HTTP और HTTPS क्या है तथा दोनो में अंतर क्या है?

नमस्कार दोस्तो! आज इस लेख में HTTP और HTTPS की चर्चा करने वाले हैं। आप HTTP और HTTPS को जरूर देखें होंगे। HTTP और HTTPS सभी ब्लॉग और वेबसाइट में होता है।

ये होते क्या हैं, इनका काम क्या होता है और आखिर यह सभी ब्लॉग और वेबसाइट में क्यों होते है। ये प्रश्न जरूर आया होगा और शायद इसलिए आज इस लेख को पढ़ भी रहें हैं।

इस लेख में HTTP और HTTPS क्या है दोनो के बीच क्या अंतर होता है जानेंगे। यदि आप इन प्रश्नों के जानने के इच्छुक हैं तो इस लेख को अंत तक जरूर पढ़ें। तो चलिए शुरू करते हैं।

HTTP और HTTPS क्या है?

आप किसी ब्लॉग और वेबसाइट में HTTP को देखा होगा तो किसी में HTTPS तो आखिर ये दोनो क्या होता है। तो चलिए जानते हैं

1. HTTP

HTTP का पूरा नाम Hyper Text Transfer Protocol होता है। यह एक प्रकार का नेटवर्क प्रोटोकॉल होता है। जिसका इस्तेमाल वेबसाइट में वर्ल्ड वाइड वेब (WWW) के आगे होता है।

इसका काम उपयोगकर्ता को सर्वर के बीच संबंध स्थापित करना होता है। जिससे उपयोगकर्ता और सर्वर के बीच सूचनाओं का आदान-प्रदान हो सके। इसके द्वारा सूचनाओं का आदान-प्रदान सामान्य माध्यम से होता है।

जिसे कोई भी हैकर इन सूचनाओं की चोरी कर सकता है। इस वजह से यह प्रोटोकॉल पुरी तरह से सुरक्षित नहीं होता है। इसलिए इस प्रोटोकॉल का उपयोग करने वाले वेबसाइट पर अपनी किसी प्रकार की गोपनीय जानकारी का प्रयोग नहीं करना चाहिए।

2. HTTPS

HTTPS का पूरा नाम Hyper Text Transfer Protocol Secure होता है। यह भी एक प्रकार का नेटवर्क प्रोटोकॉल ही है। जिसका इस्तेमाल वेबसाइट में वर्ल्ड वाइड वेब (WWW) के आगे होता है।

HTTPS भी HTTP का ही कार्य करता है। परन्तु HTTPS पूरी तरह से सुरक्षित होता है। जैसा की इसके पूरी नाम से ही पता चलता है। यह उपयोगकर्ता और सर्वर के बीच सामान्य माध्यम के बजाय एन्क्रिप्शन के द्वारा कार्य करती है।

एन्क्रिप्शन की वजह से सुचना को गुप्त तरीके से आदान-प्रदान किया जाता है। जिसे सभी पढ़ या समझ नहीं सकते हैं। जिसकी वजह से वेबसाइट सुरक्षित हो जाता है और सूचनाओं को चोरी करना मुश्किल होता है।

पहले HTTPS का उपयोग सिर्फ ई-कॉमर्स वेबसाइट ही किया करते थे। परन्तु अब सभी ब्लॉग और वेबसाइट HTTPS का उपयोग कर रही है। इससे वेबसाइट सुरक्षित, तेज और इससे ब्लॉग और वेबसाइट पर ट्रैफिक भी बढ़ता है।

वेबसाइट में HTTP स्वत: लगा होता है। परन्तु HTTPS को लगाने के लिए SSL Certificate की आवश्यकता होती है। जिसे GeoTrust, Let’s Encrypt आदि कंपनी से खरीदा जाता है।

HTTP और HTTPS में अंतर

जैसा कि हमने HTTP और HTTPS की बहुत सी जानकारी जान ली है। अब इन दोनो के बीच के अंतर (Deference) को भी जान लेते हैं। इससे यह पूरी तरह से समझ सकते हैं कि दोनो में बेहतर कौन है।

  1. HTTP सुरक्षित नहीं होता है।
    जबकि HTTPS सुरक्षित होता है।
  2. HTTP पोर्ट 80 का इस्तेमाल करती है।
    जबकि HTTPS पोर्ट 443 का इस्तेमाल करती है।
  3. HTTP एन्क्रिप्टेड नहीं होता है
    जबकि HTTPS एन्क्रिप्टेड होता है।
  4. HTTP के लिए प्रमाणपत्र की आवश्यकता नहीं होती है।
    जबकि HTTPS के लिए प्रमाणपत्र की आवश्यकता होती है।
  5. HTTP स्वत: लगा होता है।
    जबकि HTTPS स्वत: नहीं लगा होता है।

ये भी पढ़ें:-

  1. VPN क्या है और काम कैसे करता है?
  2. GPS क्या है और काम कैसे करता है?
  3. Martial Art क्या है? कैसे सीखें?

तो ये थे HTTP और HTTPS की जानकारी। आशा करता हूँ HTTP और HTTPS क्या है और दोनो में अंतर क्या है पसंद आया होगा और कुछ नया जानने जरूर को मिला होगा। आप अपने विचार को कमेंट के माध्यम से साझा कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to top
error: Content is protected !!