसके अलावा इसमें polifenol उपस्थित होता है। जो शरीर को रोगों से लड़ने के लिए मजबूत बनाता है।

6. पपीता

विटामिन सी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में अपनी अहम भूमिका निभाता है। विटामिन सी की कमी से शरीर रोगों से लड़ने में असमर्थ हो जाता है। पपीता में विटामिन सी प्रचुर मात्रा में होता है।

7. पालक

पौष्टिक तत्वों से भरपूर इस पत्तेदार सब्जी में फोलेट नामक तत्व पाया जाता है। इसमें आयरन, फाइबर, एंटीऑक्सीडेंट तत्व और विटामिन सी भी मौजूद होते हैं। जो शरीर को हर तरह से स्वस्थ बनाए रखते हैं तथा रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ाते हैं।

8. दही

दही में कई तरह के बैक्टीरिया और पोषक तत्व भी होते हैं। जो शरीर को रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मददगार साबित होते हैं। दही में कई प्रकार के विटामिन, प्रोटीन के अलावा लैक्टोज, कैल्शियम, फॉस्फोरस और आयरन समेत अनेक खनिज तत्व होते हैं।

9. मिर्च

शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए मिर्च का इस्तेमाल भी फायदेमंद साबित होता है। मिर्च में मौजूद बीटा कैरोटीन शरीर में विटामिन ए में बदल जाता है। जो कई तरह के वायरस से लड़ने की शक्ति प्रदान करता है।

10. पत्तेदार सब्जियाँ

पत्तेदार सब्जियां या फिर सलाद जैसे खाद्य पदार्थों का सेवन जरूर करें। इनसे प्राप्त होने वाले एंजाइम्स आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाते हैं। पत्तेदार सब्जियाँ और भी बहुत तरह का पोषण प्रदान करते हैं।

11. विटामिन सी

संतरा, नीबू, चकोतरा और अनन्नास जैसे खट्टे और रसीले फलों में विटामिन सी की भरपूर मात्रा पाया जाता है। ये हर तरह के संक्रमण से लड़ने के लिए सहायक होती है। इनके सेवन से एंटी बॉडीज कोशिकाओं की सतह पर एक लेयर बना देती है। जो शरीर के भीतर किसी भी तरह के वायरस को आने से रोकती है। इसलिए भोजन में रोजाना किसी न किसी खट्टे फल को शामिल जरूर करना चाहिए। इससे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता भी सक्रिय होती है।

व्यायाम व योगा की मदद से रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाएं।

व्यायाम और योगा भी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने का एक अच्छा तरीका है। इसमें कुछ योग की मदद से रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाया जा सकता है।

त्रिकोणासन

त्रिकोणासन का अभ्यास करना सुबह के वक्त सबसे अच्छा है। यह आसन एकाग्रता और संतुलन को बढ़ाता है। यह मन को शांत करता है और तनाव दूर ले जाता है।

पादंगुष्ठासन

पादंगुष्ठासन आसन को सुबह के समय कम से कम 30 सेकंड के लिए खाली पेट करना चाहिए। यह आसन तनाव और चिंता से राहत देता हैI इससे पाचन में सुधार होता है।

वृक्षासन

इस आसन में शरीर की स्थिति एक वृक्ष के समान होती है इसलिए इसे वृक्षासन कहते हैं। वृक्षासन आपकी रीढ़ की हड्डी को मजबूत मानसिक क्षमताओं को सुधारता है। इस आसन में आँखें खुली रखनी होती है।

ताड़ासन

इस आसन को दिन में कभी भी किया जा सकता है। इस आसन को 10 से 20 सेकंड तक किया जाता है। यह आसन खाली पेट किया जाता है। यह आसन पाचन तंत्र को सुचारू कर प्रतिरोधक क्षमता को बढाता है।

उत्कटासन

उत्कटासन में कुर्सी पर बैठने की स्थिति में होता है। यह आसन सुबह के वक्त खाली पेट किया जाना चाहिए। यह आपके शरीर को संतुलित करता है।

व्यायाम स्वस्थ जीवन शैली के लिए बेहद जरूरी है। यह ब्लड प्रेशर, वजन घटाने और विभिन्न प्रकार के रोगो से लड़ने में भी मदद करता है। इन सभी के अलावा रोज व्यायाम कर के रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ा सकते हैं।

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए उपयोगी टिप्स

रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए यहाँ कुछ सुझाव दिए गये हैं। इन्हें फॉलो जरुर करें यह रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में बहुत कारगर है।

  1. स्वस्थ जीवन शैली अपनायें।
  2. रोज व्यायाम करें।
  3. तनाव ना करें।
  4. संतुलित आहार का सेवन करें।
  5. नींद पूरी लें।

ये भी पढ़ें:-

  1. अंग्रेजी सीखाने वाली टॉप 10+ ऐप
  2. Martial Art क्या है? कैसे सीखें?
  3. PhD क्या है? पूरी जानकारी

तो ये थे कुछ तरीके जिससे रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाया जा सकता है। आशा करता हूँ रोग प्रतिरोधक क्षमता कैसे बढ़ाएं? की जानकारी पसंद आया हो। इस लेख से जुड़े अपने विचार कमेंट के माध्यम से साझा कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to top
error: Content is protected !!