Database क्या है? इसके प्रकार, कार्य, उपयोग और लाभ

Database kya hai

आज इस लेख में आप Database की जानकारी पढ़ेंगे। यदि आप एक कंप्यूटर उपयोगकर्ता हैं। या फिर कंप्यूटर में कैरियर बनाना चाहते हैं। तब आपको Database की जानकारी होनी चाहिए।

लेकिन क्या आपको पता है कि Database होता क्या है। यदि आपको Database की जानकारी नहीं है। और आप Database की जानकारी जानना चाहते हैं। तब इस लेख को शुरू से अंत तक जरूर पढ़ें।

यहाँ आप Database क्या है? इसके प्रकार, कार्य, उपयोग और लाभ जानेंगे। तो चलिए जानते हैं कि Database क्या है?

Database क्या है? (What is Database in Hindi)

Database कई सारे डेटा का संग्रह यानी Collection होता है। इसे आप एक Storage की तरह मान सकते हैं। जहाँ बहुत सारे डेटा को Store किया जाता है। लेकिन Database में जितने भी डेटा Store होता है। उसे Organised रुप से Store किया जाता है।

Organised रुप से कहने का मतलब है कि Database में डेटा व्यवस्थित कर के रखा जाता है। जिससे बाद में कभी भी जरूरत पड़ने पर डेटा में बदलाव या Access आसानी से किया जा सके। इसके लिए एक विशेष सॉफ्टवेयर का उपयोग किया जाता है।

आज इंटरनेट पर बहुत सारे वेबसाइट मौजूद है। जो डेटाबेस का उपयोग करती है। उदाहरण के लिए Facebook, Twitter या YouTube को ही ले सकते हैं। यहाँ User के बहुत से डेटा जैसे; नाम, मोबाइल नंबर, पता, Profile Picture, Messages, Friends, Status, Posts इत्यादि उपलब्ध होते हैं। जिसे वेबसाइट के Database पर Store किया जाता है।

इसी तरह ई-कॉमर्स वेबसाइट जैसे; Amazon और Flipkart के अलावा बैंकिंग, गेमिंग, विडियो स्ट्रीमिंग, टिकट रिजर्वेशन इत्यादि में भी डेटाबेस में प्रयोग किया जाता है। Database बनाने और मैनेज करने के लिए DBMS Software का इस्तेमाल किया जाता है। DBMS Software क्या है? इसे आप आगे पढ़ेंगे।

Database क्या है? में डेटा शब्द का प्रयोग हुआ है। जो कि बहुत महत्वपूर्ण है। चलिए जानते हैं कि डेटा क्या होता है।

1. Data क्या है? (What is Data in Hindi)

किसी भी व्यक्ति, वस्तु या स्थान से जुड़े जानकारी को डेटा कह सकते हैं। यह अक्षर, संख्यात्मक, अक्षर संख्यात्मक, ध्वनि, रेखाचित्र, चलचित्र इत्यादि किसी भी प्रकार का हो सकता है। जैसे; नाम, पता, मोबाइल नंबर, उम्र, लंबाई, वजन इत्यादि किसी व्यक्ति का डेटा होता है। डेटा कई फॉर्मेट में हो सकते हैं। जब डेटा विशेष फॉर्म में प्रोसेस होता है। तब यही डेटा Information बन जाता है।

Database की परिभाषा

Data के व्यवस्थित संग्रहालय को कंप्यूटर में Database कहा जाता है। जिसमें डेटा को व्यवस्थित तरीके से संग्रहीत किया जाता है। जहाँ डेटा का आसानी से उपयोग और बदलाव किया जा सकता है।

Database Management System क्या है?

Database क्या होता है। यह तो आपने जान ही लिया होगा। लेकिन एक Database काम कैसे करता है। यह समझने के लिए DBMS को जानना होगा।

DBMS का पूरा नाम Database Management System होता है। जिसे हिंदी में डेटाबेस प्रबंधन प्रणाली कहते हैं। डेटाबेस से डेटा को Edit करना, Update करना, Store करना या Delete इत्यादि कार्य करने के लिए एक DBMS की जरूरत होती है। यह एक सॉफ्टवेयर या प्रोग्राम होता है। जो डेटाबेस के डेटा को Manage करता है। या Manage करने के लिए एक Interface के रूप में कार्य करता है।

जिस तरह एक Computer के लिए Operating System होता है। उसी प्रकार एक Database के लिए DBMS Software होता है। DBMS System Software का एक उदाहरण है।

Database Management System के प्रकार

DBMS को मुख्यतः चार प्रकार में बांट सकते हैं।

1. Hierarchical Database

Hierarchical Database एक डेटाबेस मॉडल है। इसे 1960 में IBM के द्वारा विकसित किया गया था। जिसे डेटाबेस का एक प्रकार भी बोल सकते हैं। Hierarchical Database मॉडल को पहला डेटाबेस का मॉडल माना जाता है। इस प्रकार के डेटाबेस में डेटा को Tree जैसी संरचना में Store किया जाता है। जो एक दुसरे से जुड़े हुए होते हैं।

2. Network Database

यह डेटाबेस मॉडल Powerful होने के साथ Complicated भी है। यह मॉडल Hierarchical Database मॉडल से मिलता जुलता होता है। इस डेटाबेस मॉडल में डेटा को स्टोर करने के लिए Network Structure का उपयोग करती है। इसलिए इसे Network Database कहते हैं।

3. Relational Database

यह डेटाबेस मॉडल Powerful तो है ही साथ ही Simple भी है। Relational Database में डेटा को Table Structure में स्टोर किया जाता है। इसलिए यह आसान होता है। इसके Table के Rows को Records और Columns को Fields कहते हैं। यह सबसे ज्यादा पॉपुलर और अधिक उपयोग किए जाने वाला डेटाबेस मॉडल है। क्योंकि इसे थोड़ी बहुत प्रशिक्षण में ही सरलता से उपयोग किया जा सकता है।

4. Object-Oriented Database

Object-Oriented डेटाबेस मॉडल में Object-Oriented Programming Language का उपयोग किया जाता है। इस डेटाबेस मॉडल में डेटा को Object के रुप में Store किया जाता है।

Database Management System के कार्य

डेटाबेस में जो कुछ भी कर पाते हैं। उसके लिए एक सॉफ्टवेयर की जरूरत होती है। जिसे DBMS कहते हैं। DBMS एक Interface प्रोवाइड कराता है। जिसकी मदद से बहुत सारे कार्य कर पाते हैं। जैसे;

  1. Database Create करना।
  2. Data Insert करना।
  3. Data Edit करना।
  4. Data Delete करना।
  5. Data Access करना।
  6. Data Update करना।

Database Management System के उदाहरण

इसके अलावा DBMS का कार्य Database को सुरक्षित रखना भी है। ताकि कोई भी Unauthorised Person उसे Access ना कर सके। डेटाबेस को मैनेज करने के लिए बहुत सारे DBMS उपलब्ध है। लेकिन सबसे अधिक उपयोग किया जाने वाला DBMS का उदाहरण नीचे दिया गया है। जैसे;

  1. MySQL
  2. Oracle
  3. FoxPro
  4. SQL Server
  5. Microsoft Access

Database का उपयोग

इंटरनेट पर ऐसे बहुत सारे Dynamic Website उपलब्ध है। जो डेटाबेस का उपयोग करती है। सभी के बारे में इस लेख में बताना सही नहीं होगा। यहाँ हम सिर्फ ऐसे कुछ उदाहरण देखेंगे। जिससे आप अनुमान लगा सकते हैं कि Database का उपयोग कहाँ कहाँ किया जाता है।

1. शॉपिंग वेबसाइट

इंटरनेट पर ऐसे बहुत सारे शॉपिंग वेबसाइट उपलब्ध है। जो डेटाबेस का उपयोग करती है। उदाहरण के तौर पर सबसे अधिक पॉपुलर शॉपिंग वेबसाइट Amazon और Flipkart को देख सकते हैं। यहाँ User के Information जैसे नाम, पता, मोबाइल नंबर इत्यादि से लेकर ऑर्डर लिस्ट आदि सब डेटाबेस पर स्टोर होते हैं।

2. सोशल मीडिया

सोशल मीडिया! इंटरनेट पर सबसे अधिक उपयोग किए जाने वाले साइट्स हैं। सोशल मीडिया भी डेटाबेस का इस्तेमाल करती है। सोशल मीडिया वेबसाइट पर बहुत सारे User होते हैं। उन सभी के बहुत सारे Information से लेकर के उनके Messages, Post, Status इत्यादि डेटाबेस में ही स्टोर किए जाते हैं।

3. ऑनलाइन वीडियो

ऑनलाइन वीडियो स्ट्रीमिंग तो आपने किया ही होगा। ऑनलाइन वीडियो स्ट्रीमिंग के लिए भी डेटाबेस का उपयोग किया जाता है। ऑनलाइन वीडियो स्ट्रीमिंग वेबसाइट अपने वीडियो के अलावा User के जानकारी को भी Database में Store रखता है।

4. ऑनलाइन गेमिंग

ऑनलाइन गेम खेलना किसको पसंद नहीं होगा। आपने भी ऑनलाइन गेम जरूर खेला होगा। आपको बता दूँ कि सभी ऑनलाइन गेम डेटाबेस का उपयोग नहीं करती है। लेकिन ऑनलाइन गेमिंग में भी डेटाबेस का उपयोग किया जाता है। उदाहरण के लिए आप सबसे अधिक पॉपुलर गेम PubG को देख सकते हैं।

5. बैंकिंग

बैंक को तो आप सभी लोग जानते ही होंगे। यहाँ पर भी डेटाबेस का उपयोग किया जाता है। आप कभी भी अपने बैंक खाता से लेन देन कर लें। वो सभी बैंक डेटाबेस में स्टोर होते हैं। तभी तो आपके पासबुक पर बहुत पहले के Transactions भी प्रिंट हो जाते हैं।

कॉलेज वेबसाइट

कॉलेज के वेबसाइट के लिए भी डेटाबेस का उपयोग किया जाता है। जब कॉलेज की वेबसाइट पर रिजल्ट पब्लिश किया जाता है। तब रिजल्ट डेटाबेस की वजह से ही देख पाते हैं। क्योंकि पहले से ही रौल नं० और रौल कोड के अनुसार डेटाबेस में रिजल्ट Store कर लिए जाते हैं। जिसे कॉलेज की वेबसाइट से Roll No और Roll Code के द्वारा रिजल्ट चेक किया जाता है। इसी प्रोसेस को Database Retrieve या Database Access कहते हैं।

7. रेलवे और फ्लाइट टिकट रिजर्वेशन

टिकट बुकिंग में भी डेटाबेस का उपयोग होता है। जिसमें टिकट से संबंधित सभी जानकारी स्टोर किया जाता है।

8. आधार कार्ड

आधार कार्ड में हमारे सभी जानकारी स्टोर होते हैं। हमारे नाम मोबाइल नंबर, पता इत्यादि परिचय से लेकर हमारे फिंगर प्रिंट आदि भी Store होते हैं। कहने का मतलब हमारा सब कुछ आधार कार्ड में Store है। और यह सब जानकारी आधार कार्ड में नहीं बल्कि किसी डेटाबेस में ही Store है।

Database के लाभ (Benefits of Database in Hindi)

ऊपर आपने डेटाबेस के उपयोग को पढ़ा। मुझे उम्मीद है कि इससे आप समझ गए होंगे कि Database क्या है और Database के लाभ क्या है। लेकिन अगर आप फिर भी Database के लाभ नहीं जानते हैं। तो यहाँ हम Database के लाभ जान लेते हैं।

  1. Database के कारण जानकारी को आसानी से और कहीं से भी प्राप्त कर पाते हैं। जैसे; रिजल्ट
  2. Database में डेटा को स्टोर करना या फिर उसमें बदलाव करना भी आसान होता है।
  3. Database पर स्टोर डिजिटल डेटा पेपर फाइल्स की तुलना में अधिक सुरक्षित और संरक्षित होता है।
  4. Database में Data को बहुत अधिक समय के लिए Store कर के रख सकते हैं।
  5. Database से Data Access करना बहुत आसान होता है।
  6. Database से एक बार में बहुत सारे लोग भी डेटा Access कर सकते हैं।
  7. Database को बिना Permission के कोई भी Access नहीं कर सकता है।
  8. Backup और Recovery जैसी सुविधाए भी Provide कराता है।

इसे भी पढ़ें:-

  1. कंप्यूटर क्या है?
  2. कंप्यूटर हार्डवेयर क्या है?
  3. सॉफ्टवेयर क्या है?
  4. ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है?
  5. प्रोग्रामिंग लैंग्वेज क्या है?
  6. कंप्यूटर वायरस क्या है?
  7. एंटीवायरस क्या है?

Conclusion

हम उम्मीद करते हैं कि यहाँ बताए गए Database की जानकारी आपको पसंद आया होगा। यदि पसंद आया है तो शेयर करना ना भुलें। यदि आप हमसे कुछ पूछना चाहते हैं। तब कमेंट के द्वारा पुछ सकते हैं। यह लेख आपको कैसा लगा अपने विचार शेयर करना बिल्कुल भी ना भूलें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to top
error: Content is protected !!