GPS क्या है और काम कैसे करता है?

नमस्कार दोस्तो आज इस लेख के माध्यम से GPS क्या है और काम कैसे करता है?, GPS के इतिहास आदि के जानकारी प्राप्त करेंगे।

GPS का उपयोग आप कभी न कभी जरूर किए होंगे। जैसे; Location देखने, Location Tress करने, रास्ता ढूंढने वैसे आज कल GPS का उपयोग काफी हो रहा है। परन्तु क्या आप जानते हैं। आखिर GPS होता क्या है और काम कैसे करता है। तो चलिए जानते हैं।

GPS क्या है?

GPS का पूरा नाम Global Positioning System (वैश्विक स्थान निर्धारण प्रणाली) है। इसका इस्तेमाल Location पता करने के लिए किया जाता है। यह एक प्रकार का उपग्रह आधारित नेविगेशन प्रणाली है। जो हरेक मौसम में सटिक काम करता है।

GPS के इस्तेमाल कर किसी भी Location की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। इसके द्वारा Traffic तथा दो जगहों के बीच की दूरी भी पता कर सकते हैं। यह आपके मंजिल को ढूंढने और मंजिल तक पहुंचाने में भी मदद करता है।

पूरी दुनिया में GPS का सबसे ज्यादा उपयोग रास्ता ढूंढने में किया जाता है। GPS का उपयोग रास्ता ढूंढने के अलावा Train, Bus, Aircraft और Location Tress करने में भी बहुत अधिक किया जाता है।

GPS को सबसे पहले America के रक्षा विभाग ने साल 1973 में बनाया था। इसके बाद GPS पूरी दुनिया में फैल गया था। तो चलिए इसके इतिहास की भी जानकारी प्राप्त कर लेते हैं।

GPS का इतिहास

GPS एक प्रकार का उपग्रह आधारित नेविगेशन प्रणाली है। इसे Department Of Defence U.S (अमेरिका) के द्वारा साल 1973 में लॉन्च किया गया था। उस वक्त अमेरिका की मिलिट्री अपने दुश्मन देश को तबाह करने के लिए GPS का उपयोग किया करते थे।

परन्तु साल 1983 में एक Korean Airlines सोवियत संघ की ओर जा रहा था। उस समय फ्लाइट में GPS नहीं हुआ करती थी। क्योंकि उस समय GPS का उपयोग सिर्फ अमेरिका के मिलिट्री किया करते थे।

उस फ्लाइट में कुल 239 लोग सवार थे। परंतु गलती से सोवियत संघ के प्रतिबंधित क्षेत्र में चले जाने के कारण सोवियत संघ के द्वारा मार गिराया गया। जिसमें सवार सभी लोगों की मृत्यु हो गई थी।

इस घटना के बाद अमेरिका के राष्ट्रपति Ronald Reegan ने GPS को पूरी दुनिया में उपलब्ध कराने का निर्णय लिया गया। इसके बाद साल 1995 को GPS पूरी दुनिया के लिए उपलब्ध कराया गया।

GPS का उपयोग

GPS का निम्न चार वर्ग के कार्यों के लिए उपयोग करते हैं।

  1. Location — किसी की Position को जानने के लिए।
  2. Navigation — एक Location से दुसरे में Location तक जाने के लिए।
  3. Tracking — किसी इलेक्ट्रॉनिक वस्तु को ट्रैक और मॉनिटरिंग के लिए।
  4. Mapping — दुनियाभर की Maps बनाने के लिए।
  5. Timing — सटीक समय के लिए।

GPS काम कैसे करता है?

GPS करीब 30 उपग्रहों का समुह है। जो 20,000 Km दूर पृथ्वी की परिक्रमा कर रही है। GPS से Location पता करने के लिए कम से कम 3 उपग्रह पर काम किया जाता है। इन 3 उपग्रह से Location कितनी दूरी है पता की जाती है। इससे GPS पता कर सकता है कि आप पृथ्वी पर कहाँ हैं। इस प्रक्रिया को Trilateration कहते हैं। Trilateration प्रक्रिया को विस्तार से जानते हैं।

यहाँ आपका Location पृथ्वी पर है। जैसा इमेज में दिखाया गया है। जब GPS ऑन किया जाता है। तब Trilateration प्रक्रिया के आधार पर ये 3 उपग्रह रेड, ब्लू और ब्लैक अपने और GPS डिवाइस की बीच की दूरी ज्ञात करती है। जब तीनों उपग्रह और GPS की दूरी जिस बिन्दु पर कटती है। उसी बिन्दु पर GPS डिवाइस होता है।

Example

जब GPS ऑन किया जाता है। तब क्या होता है?

रेड उपग्रह:- Send Time और Receive Time की मदद से Receiver पता करती है कि यह उपग्रह से GPS डिवाइस कितनी दूरी पर है। इससे यह पता चलता है कि GPS Red Circle में कहीं पर भी हो सकते हैं।

ब्लू उपग्रह:- इसमें भी Send Time और Receive Time की मदद से Receiver की दूरी पता करता है। इससे यह पता चलता है कि GPS Blue Circle और Red Circle के बीच Intersect में कहीं पर है। परन्तु इन दोनो के बीच दो Intersect हैं। इसलिए ब्लैक उपग्रह का प्रयोग करते हैं।

ब्लैक उपग्रह:- इसी प्रकार ब्लैक उपग्रह से भी अपनी दूरी पता करती है। इस उपग्रह का Circle तीनों उपग्रह के Circle से Intersect होते है। इसलिए GPS डिवाइस यहीं पर होता है।

ये भी पढ़ें:-

  1. HTML क्या है? कैसे सीखें
  2. Kali Linux क्या है? पूरी जानकारी
  3. Ethical Hacker कैसे बनें? पूरी जानकारी

जब GPS ऑन किया जाता है तो कुछ इस तरह से उपग्रह Trilateration प्रक्रिया के आधार पर अपना काम करते हैं। और GPS से Location बताती है।

4 thoughts on “GPS क्या है और काम कैसे करता है?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to top
error: Content is protected !!