फ्री Blogging कैसे शुरू करें? स्टेप बाय स्टेप

क्या आप Blogging शुरू करना चाहते हैं। या फिर Blogging में कैरियर बनाना चाहते हैं। लेकिन Blogging शुरू करने के लिए आपके पास पैसे नहीं है। तब यह लेख सिर्फ आपके लिए है। क्योंकि इस लेख में हमने फ्री में Blogging कैसे किया जाता है बताया है। अगर आप भी फ्री Blogging शुरू कैसे करे? जानना चाहते हैं। तब इस लेख को अवश्य पढ़ें।

मुझे भी Blogging करने का शौक था। किंतु Blogging करने के लिए पैसे नहीं थे। तब मैंने फ्री में Blogging करना उचित समझा। और Free में Blogging करना शुरू कर दिया। तब मुझे Blogging की अच्छी खासी जानकारी भी नहीं थी। इसलिए उस Time मैंने Blogging सीखने पर ज्यादा Focus किया। Blogging में मुझे बहुत कुछ सीखने को मिला।

उसके बाद जब मेरे पास पैसे हुए। तब मैंने फ्री वाले Blog को पैसे वाले Blog पर Migrate कर दिया। इससे मेरे सारे Contents जैसे; Article, Image, Comment इत्यादि सबकुछ मेरे नये Blog पर Migrate हो गया था। इस तरह अब मैं Paid Blogging कर रहा हूँ। मेरे जैसे ही बहुत सारे लोग होंगे। जो Blogging में पैसे नहीं लगा सकते हैं। किंतु वे भी Blogging करना चाहते हैं।

इस लिए मैं यह लेख लिख रहा हूँ। ताकि आप भी फ्री Blog के साथ Blogging शुरू कर सकते हैं।

जरुर पढ़ें: ब्लॉग क्या है और ब्लॉगिंग क्यों करते हैं?

Blogging क्या है? (What is Blogging in Hindi)

Blogging एक प्रकार का कार्य है। जिसमें Blog Post लिखना, Blog Post Publish करना तथा Blog को Manage करना शामिल है। Blogging को हिंदी में चिट्ठाकारी या चिट्ठाकारिता कहा जाता है। Blogging करने वाले व्यक्ति को Blogger कहा जाता है। यही वो व्यक्ति होता है। जो एक Blog को Manage करता है।

एक Blog को कोई एक व्यक्ति या किसी एक समूह के द्वारा Manage किया जा सकता है। Blogging में मुख्य रूप से निम्न कार्य करने होते हैं। जैसे;

  • Blog Post लिखना
  • Blog Post Publish करना
  • Blog Post को Linking करना (दुसरे Blog Post से)
  • Blog और Blog Post को SEO करना
  • Blog को Secure रखना

Blogging कैसे करे? (How to Do Blogging in Hindi)

Blogging करने के लिए सबसे पहले तो एक Blog बनाना होता है। Blog भी वेबसाइट होता है। जिस पर Article Publish किया जाता है। एक Blog बनाने के लिए हमारे पास Web Hosting, Domain Name और SSL Certificate होना चाहिए।

Web Hosting, Domain Name और SSL Certificate को ऑनलाइन ही खरीद सकते हैं। किंतु इसे खरीदने के लिए पैसे देने होते हैं। एक Domain Name, Web Hosting और SSL Certificate को एक साल के लिए खरीदने में लगभग 10000 रुपये लग सकते हैं।

एक ब्लॉग या वेबसाइट बनाने के लिए मुख्य रूप से इन तीनो में ही पैसे लगाने होते हैं। किंतु इन तीनो को खरीदने के लिए आपके पास पैसे नहीं है। तब चलिए जानते हैं कि Free में Blogging कैसे करे? नीचे फ्री Blogging शुरू करने के 10 आसान स्टेप्स बताए गए हैं।

फ्री Blogging कैसे करे? (How to start blogging for free in Hindi)

Blogging शुरू करने के लिए और एक Blog बनाने में मुख्य रूप से Web Hosting, Domain Name और SSL Certificate में Invest करना होता है। किंतु ऐसे बहुत सारे Blogging Tool मौजूद है। जो Free Blog बनाने की आजादी देता है। जैसे; WordPress, Blogger, Weekly, Wix इत्यादि।

लेकिन इन सभी में Blogger और WordPress अधिक लोकप्रिय है। चलिए इन दोनो की विशेषता जानते हैं। इससे आप यह जान पायेंगे कि कौन सा Blogging प्लेटफॉर्म आपके लिए Best है। और सही Blogging प्लेटफॉर्म का चुनाव कर सकते हैं।

1. WordPress

इंटरनेट पर दो WordPress हैं। एक wordpress.org और दुसरा wordpress.com। इन दोनो में बहुत अधिक अंतर होता है। चलिए जानते हैं।

WordPress.org एक Open Source Software या Program है। इसे Content Management System (CMS) कहते हैं। इसका उपयोग सुंदर Blog और Website बनाने में किया जाता है। WordPress.org को PHP और MySQL में बनाया गया है। इसकी शुरुआत वर्ष 2003 में हुआ था। इसे इंटरनेट से Free में डाउनलोड कर वेब सर्वर में Install कर के Blog या Website बनाते हैं। जिसके लिए Web Hosting खरीदना जरूरी होता है।

WordPress.com को WordPress.org के Co-Founder द्वारा बनाए गए हैं। WordPress.com पर Free Hosting Plan के साथ Free में Blog या Website बना सकते हैं। लेकिन इस पर बहुत सारे Limitations होती है। जैसे; यह आपके Blog पर Ads लगा सकते हैं। जिसके बदले आपको कोई पैसे नहीं मिलेंगे। WordPress.com खुद Web Hosting, Domain Name और SSL बेचता है। इसपर बनाये Blog से Ads हटाने के लिए Hosting Plan को खरीदना होता है।

2. Blogger

Blogger एक Blogging Tool है। इसके द्वारा Free Blog बनाया जाता है। यह Google कंपनी का एक सेवा (प्रोडक्ट) है। किंतु इसके निर्माता Pyra Labs है। जिन्होंने वर्ष 2003 में Google को बेच दिया था। Blogger पर बहुत आसानी से कुछ ही स्टेप्स में ब्लॉग बना सकते हैं। Blogger Free Blog बनाने की सुविधा देता है। इसपर Blog बनाने के लिए Hosting और SSL Certificate खरीदने की आवश्यकता नहीं होती है। इसमें Domain की जगह एक Subdomain Provide कराया जाता है।

Subdomain, Domain Name का उपडोमेन होता है। जैसे; www.gyanveda.in एक Domain Name है। किंतु www.hindi.gyanveda.in या www.blog.gyanveda.in एक Subdomain है।

इसी प्रकार Blogger पर बनाये Blog का Subdomain www.sitename.blogspot.com होता है। sitename के स्थान पर आपके Blog का नाम होगा। Blogger का पुराना नाम Blogspot था। जिसे बाद में बदल दिया गया था। इसलिए blogspot.com होता है।

Note:- यदि आप फ्री Blogging करना चाहते हैं। तब मेरा सुझाव होगा कि आप Blogger से शुरुआत करे। क्योंकि Blogger पर वह सभी सुविधाएं मिलती है। जो Blogging करने में और Blogging से पैसे कमाने के लिए जरूरी होते हैं। वहीं Blogger Google का है। इसलिए Blogger पर बनाए गए Blog को Google का Security प्राप्त होता है। इसके अलावा भी इसके कई फायदे हैं।

Step#1:- Blogging के लिए विषय का चुनाव करे।

पहला स्टेप:- फ्री Blogging कैसे शुरू करें

Blogging अपने विचार, अनुभव और ज्ञान शेयर करने का एक तरीका होता है। Blog पर अपने रुचि के अनुसार किसी भी प्रकार का ज्ञान शेयर कर सकते हैं। इसलिए यदि आप Blogging शुरू कर रहे हैं। तब सबसे पहले अपने Blog के विषय का चुनाव कर लें।

ऐसे बहुत से लोग होते हैं। जो Blog तो बना लेते हैं। लेकिन उन्हें यही समझ नहीं आता है कि आखिर वो Blog पर क्या शेयर करे। इसलिए आप Blog बनाने से पहले Blog पर क्या शेयर करना चाहते हैं। उसका पता लगाएं। Blogging के लिए विषय का चुनाव करते वक्त नीचे दिए गए 2 प्रश्नों को खुद से पुछे।

1. क्या आपको यह सीखने में मजा आता है?

Blogging विषय का चुनाव दुसरे को देख कर ना करे। आपको एक ऐसे विषय का चुनाव करना चाहिए। जिसे सीखने में आपको मजा आता हो। तभी आप उस विषय से संबंधित Blog Post लंबे समय तक डाल सकते हैं।

लेकिन अगर आप किसी को देख कर विषय का चुनाव करते हैं। तब वह शुरू शुरू में तो ठीक रहेगा। लेकिन बाद में आप उस विषय पर अधिक Blog Post नहीं लिख पाएंगे। और ना ही अपने Visitors के सवालो के जवाब दे पाएंगे।

2. क्या दुसरे लोग भी इस विषय को पसंद करते हैं?

आप जिस विषय का चयन किया है। क्या वह दुसरे लोगों को भी पसंद है। एक बार सोच कर देखिए। अगर आप जिस विषय पर Post डालते हैं। वह विषय किसी को पसंद ही नहीं होगा। तब लोग क्यों आपके Blog Post को पढ़ेंगे। जब कोई पढ़ेगा ही नहीं तो Post लिखने का फायदा ही नहीं होगा। और ना ही आप Blogging से पैसे कमा पाएंगे।

इसलिए आप एक ऐसे विषय पर Blogging करे। जिस विषय को बहुत सारे लोग पसंद करते हैं। इसके लिए आप अपने दोस्तो, रिश्तेदारो और Google की सहायता ले सकते हैं। Blogging किसी भी विषय पर किया जा सकता है। जैसे; Health Tips, Gym Tips, Cooking Tips, Online Education, Travelling Guide, Career Guide इत्यादि।

Step#2:- Blog के नाम का चुनाव करे।

दूसरा स्टेप:- Blogging कैसे शुरू करें

अब अगर आपने Blogging के विषय का चुनाव कर लिया है। तब अब आपको अपने Blog के नाम के बारे में सोच लेना चाहिए। जैसे आप जिस Blog पर इस लेख को पढ़ रहे हैं। उस Blog का नाम Gyanveda है। आपको भी कोई अच्छा सा याद रहने लायक सोच लेना चाहिए।

जो आपके Blogging विषय से मिलता-जुलता हो। जैसे; यदि आप Computer विषय पर Blogging करना चाहते हैं। तब Computer Baba और Computer Raja जैसे विशेष नामों का चयन करे। जिसका उच्चारण आसान हो।

Step#3:- फ्री Blog बनाये।

3rd Step:- How to Start Blog for Free in Hindi

Blogspot (Blogger) पर फ्री ब्लॉग बनाने के लिए नीचे के स्टेप्स को फॉलो करे। Blogspot पर Blog बनाना बहुत आसान है। बस कुछ ही मिनटों में Blog बनकर तैयार हो जाता है।

Step-1:- Blogger के Site पर Visit करे।

सबसे पहले www.blogger.com पर Visit करे। उसके बाद Create Your Blog पर क्लिक करे।

Step-2:- Google Account Login करे।

अब आप जिस Google Account (Gmail) से Blog बनाना चाहते हैं। उस Account को Login या Select कर लें। बाद में कभी भी इसी Google Account से अपने Blog में Login कर सकते हैं।

Step-3:- Blog का नाम डाले।

आप अपने Blog का जो भी नाम रखना चाहते हैं। उसे यहाँ लिखकर Next करना होता है।

Step-4:- Blog का Address चुनें।

अब यहाँ भी अपने Blog का नाम डाले। जिससे आपको आपके Blog नाम से Subdomain (Address) मिल जाए। Subdomain एक Unique Name होता है। यानी अगर आपके Blog नाम के Subdomain से पहले ही किसी और ने Blog बना लिया होगा। तब आप भी उसी Subdomain से Blog नहीं बना सकते हैं। इसलिए एक ऐसा नाम डाले। जिस नाम से पहले किसी ने Blogger पर ब्लॉग नहीं बनाया हो। यदी Blog का नाम डालने पर नीचे This blog address is available लिखा आता है। इसका मतलब है कि उस नाम से किसी ने भी Blog नहीं बनाया है। इसके बाद Next पर क्लिक कर सकते हैं।

Note:- Subdomain में अपने Blog नाम का ही प्रयोग करे। यानी Blog का नाम और Subdomain दोनो एक होना चाहिए। जैसे; यदि आपके Blog का Subdomain www.blogname.blogspot.com है। तब अपने Blog का नाम Blog Name ही रखें। Blog का नाम या Subdomain Blog बनाने के बाद कभी भी Setting से बदला जा सकता है।

Step-5:- Display Name डालें।

यहाँ पर आपको अपना नाम लिखना होता है। इससे आपका नाम आपके Blog पर Display होता है। अगर आप Blog Post डालेंगे। तब उस Blog Post के ऊपर या नीचे Writer के तौर पर Display होगा। अगर आप अपना नाम डालना नहीं चाहते हैं। तब यहाँ पर Admin या फिर अपने Blog का नाम भी डाल सकते हैं। इसके बाद Next करना होता है।

अब आपका Blog बन चुका है। मुझे उम्मीद है कि आपको Blog बनाने के सारे स्टेप्स समझ आ गया होगा। अब Browser में अपने Subdomain को खोलकर देख सकते हैं।

Step#4:- Blog में Custom Domain Add करे।

4th Step:- How to Start Blogging in Hindi

Blogger पर Blog बनाने पर एक फ्री Blog Address दिया जाता है। जिसे Subdomain कहा जाता है। अगर आपके Blog का नाम BlogName है। तब आपके Blog का Subdomain (Address) www.blogname.blogspot.com होगा।

लेकिन www.blogname.com या www.blogname.org या www.blogname.co या फिर www.blogname.net जैसे छोटे Address को ही Custom Domain कहा जा रहा है। दुसरे Blog के Address ऐसे ही होते हैं। आपने जरुर देखा होगा। ऐसे Custom Address के लिए Domain रजिस्ट्रार से खरीदना होता है और इसके लिए पैसे लगते हैं।

मैंने पहले ही कहा है कि Blog बनाने के लिए Domain Name, Web Hosting और Certificate खरीदना होता है। जिसमें से Web Hosting खरीदने में सबसे अधिक पैसे लगते हैं। लेकिन Blogger पर बनाए गए Blog के लिए Web Hosting और SSL खरीदने की आवश्यकता नहीं है। यहाँ ये दोनो हमेशा के लिए फ्री होती है। लेकिन Custom Domain नहीं दिया जाता है। Custom Domain के बजाय एक Subdomain दिया जाता है।

इसलिए यदि आप Custom Domain लगाना चाहते हैं। तब आपको खरीदना होगा। Domain Name अधिक महंगा नहीं होता है। Domain Name को आप डोमेन रजिस्ट्रार से 1000 से भी कम Price में खरीद सकते हैं। अगर आप 1000 रुपये खर्च कर सकते हैं। तब मेरा सुझाव है कि आपको एक Custom Domain Name जरूर खरीद लेना चाहिए।

Custom Domain के बहुत सारे फायदे हैं। किंतु अगर आप Domain Name खरीद नहीं सकते या फिर खरीदना नहीं चाहते हैं। तब फ्री Subdomain से ही Blogging कर सकते हैं। इसमें कोई परेशानी नहीं है। Custom Domain और Subdomain से जुड़ी विशेष बातें

  • Custom Domain से आपका Blog प्रोफेशनल दिखता है।
  • Custom Domain से Blog मान्यता बढ़ती है और आपके Blog विश्वासपात्र बनता है।
  • Custom Domain से Blog रैंकिंग में खास फर्क आता है।
  • Blog पर Google Adsense का विज्ञापन लगाकर पैसे कमाते हैं। Custom Domain से Google Adsense Approved करना आसान होता है।
  • लेकिन Custom Domain को प्रत्येक वर्ष Renew कराना होता है। जिसके लिए पैसे लगेंगे।
  • वहीं Blogger का Subdomain हमेशा के लिए फ्री होता है।
  • Subdomain होने से Google Adsense को 6 महीने के बाद ही Apply कर सकते हैं। अगर Blog में सब कुछ ठीक हो। तब Subdomain होने के बाद भी Google Adsense Approved हो जाता है।

ऊपर हमने Custom Domain और Subdomain की कुछ बाते जानी है। अगर आप Custom Domain लगाना चाहते हैं। तब आपको नीचे के स्टेप्स को फॉलो करना होगा। इस स्टेप्स के पहले डोमेन रजिस्ट्रार से एक Custom Domain खरीद ले। Domain Name खरीदना बहुत आसान है। Godaddy, Bigrock, Namechip और Hostinger इत्यादि किसी डोमेन रजिस्ट्रार से Domain Name खरीद सकते हैं।

इसके लिए इनमें से किसी एक डोमेन रजिस्ट्रार पर जाकर Search Bar में अपने Blog का नाम Search करना है। उसके बाद अपने Blogname के बाद .com वाले Domain को Select कर के Checkout कर सकते हैं। मेरा सुझाव है कि Godaddy से और .com वाले Domain Name ही खरीदे। अगर .com Domain पहले ही किसी और ने खरीद लिया है। तब .org या .net और .co को भी खरीद सकते हैं। अगर Domain Name खरीदने में समस्या है। तब Google पर “Godaddy से Domain Name कैसे खरीदें” सर्च कर के पता कर ले।

जब Domain Name खरीद लेते हैं। तब उसके बाद Domain Name को Blogger Blog में Add करना होता है। Domain Name को Blog में Add करने के लिए नीचे के स्टेप्स को फॉलो कर सकते हैं।

Step-1:- Blog में Login करें।

Domain Name खरीदने के बाद Blog को Login कर लें। अगर पहले से ही Login है तो अच्छी बात है। Login होने के बाद Main Menu (तीन लकीर) पर क्लिक करे।

Step-2:- Blog Settings में जाएं।

Main Menu पर क्लिक करने के बाद Blog का Settings दिखता है। तब Settings पर क्लिक करना होता है।

Step-3:- Custom Domain पर क्लिक करें।

Settings में Publishing के नीचे Custom Domain का एक ऑप्शन दिखेगा। उसपर क्लिक करना होता है। जैसा कि नीचे Image में देख सकते है।

Step-4:- Custom Domain Name दर्ज करें।

Custom Domain पर क्लिक करने के बाद अपने खरीदे गए Domain Name को Type करे। ध्यान रहे Custom Domain के आगे www. जरुर लिखे। जैसा कि Image में दिख रहा है। इसके बाद Save पर क्लिक करे।

Step-5:- DNS Setup करे।

Save करने पर कुछ Error दिखेगा। जैसा कि नीचे Image में देख सकते हैं। इस Error में दो CNAME दिखेंगे। जिसमें Name और Destination होता है। इसे अपने Domain के DNS में Setup करना होता है। ताकि Domain Blog से Connect हो सके। इसलिए जहाँ से आपने Domain Name खरीदा था। वहाँ लॉगिन कर लेना है।

Step-6:- CNAME Record Add करें।

Login करने के बाद Domain के DNS Management से दो नये CNAME Record Add करें। पहले (1st) CNAME के Host के स्थान पर पहला Name और Point to (www) के स्थान पर पहला Destination (ghs.google.com) इसी प्रकार दुसरे CNAME के Host के स्थान पर दुसरा Name और Points to के स्थान पर दुसरा Destination दर्ज कर के Save कर दें।

Step-7:- पुनः Custom Domain Name को Save करें।

Domain Name के DNS Management में एक बार चेक (सही है या नहीं) कर लें। अगर सब कुछ ठीक है। तब अपने Blog में पुन: Custom Domain डालकर Save करें। अगर Save ना हो। तब एक बार पेज को रिफ्रेश कर के फिर से Save करे।

तो कुछ इस तरह से Custom Domain Blogger Blog में Add किया जाता है। Custom Domain हो जाने के बाद Settings में Publishing के नीचे कुछ इस तरह से दिखेगा। इसका मतलब है कि Blog में Custom Domain Add हो चुका है। इसके बाद अपने Custom Domain को खोलकर देख सकते हैं। आपका Blog खुलेगा।

लेकिन यदि Custom Domain के लिए पैसे नहीं लगाना चाहते हैं। तब भी आप Subdomain के साथ ही Blogging कर सकते हैं।

Step#5:- Blog में Custom Theme Install करे और Blog Design करे।

5वां स्टेप:- Blogging कैसे करें

Theme Blog का Design होता है। Blog कैसा दिखेगा यह Theme पर डिपेंड करता है। Theme को कंप्यूटर की भाषा (जैसे; HTML, CSS आदि) के द्वारा बनाए जाते हैं। इंटरनेट बहुत सारे बने बनाए फ्री और पैसे से Theme मिलती है।

Blogger Blog पर Blog के Design के लिए कुछ Theme उपलब्ध है। लेकिन वे सभी Theme का Design खराब होता है। अगर आपको भी Blogger के Theme पसंद नहीं है। तब आप कोई और Theme लगा सकते हैं। अपने पसंद से किसी भी Theme को Download या खरीद कर लगाया जाता है।

अगर आप भी Blog में Custom Theme Install करना चाहते हैं। तब नीचे के स्टेप्स को फॉलो कर सकते हैं। लेकिन अगर आपको Default Theme ही पसंद है। तब अगले स्टेप की तरफ बढ़ सकते हैं।

Step-1:- Custom Theme Download करें।

इंटरनेट पर बहुत सारे वेबसाइट है। जो Theme बेचती है। नीचे हम कुछ वेबसाइट बता रहे हैं। जिस पर बहुत सारे Theme है। जो Theme आपको पसंद आता है। उसे खरीद सकते हैं। अगर खरीदना नहीं चाहते हैं। तब फ्री में Download करने का ऑप्शन होता है। वहाँ से Download कर सकते हैं। इसके अलावा भी वेबसाइट है। जो Theme बेचती है। पता करने के लिए Google पर Blogger Theme Download सर्च कर सकते हैं।

  • GoyabiTemplates
  • SoraTemplates
  • BTemplates

जो Theme आप खरीदते या Download करते हैं। वो Zip file के रुप में होता है। लेकिन Blogger Zip file को Accept नहीं करता है। इसलिए Zip file को पहले XML file में extract करना होता है।

Step-2:- Theme के Zip file को XML file में बदलें।

कंप्यूटर से Zip file को XML file में Extract बहुत आसानी से हो जाती है। लेकिन मोबाइल से Extract करने के लिए ZArchiver, RAR आदि Application का उपयोग करना होता है। जब Theme Extract हो जाए। तब सिर्फ XML file को Blog में Upload करना होता है।

Step-3:- Custom Theme को Blog में Upload करें।

Theme को Extract करने के बाद Blog में Login करें। उसके Settings में जाएं। Theme के बगल वाले Three Dot पर क्लिक करें। उसके बाद Restore और फिर Upload पर क्लिक कर के Theme के XML file को अपलोड कर दें।

कुछ इस तरह से Blog में Custom Theme Install होता है। इसके बाद आपके Blog का Look बदल जाता है। इसके बाद कभी भी दुसरे Theme को Install करना हो तो इसी Process से Theme अपलोड कर सकते हैं। लेकिन बाद में Theme Upload करने से पहले Blog का Backup जरूर लें।

Custom Themes में आपको कुछ Change करना हो। या फिर कुछ Add करना हो। तब इसके लिए आपको Blog Dashboard से Layout पर जाना है। यहाँ से Blog Design किया जाता है। आपको Theme में जो कुछ भी Change करना है। यहाँ से कर सकते हैं। अगर पूरे Blog को Customize करना है। तब Blog Dashboard से Theme में जाना है। वहाँ आपको Customize लिखा होगा। उसपर क्लिक कर पूरे Blog के Text Size, Font, Colour, Image इत्यादि सभी बदल सकते हैं। यहाँ से पूरे Blog को Customize किया जाता है।

Step#6:- Search Engine के लिए Blog Optimize करे।

6th Step:- Blogging कैसे करे

हम Blog दुसरो तक अपने विचार शेयर करने के लिए लिखते हैं। इसमें Search Engine हमारी बहुत ज्यादा सहायता करता है। इससे अपने Blog पर बहुत सारे Visitors को ला सकते हैं। Blogging से पैसे भी हम तभी कमाते हैं। जब Blog को देखने वाला हो। यानी जितने अधिक Visitors Blog पर आते हैं। उतने अधिक विज्ञापन को देखा जाएगा। और जितने अधिक विज्ञापन को देखते या क्लिक करते हैं। उतने अधिक Blogging से पैसे कमाते हैं।

इसलिए Blog पर अधिक Visitors को लाने के लिए Google जैसे Search Engine का उपयोग किया जाता है। इसके लिए Blog को Optimize करना होता है। तो चलिए Search Engine के लिए Blog को Optimize करते हैं।

1. Blogger Basic Settings

  • Title के स्थान पर अपने Blog का नाम ही रहने दें। जैसे अगर Blog का Address www.gyanveda.com या www.gyanveda.blogspot.com है। तब Blog का नाम GYANVEDA होना चाहिए। यहाँ से कभी भी Blog का नाम Change कर सकते हैं।
  • Description के स्थान पर Blog का छोटा सा परिचय दे सकते हैं।
  • Blog Language के स्थान पर आप जिस Language में Blog Post लिखते हैं। वो यहाँ देना होता है।
  • Adult Content को बंद ही रहने दें। इसे On करने के बाद आपके Blog Post को Adult लोग ही Search Engine से Visit करेंगे। इसलिए इसे बंद रहने दें। जिससे सभी लोग Visit कर सकें।
  • Google Analytics Property ID में Google Analytics Account का ID डाल सकते हैं। जिससे Google Analytics से अपने Blog को Track कर सकते हैं।
  • Favicon में Blog के Logo बनाकर Upload जरूर करें।

2. Privacy

Visible to search engines को हमेशा On रखें। Off करने पर आपका Blog Search Engine में Show नहीं होगा। यानी Visitors नहीं आयेंगे।

3. HTTPS

HTTPS redirect को भी हमेशा On रखें। इससे आपके Blog पर SSL ON रहेगा।

4. Meta tags

Enable Search Description पहले से Off होता है। इसे On कर के Blog के Description लिख दें।

5. Crawlers and indexing

  • Crawlers and indexing में बाकी सब छोड़कर सिर्फ Google Search Console पर क्लिक करें।
  • अब आप Google Search Console पर पहुंच जाएंगे। यहाँ आपको Main Menu (तीन लकीर) पर क्लिक कर के Add Property पर क्लिक कर फिर से Add Property पर क्लिक करें। ध्यान रहे Google Search Console उसी Gmail से Login होना चाहिए। जिससे Blog बनाया गया है।
  • यहाँ आपको Blog के Domain या Subdomain को डालकर Continue पर क्लिक करना है।
  • अब यहाँ Auto Verify कर दिया है। क्योंकि Blogger Google कंपनी का ही Product है। और Gmail भी दोनो में एक ही था। नीचे Verification Method को देख सकते हैं।

Google के Traffic मैनेज करने के लिए Google Search Console का इस्तेमाल किया जाता है। इसके लिए GO TO PROPERTY पर क्लिक करे। इसके बाद Blog Google में 4 से 5 दिन में Index (Add) हो जाता है। कभी कभी अधिक समय भी लग सकते हैं।

तो बस इतना ही Blog Settings में बदलाव करना है। बाकि के Settings में कुछ भी नहीं करना है।

Step#7:- Blog के लिए महत्वपूर्ण Pages बनाएं।

6th Step:- Blogging कैसे करे

Blog के कुछ महत्वपूर्ण Page को बनाना बहुत जरूरी होता है। इन Pages के होने के बाद ही Adsense Approval मिल पाता है। ये महत्वपूर्ण Pages आपके Visitors को Blog के बारे में जानने में मदद करता है। तो चलिए जानते हैं कि Blog के लिए कौन कौन से Page महत्वपूर्ण होता है।

1. About Us

Blog में About Us Page का होना अनिवार्य होता है। इस Blog Page में Blog के बारे में पूरी जानकारी दिया गया होता है। इसी Blog Page से Visitors Blog के बारे तथा Blogger के बारे में जान पाते हैं। इसलिए यदि आप भी Blogger हैं अथवा आपका भी कोई Blog है। तब एक About Us नाम से Blog Page जरुर बनाएं। इस Page में अपने बारे में जैसे; आपका नाम, पता, पढ़ाई इत्यादि और Blog के बारे में जैसे; Blog बनाने का उद्देश्य, Blog पर क्या शेयर किया जाता है इत्यादि।

2. Contact Us

Blog में इस Page का भी होना अनिवार्य होता है। इस Blog Page में Admin, Editor अथवा Blogger से Contact करने का माध्यम दिया जाता है। जिससे Visitors Contact कर सकते हैं। बहुत सारे Blog में सिर्फ Email दिया गया होता है। तो कुछ Blog पर Contact Forum बनाया होता है। तो वहीं कुछ Blog पर इन सभी के साथ Social Media और Whatsapp Number भी दिया गया होता है। इसी प्रकार आप भी अपने Contact Us Page में आपसे Contact कैसे किया जा सकता है। इसकी जानकारी दे सकते हैं।

3. Privacy Policy

Privacy Policy Page प्रत्येक Blog और Website के लिए जरूरी होता है। इसमें Blog से संबंधित गोपनीयता नीति शेयर किया जाता है। जैसे; Blog पर Visitors से क्या क्या जानकारी लिया जाता है। क्यों लिया जाता है और उस जानकारी का किस प्रकार इस्तेमाल किया जाता है। इत्यादि शेयर करना होता है। Google Adsense के लिए ये Page का होना तो बिल्कुल जरूरी है।

4. Disclaimer

Disclaimer Blog Page पर Blog से जुड़े अस्वीकरण शेयर किया जाता है। यानी Visitors को Blog पर क्या करने से मना है। यह इस Page पर शेयर करना होता है। जैसे; आप Blog Content को Copy Paste करने के लिए मना कर सकते हैं और कमेंट में Abusive Language के लिए भी मना कर सकते हैं।

5. Terms and Conditions

इस Page पर Blog उपयोग करने के लिए या Blog पर कुछ सेवा उपलब्ध कराते है उसके उपयोग करने के नियम और शर्त शेयर किया जाता है। जैसे अगर आपके Blog के किसी सेवा को उपयोग करता है। तब आप उससे क्या क्या लेते हैं। उसका क्या इस्तेमाल करते हैं इत्यादि।

6. Comment Policy

वैसे तो Comment Policy बनाने की आवश्यकता नहीं होती है। Blog में कमेंट करने के क्या नियम है, नियम को पालन ना करने पर क्या किया जा सकता है इत्यादि Comment Policy Page पर शेयर किया जाता है। Comment Policy को Blog के Privacy Policy Page पर भी शेयर कर सकते हैं। किंतु आप चाहें तो इसे अलग से भी बना सकते हैं।

ऊपर हमने जाना कि कौन कौन से Blog Page महत्वपूर्ण होता है। और इन महत्वपूर्ण Blog Page में क्या शेयर करना होता है आदि बताया गया है। चलिए अब जानते हैं कि इन Blog Page को कैसे बनाया जाता है। Blog Page को बनाना बहुत आसान है। कुछ ही क्लिक में Page बना सकते हैं। चलिए जानते हैं।

Step-1:- Pages को चुनें।

सबसे पहले Blog को Login करें। उसके बाद Blog Dashboard से Pages पर क्लिक करें।

Step-2:- Blog Page Create करें।

अब नीचे एक Plus (+) का Icon दिख रहा होगा। उस Plus के Icon पर क्लिक कर के नये Pages को बनाया जाता है। सारे Blog Page यहीं पर दिखता है।

Step-3:- Blog Page Publish करें।

Plus के Icon पर क्लिक करने के बाद एक Page आता है। जिसमें Page को लिखा जाता है। यहीं पर अपने Blog Page संबंधित सारा कुछ लिख सकते हैं। Title के स्थान Blog Page का Title (जैसे; About Us)। Page के बाकी सारे Content को नीचे लिखा जाता है। फिर ऊपर Right Side वाले Arrow वाले Button पर क्लिक कर के Page को Publish किया जाता है।

कुछ इसी तरह से Blog Page बनाया जाता है। बाद में कभी भी Page बनाने के लिए इसी Process को Follow करना होता है। इसी Process के साथ About Us, Contact Us, Privacy Policy, Disclaimer इत्यादि Pages को बना लें।

Step#8:- पहला Blog Post लिखें।

8वां स्टेप:- फ्री Blogging कैसे शुरू करें

स्टेप#7 को पूरा करने के बाद अब आप Blogging करना शुरू करेंगे। क्योंकि स्टेप#7 तक तो हमने Blog Setup किया है। अब Blog पर Article यानी Blog Post शेयर करेंगे। Blog पर Blog Post शेयर करने के लिए सबसे पहले अपने Blog को Login करें। जैसे ही आप Blog को Login करेंगे।

तब नीचे Right Side में एक Plus (+) का Icon दिखेगा। उस पर क्लिक करना है। क्लिक करने पर एक Page खुलेगा। उसी Page पर Blog Post लिखना है। जिसमें Title के स्थान पर Post का Title और नीचे बाकी सभी Content को लिखा जाता है। Images को भी नीचे ही उपयोग किया जाता है।

अभी आप जिस Article को पढ़ रहे हैं। उसका Title “फ्री Blogging कैसे शुरू करें” है। बाकी सारा Content जिसे आप पढ़ रहे हैं। वो सब नीचे वाले भाग में लिखना होता है। लिखने के बाद Post को Publish कर दें।

आप जिस विषय के लिए इस Blog को बनाया था। उस विषय पर Article लिखना शुरू करें।

Step#9:- Blog की ट्रैफिक बढ़ाएं।

9वां स्टेप:- Free Blogging कैसे शुरू करें

Blog से पैसे Blogging करने से नहीं यानी Blog Post लिखने से नहीं होता है। बल्कि पैसे Blog के Traffic की वजह से कमाते हैं। जितने अधिक Blog की Traffic होंगे। उतने अधिक पैसे कमाएंगे। क्योंकि जितने अधिक Blog पर Traffic होंगे। उतने अधिक विज्ञापन को देखा और क्लिक किया जाएगा। Blog Visitors को Traffic बोलते हैं।

हम Bloggers इसीलिए Blogging करते हैं या फिर Blog Post लिखते हैं। ताकि Blog पर Traffic आ सके। हम Blog Post लिखते हैं और लोग उसे पढ़ने के लिए हमारे Blog पर Visit करते हैं। इस तरह हमारे Blog का Traffic बढ़ता है और हम Blogging कर के पैसे कमा पाते हैं।

Blog की Traffic बहुत प्रकार के होते हैं। जैसे;

1. Organic Traffic

जो Traffic Search Engine (जैसे; Google) से आता है। उसे Organic Traffic कहते हैं। यानी जब लोग Google या किसी अन्य Search Engine पर कुछ Search करते हैं। उसमें हमारे Blog Post Listed मिलता है। जब वहाँ से उस Blog Post पर आते हैं। तब इस Traffic को Organic Traffic बोलते हैं। सामान्यतः Blog पर 50% से 70% Traffic Organic ही होता है। Blog पर Organic Traffic प्राप्त करने के लिए बहुत अधिक मेहनत करना होता है।

2. Social Traffic

जो Traffic Social Media Sites (जैसे; Facebook) से आता है। उसे Social Traffic कहते हैं। Blog की Traffic बढ़ाने के लिए Social Media एक अच्छा माध्यम होता है। क्योंकि इसपर हमेशा बहुत सारे लोग Active होते हैं। जिसका फायदा हम अपने Blog पर Traffic प्राप्त कर के ले सकते हैं। Social Media से Traffic प्राप्त करने के Account बनाकर Blog Post का URL शेयर करना होता है।

3. Direct Traffic

जो Traffic Direct यानी बिना किसी वेबसाइट से आता है। उसे Direct Traffic कहते हैं। जब किसी को आपके Blog का Address याद होता है। तब वह व्यक्ति आपके Blog को पढ़ने के लिए Direct आपका Address Browser में डालकर खोल देता है। उसके बाद Blog Post पढ़ता है। जितने अधिक Blog Popular होता है। उतने अधिक Direct Traffic आता है।

5. Referral Traffic

जब Traffic किसी अन्य Blog या वेबसाइट से आता है। तब उसे Referral Traffic कहते हैं। अधिक Referral Traffic प्राप्त करने के लिए Backlink बनाना होता है। जब एक Blog को दुसरे Blog या वेबसाइट से Link करते हैं। तब उसे Backlink कहते हैं।

चूँकि Blogging कर के पैसे तभी कमा पाते हैं। जब हमारे Blog पर Traffic आता है। इसलिए Blogging से पैसे कमाने के लिए Traffic होना जरूरी होता है। तो चलिए जानते हैं Blog पर ट्रैफिक बढ़ाने के कुछ Important Tips

1. Blog को सभी Search Engine में Add करें।

सबसे पहले तो आपको सभी Search Engine में अपने Blog को Add करना चाहिए। क्योंकि Blog पर Traffic का मुख्य स्रोत Search Engine ही होते हैं। जिसमें सबसे प्रमुख Google Search Engine है। लेकिन Google के अलावा भी बहुत सारे Search Engines है। जैसे; Bing, Yahoo, Yandex आदि।

ऊपर हमने Blog को Google Search Engine (Google Search Console) में Add करने की Process को बता दिया है। बाकि के Search Engine में भी अपने Blog जरुर Add कर दें।

2. Blog Post को Social Media Sites पर शेयर करें।

जैसा कि मैंने बताया है कि Social Media Sites Blog की Traffic बढ़ाने में बहुत मदद करता है। तब आपको इस पर Post शेयर कर इसका फायदा जरूर उठाना चाहिए। Social Media से Blog Traffic Boost होती है।

Social Media भी बहुत सारे हैं। जैसे; Twitter, Facebook, WhatsApp, Pinterest आदि। आपको इन सभी Social Media पर Account बनाकर अपने Blog post को शेयर करना चाहिए। शुरुआत में Blog पर Social Media से ही अधिक Traffic प्राप्त कर सकते हैं। Social Media Sites के अलावा Forum Sites और Question Answer Sites (जैसे; Quora) का भी उपयोग कर सकते हैं।

3. Quality Content लिखें।

Blogging में सबसे महत्वपूर्ण हमारा Content होता है। जितना अधिक हमारे Content में दम होगा। उतने अधिक लोग हमारे Content को पढ़ना चाहेंगे। इसलिए आप Blog पर जो भी शेयर करें। उसे पूरी जानकारी के साथ शेयर करें।

ऐसा ना हो कि आपके Blog पर आए और उसे कुछ समझ ही ना आए। या फिर उसके प्रश्न का जवाब ही ना मिल पाए। इसलिए जो भी लिखें। उसे पूरी Quality के साथ लिखें। इसके साथ Content Unique भी होना चाहिए। यानी Content किसी दुसरे Blog वेबसाइट से Copy किया हुआ नहीं होना चाहिए।

Note:- Blog में दुसरे Blog या वेबसाइट के किसी प्रकार के Content को Copy Paste ना करें। Image भी दुसरे Blog या Website का इस्तेमाल ना करें। Blog में खुद से बनाये गये Images का प्रयोग करें। या फिर Copyright Free जैसे; Pixabay.com के Images का इस्तेमाल किया जा सकता है।

4. SEO Friendly Blog Post लिखें।

SEO का पूरा नाम Search Engine Optimisation होता है। Blog Post को Search Engine के लिए Optimize करना SEO कहलाता है। इसमें Post को इस तरह से तैयार किया जाता है कि Search Engine को Post Valuable लगता है । इस तरह Search Engine Post को Rank कर देता है।

SEO आमतौर पर Post को किसी खास Keyword पर Rank कराने के लिए किया जाता है। जिसमें उस Keyword को सही तरीके से Blog Post में Set करना होता है। आप भी अपने Post को SEO करें। SEO के अधिक जानकारी के लिए Google कर सकते हैं।

Blog Post को SEO Friendly बनाने के टिप्स

  • Blog Post के Title को User Friendly रखें। यानी ना ज्यादा बड़ा और ना ज्यादा छोटा। जैसे; फ्री में Blogging कैसे शुरू करें। 10 आसान स्टेप्स
  • Post के URL भी छोटा और Title से मिलता जुलता रखें। जैसे; blogging-kaise-shuru-kare
  • Post को कम से कम 2000 Word का लिखें। जितना हो सके। उतना बड़ा Post लिखने की कोशिश करें।
  • Blog Post बड़ा करने के चक्कर में Post में Boring Content ना जोड़ें।
  • Keyword Research कर के Keyword को Post में implement करें।
  • अपने Main Keyword को इस तरह व्यवस्थित करें कि Post Natural लगे।

5. Trending Blog Post लिखें।

आप जिस भी विषय पर Blog Post लिखते हैं। उस विषय के Trending Topics पर Post लिखें। जैसे अगर आप Phone Reviews पर Blog लिखते हैं। तब जो Phone Trend करने वाले हो। उस पर Post लिखें। अगर एक Post भी Trending Keyword पर Rank करता है। तब पूरे Blog पर Traffic आ सकता है।

इसलिए अगर अपने Blog को Rank कराना चाहते हैं। तब Trending Topics को जरूर Cover करें। Trending Topics पता करने के लिए Google Trend का इस्तेमाल किया जाता है।

Step#10:- Blogging से पैसे कमाए।

अंतिम स्टेप:- Blogging कैसे शुरू करें

Blogging से पैसे कमाना बहुत आसान है और इससे अच्छा खासा पैसा भी कमा सकते हैं। बशर्ते Blog पर अच्छा खासा Traffic होना चाहिए। यानी अगर आपके Blog पर प्रत्येक दिन अच्छा खासा Traffic आता है। तब आप बहुत आसानी से पैसे कमा सकते हैं।

Blogging से पैसे कमाने के बहुत से तरीके हैं। लेकिन अगर आपके Blog पर Traffic नहीं है। तब आप Blogging से कुछ भी नहीं कमा सकते हैं। इसलिए सबसे पहले अपने Blog के Traffic बढ़ाने की कोशिश करें। क्योंकि बिना Traffic के Blogging से पैसे कमाया ही नहीं जा सकता है।

वैसे तो Blogging से पैसे कमाने के लिए बहुत से तरीके मौजूद है। लेकिन मुख्य रुप से चार तरीको का इस्तेमाल अक्सर सभी Blogger करते हैं। आप भी एक ही Blog से इन चारो के माध्यम से पैसे कमा सकते हैं। इसके अलावा भी Blogging से पैसे कमाने के बहुत से तरीके हैं।

1. Advertisement

Blogging से पैसे कमाने का सबसे बढ़िया तरीका Advertisements को माना जाता है। Advertisement को हिंदी में विज्ञापन तथा Short में Ads (एड्स) कहते हैं। ऑनलाइन विज्ञापन एक प्रकार का Promotional Link या Image होता है।

जिसके द्वारा किसी भी वस्तु या संस्था को Promote किया जाता है। Online Promote करने के लिए Blog का भी इस्तेमाल किया जा सकता है। Blog पर Promotional Link या Image को लगाकर Promote किया जाता है।

विज्ञापन से पैसे कमाने के लिए बहुत सारे Ads Network है। जिसके विज्ञापन को अपने Blog पर लगाकर पैसे कमा सकते हैं। जैसे; Google Adsense, Infolinks इत्यादि। लेकिन इन सभी में Google Adsense सबसे Best है। क्योंकि यह विश्वासपात्र और अधिक पैसे देने वाली Ads Network है। इसलिए सभी Blogger का Main Earnings Source Google Adsense ही होता है।

Google Adsense का Ads Blog पर दिखाकर पैसे कमाने के लिए सबसे पहले Google Adsense के लिए Apply करना होता है। जब Blog में सब कुछ ठीक रहता है। यानी Blog Google Adsense के सभी Term’s And Conditions को Follow करती है। तब Approve कर दिया जाता है।

जिसके बाद Google Adsense का Ads अपने Blog Post में लगा देना होता है। जिससे जब कभी भी कोई आपके Blog पर Visit करेगा और Post पढ़ेगा। तब उसे वह Ads भी देखने को मिलेगा। इससे आपकी कमाई होगी। जितने अधिक लोग Blog पर Visit करते हैं। उतने अधिक लोग Ads भी देखते हैं और इस तरह कुछ लोग क्लिक भी कर देते हैं। यह कमाई आपके Google Adsense Account में जमा होता है। जिसे 100 डॉलर होने के बाद बैंक में Transfer कर सकते हैं।

2. Affiliate Marketing

Bloggers का दुसरा सबसे पसंदीदा तरीका और सबसे अच्छा तरीका Affiliate Marketing को माना जाता है। बहुत सारे Bloggers को यह तरीका सबसे ज्यादा पसंद आता है। क्योंकि इसमें Google Adsense से भी ज्यादा पैसे कमाया जा सकता है।

Affiliate Marketing में ऑनलाइन प्रोडक्ट के Link या Image को अपने Blog पर लगाकर Promote करना होता है, और अपने Visitors को Product खरीदने का सुझाव दिया जाता है। जिससे Visitors को Product पसंद आता है, और Visitors उस Product को खरीद सकता है।

जब Promote किए गए Link या Image पर क्लिक कर के Product खरीदा जाता है। तब Product के कंपनी के द्वारा अच्छा खासा कमीशन दिया जाता है। इसी Process को Affiliate Marketing कहा जाता है। Affiliate Marketing कर के पैसे कमाने के लिए सबसे पहले किसी विश्वासपात्र कंपनी के Affiliate Program में Join होना होता है। जैसे; Amazon Affiliate Program, Flipkart Affiliate Program आदि।

Affiliate Program में Join होने के बाद उसके Product (जैसे; Amazon से Books, Clothes, Smartphone आदि सब कुछ) का Affiliate Link बनाना होता है। Affiliate Link एक Unique Link होता है। इसी Link से कोई Product को खरीदता है तब कमीशन मिलता है।

इसलिए उस Affiliate Link को अपने Blog में लगा देना होता है। जिसको अपने Visitors को खरीदने की सलाह देना होता है। इसमें भी जितने अधिक लोग Product खरीदते हैं, या फिर Sign Up करते हैं। तब कमीशन मिलता है। जिसे बैंक में ट्रांसफर कर सकते हैं।

जैसे; अगर आप Phone Reviews पर Blog Post लिख रहे हैं। तब उस Phone का Affiliate Link बनाकर उस Post में डाल दें। अगर वह Phone बढ़िया होगा। तब आप अपने Reviews में अपने Visitors को बताएंगे। जिससे Visitors उस Affiliate Link पर क्लिक कर केPhone खरीद सकता है। इसी तरह अपने Blog से किसी भी Product का Affiliate Marketing कर सकते हैं।

3. Sponsorship

जब आपके Blog पर Traffic आने लगती है। तब लोग आपके Blog पर Sponsorship करना चाहेंगे। Sponsorship में भी विज्ञापन दिखाना होता है। Google Adsense की तरह ही। किंतु Google Adsense में उसी विज्ञापन को दिखाने के लिए कम पैसा दिया जाता है। क्योंकि कुछ पैसा तो Google खुद रखता है।

लेकिन Sponsorship में Direct होता है। इसलिए जिस विज्ञापन को Google Adsense कम पैसा देगा। उसी विज्ञापन को Sponsorship में अधिक पैसा दिया जाता है। जब आपका Blog पॉपुलर होता है। तब खुद ही लोग आपके Blog पर Sponsorship के लिए Contact करेंगे। इसके लिए Blog पर Contact Us Page होना जरूरी है। प्रत्येक Sponsored Post के लिए आप अपने Dailly Visitors के अधार पर पैसे मांग सकते हैं।

4. Product Selling

Blog से Product Sell कर के भी पैसे कमाया जाता है। ज्यादातर Educational Blog Product Sell कर पैसे कमाते हैं। इसमें आपको अपने Blog के विषय से संबंधित eBook या Course बनाकर Blog पर बेच सकते हैं।

जैसे; अगर आप Blog से Marketing सिखाते हैं। तब Marketing पर एक eBook बना सकते हैं। जिसमें Marketing की पूरी जानकारी और छोटी बड़ी टेक्निक बता सकते हैं। उस eBook को Blog Visitors को खरीदने का सुझाव दे सकते हैं, या फिर उस eBook के फायदे बता कर Visitors को खरीदने की सलाह दे सकते हैं।

इसी तरह अपने Blogging विषय पर eBook बनाकर बेच सकते हैं। अगर आप Blog से पढ़ाते हैं। तब यह सबसे अच्छा तरीका हो सकता है आपके लिए। आप प्रत्येक Subject का eBook बना सकते हैं, Visitors को खरीदने को बोल सकते हैं।

ये भी पढ़ें:-

Conclusion- Blogging कैसे शुरू करें

यहाँ बताये गये जानकारी आपको कैसा लगा। अपना विचार कमेंट में जरूर शेयर करें। इस Article में हमने Blogging की पूरी जानकारी देने की कोशिश की है। उम्मीद करता हूँ कि यह Article आपको पसंद आया होगा। इस Article में आपको बहुत कुछ सीखने को मिला होगा। यह लेख Beginners के लिए बहुत ही Helpful होनेवाली है। जो लोग फ्री Blogging करने की सोच रहे हैं। उम्मीद करता हूँ कि उन लोगो को फ्री Blogging शुरू करने की पूरी जानकारी प्राप्त हो गया होगा। अगर आपका कोई प्रश्न या सुझाव है। तब उसे भी कमेंट के माध्यम से शेयर कर सकते हैं।

TAG:- Blogging कैसे शुरू करें, फ्री Blogging कैसे शुरू करें, Blogging कैसे करें, फ्री Blogging कैसे करें, Free Blogging Kaise Kare, Free mein blogging Kaise Kare, how to start free blogging, Free Blogging Kaise shuru kare

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to top