HTML क्या है और कैसे सीखें?

क्या आप जानते हैं कि HTML क्या है और कैसे काम करता है। इस Post में HTML की पूरी जानकारी बताया गया है। जिसमें हमने बताया है कि HTML क्या है, HTML कैसे काम करता है, HTML का पूरा नाम, HTML का इतिहास, HTML का संस्करण, HTML कैसे सीखें, HTML में Code कैसे लिखें, HTML Tags क्या है, HTML का विशेषता और HTML की कमियां इत्यादि।

आज लगभग सभी कार्य में कहीं ना कहीं कंप्यूटर का उपयोग होता ही है। कंप्यूटर के उपयोगिता को बढ़ाने में इंटरनेट का महत्वपूर्ण हाथ रहा है। इंटरनेट जो कि सर्वर पर कार्य करता है। लेकिन एक समान्य Internet User को सर्वर की जानकारी नहीं होती है और ना ही वो जानते हैं कि इंटरनेट कैसे बना है। वे सिर्फ वेबसाइट को देखते हैं और इन्हीं वेबसाइट को इंटरनेट समझते हैं। अगर आप इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं। तब आपने भी वेबसाइट को जरुर देखा होगा। वेबसाइट का सबसे बड़ा उदाहरण Google, YouTube, Facebook और Twitter इत्यादि है।

इस Article को भी आप एक वेबसाइट पर ही पढ़ रहे हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि वेबसाइट कैसे बनता है और यह कैसे काम करता है। आपके जानकारी के लिए बता दूं कि वेबसाइट को HTML के द्वारा बनाया जाता है। HTML एक प्रकार का Document या File होता है। जिसे सर्वर पर Store किया जाता है। ताकि वेबसाइट बन सके। अब आप सोच रहे होंगे कि आखिर HTML क्या होता है और क्या HTML को जान लेने के पश्चात वेबसाइट बनाने आ जाएगा। तब इसका उत्तर है कि हाँ HTML को जानने के बाद एक वेबसाइट बनाया जा सकता है।

HTML को जानने से पहले यह क्या और कैसे काम करता है जानना जरूरी है। तो चलिए सबसे पहले जानते हैं कि HTML क्या है?

HTML क्या है? (What is HTML in Hindi)

HTML वेबपेज और वेब-आधारित ऐप्लिकेशन तैयार करने वाली एक Markup Language है। जो कि Programming Language से भिन्न एक Computer Language होता है। इसकी सहायता से वेबपेज के Structure यानी ढांचा को तैयार किया जाता है। सभी वेबपेज या वेबसाइट को HTML के द्वारा ही बनाया जाता है। यह सभी वेबपेज या वेबसाइट का आधार होता है। इसके बिना वेबसाइट का Look Define नहीं किया जा सकता है।

अगर आप वेबसाइट बनाना चाहते हैं या वेबसाइट को डिजाइन करना चाहते हैं। तब आपको HTML सीखना होगा। वैसे तो वेबसाइट में बहुत सारे Computer Languages का इस्तेमाल होता है। जैसे; HTML, CSS, JavaScript और PHP इत्यादि। लेकिन इन सभी में HTML को वेबसाइट का आधार माना जाता है। वेबसाइट बनाने और इसे डिजाइन करने का कोर्स भी होता है। जिसे पूरी तरह सीख लेने के पश्चात एक अच्छा वेबसाइट बनाने आ जाता है। इन कोर्स को वेब डेवलपर और वेब डिजाइनिंग कहा जाता है।

अगर आप वेब डेवलपर या वेब डिजाइनर बनने का सोच रहे हैं। तब आपको HTML के अलावा CSS, JavaScript, PHP, Python और SQL इत्यादि Languages को भी सीखना होगा। लेकिन वेबसाइट या वेब आधारित ऐप्लिकेशन तैयार करने के लिए इन सभी में से सबसे महत्वपूर्ण HTML Language होता है। सिर्फ HTML Language से बनाए गए वेबसाइट बदसूरत होता है। इसे खुबसूरत बनाने के लिए अन्य Language का इस्तेमाल किया जाता है। जैसे CSS से वेबसाइट को Colorful और Good Looking बनाया जाता है। वहीं JavaScript से वेबसाइट को Dynamic और Attractive बनाते हैं।

जरुर पढ़ें:-

HTML का Full Form (HTML Full Form in Hindi)

HTML एक प्रकार का Markup Language है। जिसका उपयोग Webpage के Structure Define करने में किया जाता है। इसका पूरा नाम यानी HTML का Full Form HyperText Markup Language होता है। चलिए इसका मतलब (अर्थ) समझते हैं।

  • H – Hyper
  • T – Text
  • M – Markup
  • L – Language

1. Hypertext

HTML में दो वेबपेज को आपस में एक Text के साथ जोड़े रखता है। उसे Hypertext कहते हैं। Hypertext पर क्लिक कर दूसरे वेबपेज पर पहुंचा जा सकता है। Hypertext को Hyperlink कहा जाता है। इसके माध्यम से पूरी वेबसाइट को Explorer करना आसान होता है। Hypertext की तरह Hypermedia भी होता है। जिसमें इमेज, विडियो और साउण्ड जैसे मीडिया फाइल्स को Hyperlink बनाया जाता है। HTML में Hyperlink Anchor Tag () द्वारा बनाया जाता है।

2. Markup

HTML का इस्तेमाल वेबपेज बनाने के लिए किया जाता है। इस कार्य को करने के लिए HTML Tags का इस्तेमाल करती है। प्रत्येक HTML Tags पूर्व परिभाषित होता है। इसे HTML में Markup कहा जाता है। जैसे “” एक HTML Tags है। जो परिभाषित है कि अपने बीच आने वाले Text को तिरछा (italic) करता है। इसी प्रकार सभी Tags का अलग अलग काम होता है। जो कि पूर्व परिभाषित होता है।

3. Language

HTML एक Language है। क्योंकि यह वेबपेज तैयार करने के लिए HTML Tags का इस्तेमाल करती है। जो कि एक Language की तरह पूर्व परिभाषित होता है।

HTML का इतिहास (History of HTML in Hindi)

Tim-Berners-Lee वर्ष 1989 में वर्ल्ड वाइड वेब (संक्षिप्त में WWW) का विकास किया था। जिसके बाद इन्होंने Hypertext पर काम करना शुरू कर दिया था। इसके बाद Tim-Berners-Lee ने वर्ष 1990 में HTML का अविष्कार किया था। इससे पहले Tim-Berners-Lee भौतिक विज्ञानी Contractor के रुप में CERN नामक French Organization में काम करते थे। शुरुआत में HTML का उपयोग भी CERN में डाक्यूमेंट शेयरिंग के लिए किया जाता था।

Tim-Berners-Lee को Father Of HTML भी कहा जाता है। Tim Berners-Lee ने HTML को इंटरनेट पर वर्ष 1991 में पहली बार Mention किया था। वर्तमान में वर्ल्ड वाइड वेब कॉन्सोर्शियम (W3C) HTML के मानक का रखरखाव करती आ रही है। W3C के पास ही HTML के विकास की ज़िम्मेदारी भी है। अब तक HTML के बहुत संस्करण आ चुके हैं। आइए HTML के संस्करण के बारे में जानते हैं।

HTML के संस्करण (Versions of HTML in Hindi)

HTML का प्राथमिक संस्करण HTML 1.0 है। इसे वर्ष 1993 में Release किया गया था। जैसा कि यह HTML का पहला संस्करण था। इसलिए इसमें बहुत ही कम फीचर्स थे। उस समय HTML से सिर्फ एक Simple Text द्वारा ही वेबपेज बनाया जाता था। HTML को संशोधित कर नये संस्करण लाए गए। फिलहाल HTML का Latest संस्करण HTML 5.0 है। जिसे सन् 2014 में पब्लिश किया गया था। HTML के सभी संस्करण निम्न है।

  • HTML
  • HTML 2.0
  • HTML 3.0
  • HTML 3.2
  • HTML 4.0
  • HTML 4.01
  • XHTML
  • HTML 5

HTML कैसे काम करता है? (How does HTML Works in Hindi)

HTML Programing Language से भिन्न एक Markup Language है। यानी HTML Programming Language नहीं है। क्योंकि इसमें Programming Language के गुण नहीं होते हैं। इसका इस्तेमाल वेब आधारित Pages बनाने में किया जाता है। अभी तक जितने भी वेबसाइट बनाया गया है। वो सभी HTML से ही बनाया गया होता है। आप अभी जिस Page पर यह Article पढ़ रहे हैं। वो Page भी HTML से ही बनाया गया है। शायद अब आप सोच रहे होंगे कि जिस Website या Webpage को देखते हैं। उसमें किसी प्रकार का Code नहीं दिखता है। तब आखिर HTML काम कैसे करता है। HTML Code वेबपेज में कैसे बदल जाते हैं। तो चलिए जानते हैं कि यह कैसे काम करता है।

चूँकि HTML से वेबपेज या वेबसाइट बनाया जाता है। इसलिए सबसे पहले HTML के द्वारा वेबसाइट या वेबपेज के पूरे Structure को तैयार कर लिया जाता है। जिसे वेबसाइट का Theme कहा जाता है। यानी वेबसाइट का Theme HTML के द्वारा बनाया जाता है। जो कि HTML Code के रुप में होता है। इसके बाद वेबसाइट या वेबपेज के इस Code को वेबसाइट के वेब सर्वर पर Store कर दिया जाता है। जिसके बाद मोबाइल या कंप्यूटर के वेब ब्राउजर जैसे; गूगल क्रोम, मोजिला फायरफॉक्स, इंटरनेट एक्सप्लोरर आदि किसी के द्वारा वेबसाइट के किसी पेज के Address डालकर खोजने पर वेब सर्वर से वह HTML File कुछ Protocol का पालन करते हुए वेब ब्राउजर को प्राप्त होता है। जिसे वेब ब्राउजर Render कर के Multimedia वेबपेज के रुप में दिखा देता है। यानी वेब ब्राउजर HTML के Translator के रुप में कार्य करता है।

जरुर पढ़ें:

HTML कैसे सीखें? (How to Learn HTML in Hindi)

अगर आप इस Article को शुरू से पढ़ रहे होंगे। तब आपको HTML क्या है और HTML कैसे काम करता है, इसके संस्करण और उपयोग आदि जान गए होंगे। इसलिए अगर आप HTML सीखना चाहते हैं, वेबसाइट बनाना चाहते हैं या फिर वेब डिजाइनर बनना चाहते हैं। लेकिन अगर आपको समझ नहीं आ रहा है कि HTML कैसे सीखें या फिर HTML कहाँ से सीखें। तब आपको चिंता करने की आवश्यकता नहीं है। क्योंकि इस लेख में हम HTML कैसे सीख सकते हैं। इसकी पूरी जानकारी बताया है। यहाँ मैंने HTML सीखने के दो तरीके बताएं हैं। जिनसे HTML आसानी से सीखा जा सकता है। वो दो तरीके निम्न है।

1. ऑफलाइन

HTML को किसी इंस्टीट्यूट जा कर के सीख सकते हैं। वहाँ पर HTML के अलावा वो सभी कोर्स कराया जाता है। जिससे वेब डिजाइनर बन सकते हैं। अपने नजदीकी इंस्टीट्यूट खोजने के लिए Google पर HTML Institute Near Me सर्च कर के देख सकते हैं। जैसा कि हमें पता है। किसी भी चीज को सीखने के लिए हम किताब (Book) की मदद लेते हैं। वैसे ही HTML को सीखने के लिए आप किताब का सहारा भी ले सकते हैं। किताब के द्वारा भी HTML सीखा जा सकता है। HTML का किताब किसी लाइब्रेरी या ऑनलाइन से भी खरीद सकते हैं।

2. ऑनलाइन

अगर आप ऑफलाइन तरीके से HTML सीखना नहीं चाहते हैं तो आप HTML को ऑनलाइन भी बड़ी ही आसानी से सीख सकते हैं। ऑनलाइन विडियो व लेख के माध्यम से HTML सीख सकते हैं। HTML को विडियो द्वारा सीखने के लिए YouTube का उपयोग कर सकते हैं। इसके अलावा बहुत से ऐसे इंटरनेट पर वेबसाइट मौजूद है। जिनसे HTML विडियो और लेख से सीख सकते हैं। यह सभी बिल्कुल फ्री होता है। आप इनके विडियो कोर्स या ई-बुक से भी सीख सकते हैं। लेकिन इसे खरीदना होता है। जिसके लिए कुछ पैसे भी Pay करना होता है। ऑनलाइन HTML सीखाने वाली वेबसाइट्स का नाम कमेंट कर के पूछ सकते हैं।

HTML में Code कैसे लिखें? (Structure of HTML in Hindi)

HTML सबसे आसान Computer Language है। HTML में Code इसके Tags के सहारे किया जाता है। HTML Tags जो कि Predefined यानी पूर्व परिभाषित होते हैं। अगर आप इसके प्रत्येक Tags को बारीकी से सीख जाएं। तब आप HTML के Exepert कहलाएंगे। यहाँ हम HTML के पूरे Tags को तो नहीं बता सकते हैं। यहाँ आप HTML में Code कैसे लिखा जाता है जानेंगे। इसके साथ HTML का एक उदाहरण भी बताया है। इसके अलावा HTML के कुछ Basic Tags के बारे में भी बताया गया है। लेकिन HTML के पूरी Tags के लिए एक अलग Article जरुर लिखेंगे। चलिए जानते हैं कि HTML में Code कैसे लिखते हैं।

  1. HTML में Code लिखने के लिए किसी प्रकार के विशेष सॉफ्टवेयर की आवश्यकता नहीं होती है। इसके Code को किसी भी Text Editing Software में लिख सकते हैं। जैसे; Notepad, Notepad ++ इत्यादि। इसलिए इनमें से किसी एक Software को कंप्यूटर में Install कर लें।
  2. इनमें से किसी एक Text Editor Software (HTML Editor) को Install करने के पश्चात Open करें। Text Editor Software को Open करने के पश्चात उसमें आप कुछ भी लिख सकते हैं। HTML के Code भी। इसलिए नीचे के HTML Code को अपने Text Editor Software लिखें।
<!DOCTYPE html>
<html>

<head>
<title>This is a title</title>
</head>

<body>
<p>Hello world!</p>
</body>

</html>
  1. Text Editor Software में ऊपर के HTML Code को लिखने के पश्चात Save कर दें। Save करते वक्त आप File का नाम कुछ भी लिख सकते हैं। लेकिन File का नाम लिखने के बाद .html या .htm जरुर लिखें। क्योंकि यह HTML File का Extension है। इस Extension से ही पता चलता है कि यह एक HTML File है। जैसे; Gyanveda.html
  2. अब इस HTML File को अपने कंप्यूटर के किसी भी वेब ब्राउजर (जैसे; Google Chrome, Mozila Firefox, Internet Explorer इत्यादि) में खोल सकते हैं। Simply अगर आप इस HTML File पर क्लिक करेंगे। तब यह HTML File Default Browser के साथ खुल जाएगा। लेकिन अगर नहीं खुलता है तब आप “Open With” कर के खोल सकते हैं।
  3. HTML File वेब ब्राउजर में खुलने के पश्चात वेब ब्राउजर में HTML का Code नहीं बल्कि एक वेबपेज दिखता है।

कुछ इसी प्रकार HTML में Code लिखा जाता है और इसी तरह आप एक वेबपेज या वेबसाइट का Theme बना सकते हैं। जिसके बाद Theme को वेबसाइट के सर्वर पर Store करना होता है।

HTML Tags क्या है? (What is HTML Tags in Hindi)

HTML में HTML Tags एक महत्वपूर्ण हिस्सा होता है। इसी के सहारे HTML में Coding किया जाता है। प्रत्येक HTML Tags का काम अलग अलग होता है। जो कि Predefined होता है। एक HTML Tags को Angular Brackets (<>) के बीच Keywords के साथ दर्शाया जाता है। जैसे; <html>, <head>, <body>, <u>, <i> इत्यादि। जब HTML Documents को वेब ब्राउजर से खोलते हैं। या फिर HTML Documents वेब ब्राउजर तक पहुंचता है। तब वेब ब्राउजर उस HTML Documents को ऊपर से नीचे पूरी File को Scan करते हैं। Scan करने के बाद वेब ब्राउजर HTML Tags की मदद से Content को समझकर Render कर पाते हैं।

  • प्रत्येक HTML Tags में तीन हिस्से Opening Tags, Keyword और Closing Tags होते हैं। Opening Tags को और Closing Tags को से दर्शाया जाता है और इनके बीच HTML Tags का Keyword होता है।
  • HTML Tags दो प्रकार के होते हैं। Paired Tags और Unpaired Tags
  • Paired Tags वो HTML Tags होते हैं। जिनका साथी Tags भी होता है। यानी इनके Opening Tags और Closing Tags होते हैं। जैसे; <html>….</html>, <head>….</head> आदि। Closing Tags को Slash (/) से बंद किया जाता है। Paired Tags में Content Opening Tags और Closing Tags के बीच होता है।
  • Unpaired Tags वो HTML Tags होते हैं। जिनका साथी Tags नहीं होता है। यानी ये अकेले होते हैं। इन्हें बंद करने की आवश्यकता नहीं होती है। जैसे; <br>, <hr>, <img> आदि।
  • एक वेबपेज में जितने चाहे उतने HTML Tags का इस्तेमाल कर सकते हैं।

HTML का उपयोग ( Use of HTML in Hindi)

  1. HTML का उपयोग वेबसाइट या वेबपेज बनाने के लिए किया जाता है।
  2. HTML का उपयोग Web Based Applications बनाने के लिए किया जाता है।
  3. HTML का उपयोग वेब आधारित Documents बनाने के लिए किया जाता है।
  4. HTML का उपयोग Hyperlinks की सहायता से इंटरनेट नेविगेशन के लिए किया जाता है।

HTML में विशेषता क्या है? (Features of HTML in Hindi)

यहाँ हमने एचटीएमएल के फायदे और HTML के विशेषता बताया है।

  1. HTML को सीखना बहुत आसान है। इसके अलावा इसमें Coding करना भी बहुत आसान होता है।
  2. HTML में Coding करने के लिए किसी विशेष Software की आवश्यकता नहीं होती है।
  3. HTML में Coding HTML Tags के सहारे किया जाता है।
  4. HTML से वेबपेज या वेबसाइट बनाया जाता है।
  5. HTML को लगभग सभी वेब ब्राउजर Support करती है।
  6. HTML एक Lightweight Language है।
  7. HTML के साथ अन्य Language को भी इस्तेमाल किया जा सकता है। जैसे; CSS और JavaScript आदि।
  8. HTML के द्वारा एक वेबपेज को दूसरे वेबपेज से जोड़ सकते हैं। इसके अलावा किसी Documents, Image, Audio और Video आदि को भी जोड़ सकते हैं।
  9. HTML एक Platform Independent Language है।
  10. HTML एक Case Sensitive Language नहीं है। लेकिन कहीं कहीं Case Sensitive Language जैसा कार्य करने लगता है।

HTML में क्या कमियां है? (Disadvantage of HTML in Hindi)

  1. HTML के द्वारा सिर्फ Static और Simple वेबपेज बनाया जा सकता है। Dynamic वेबपेज बनाने के लिए आपको JavaScript, PHP या ASP सीखना होगा।
  2. सिर्फ HTML के द्वारा एक वेबपेज को Good Looking नहीं बना सकते हैं। इसके लिए CSS को सीखना होता है।
  3. एक HTML Documents अलग अलग ब्राउजर में थोड़ा बहुत Different हो जाता है।
  4. HTML Language से Logical Task नहीं कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें:-

  1. Programming Language कैसे सीखे?
  2. Web Browser क्या है?
  3. CSS कैसे सीखें?
  4. JavaScript कैसे सीखें?
  5. Java Programming कैसे सीखें?
  6. Python Language कैसे सीखे?
  7. Database क्या है?
  8. Search Engine क्या है?
  9. Computer की परिभाषा

Conclusion – What is HTML in Hindi

इस लेख में हमने HTML की पूरी जानकारी शेयर किया है। जिसमें हमने बताया है कि HTML क्या है, HTML का Full Form, HTML का अर्थ, HTML का इतिहास, HTML कैसे काम करता है, HTML कैसे सीखें, HTML में Code कैसे लिखें, HTML Tags क्या है, HTML का उपयोग, HTML क फायदे और HTML के नुकसान इत्यादि। हम उम्मीद करते हैं कि HTML की यह जानकारी आपको पसंद आया होगा। यदि आप हमसे कुछ पूछना चाहते हैं। तब कमेंट के माध्यम से पूछ सकते हैं।

अगर आप वेब डिजाइनिंग सीखना चाहते हैं, वेब डिजाइनर बनना चाहते हैं। या फिर एक अच्छा वेबसाइट डिजाइन करना चाहते हैं। तब HTML के साथ साथ CSS और JavaScript जरुर सीखें। क्योंकि HTML के द्वारा Webpage का Structure Define किया जाता है। लेकिन उसे Colorful और Good Looking बनाने के लिए CSS का उपयोग किया जाता है। वहीं JavaScript से Webpage को Attractive और Dynamic बनाया जाता है। अगर यह लेख आपको पसंद आया है। तब इस लेख को अपने दोस्तो के साथ भी शेयर जरूर करे।

2 thoughts on “HTML क्या है और कैसे सीखें?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to top
Exit mobile version