ब्लॉग क्या है और ब्लॉगिंग क्यों करते हैं?

अगर आप ब्लॉगिंग करने का सोच रहे हैं। या ब्लॉगिंग में कैरियर बनाना चाहते हैं। तब सबसे पहले आपको ब्लॉगिंग की जानकारी प्राप्त कर लेना चाहिए। आप इस पेज तक आए हैं। इसका मतलब है कि आप ब्लॉग और ब्लॉगिंग के बारे में जानना चाहते हैं। अगर आपको ब्लॉगिंग की जानकारी चाहिए। तब इस लेख को अंत तक पढ़ सकते हैं। इस लेख में ब्लॉग और ब्लॉगिंग क्या होता है। इसकी पूरी जानकारी दी गई है।

लोग हर दिन हजारो प्रश्न Google या किसी अन्य Search Engine पर खोजते रहते हैं। अभी भी बहुत सारे प्रश्न Google और अन्य Search Engine पर Search किया गया होगा। इसका यह मतलब नहीं कि उन सभी प्रश्नों का जवाब Search Engine खुद रखता है। Search Engine तो सिर्फ Blog या Website के URL को List कर के रखता है। यानी प्रश्नो का जवाब किसी Blog या वेबसाइट पर होता है। जिसे Blog और वेबसाइट के Writers लिखते हैं।

Blog भी एक तरह का वेबसाइट होता है। जिसपर Blogger (Blog को संचालित करने वाला व्यक्ति) अपने जानकारी के अनुसार Article लिखता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि Blog क्यों लिखा जाता है। Blog लिखने के फायदे क्या होते है। तो चलिए ब्लॉगिंग की सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त करते हैं।

जरुर पढ़ें: वेबसाइट और ब्लॉग में क्या अंतर होता है?

ब्लॉग क्या होता है? (What is Blog in Hindi)

ब्लॉग! जिसे हिंदी में चिट्ठा कहते हैं। यह भी एक तरह से वेबसाइट होता है। यानी Blog इंटरनेट पर उपस्थित एक स्थल होता है। जिसे वेबपृष्ठ या जालस्थल भी कहते हैं। इसका उपयोग अपने विचार को दुनियाभर में शेयर करने के लिए किया जाता है।

Blog बहुत सारे वेबपेज से मिलकर बना होता है। यानी Webpage के Collection को Blog कहा जाता है। Blog के प्रत्येक पेज पर एक विशेष जानकारी या विवरण दिया जाता है। इसे हमेशा नये Article के साथ Update किया जाता है। और पुराने Article को भी Update किया जाता है।

आमतौर पर Blog को खास जानकारी जैसे; समाचार, शिक्षा, मनोरंजन और विचार इत्यादि शेयर करने के लिए बनाया जाता है। आप जिस पेज पर यह Article पर पढ़ रहे हैं। वो भी एक Blog ही है। जिसपर Tech Related Articles शेयर किया जाता है।

Blog को किसी एक व्यक्ति या किसी एक समूह के द्वारा संचालित किया जा सकता है। Blog बनाने का Main Goal अपने विचार शेयर करना, जानकारी शेयर करना और लोगों से जुड़ना हो सकता है।

ब्लॉगिंग क्या होती है? (What is Blogging in Hindi)

जैसा कि ऊपर आपने जाना की Blog बहुत सारे Webpages होते हैं। जिसमें Article (Blog Post) लिखा जाता है। इसी Blog Post को लिखने के कार्य को Blogging कहा जाता है। किन्तु Blogging में सिर्फ Blog Post ही नहीं। बल्कि और भी बहुत सारे कार्य होते हैं। जैसे;

  1. Blog Post लिखना
  2. Blog Post Publish करना
  3. पुराने Blog Post को Update करना
  4. Blog Post Link करना
  5. Comments का जवाब देना
  6. SEO करना
  7. Blog को Secure रखना
  8. Keywords Research करना
  9. Blog Post को शेयर करना

यानी Blog को संचालित करने में किए गए पूरे कार्य को Blogging कहते हैं। अगर किसी व्यक्ति को Blogging आता है। तब हम कह सकते हैं कि उस व्यक्ति को ऊपर बताए गए सभी Skills आते होंगे। Blogging को हिंदी में चिट्ठाकारी या चिट्ठाकारिता कहते हैं।

ब्लॉगर कौन होता है? (What is Blogger in Hindi)

जो व्यक्ति Blogging करता है। यानी Blog को संचालित करता है। वैसे व्यक्ति को Blogger कहा जाता है। Blogger को हिंदी में चिट्ठाकार कहा जाता है। ऐसे व्यक्ति को Blogging में उपयोग होने वाले सभी कार्य का Skills होता है। यह व्यक्ति एक Blog बनाकर अपने विचार को दुनिया के सामने रखता है। या फिर किसी जानकारी को शेयर करता है।

ब्लॉगर को मुख्य रूप से चार प्रकार में बांट सकते हैं।

  1. शौकिया ब्लॉगर
  2. पार्ट टाइम ब्लॉगर
  3. फुल टाइम ब्लॉगर
  4. प्रोफेशनल ब्लॉगर

1. शौकिया ब्लॉगर

वे व्यक्ति जो अपने शौक से ब्लॉगिंग करते हैं, शौकिया ब्लॉगर कहलाता है। इन्हें ब्लॉग बनाना और ब्लॉग Manage करना पसंद होता है। ये बिना किसी फायदे के भी ब्लॉगिंग कर सकते हैं। इसलिए ये बिना पैसे के भी ब्लॉगिंग करते हैं।

2. पार्ट टाइम ब्लॉगर

वे व्यक्ति जो अपने समय का कुछ हिस्सा (Part) ब्लॉगिंग करने में लगाते हैं, पार्ट टाइम ब्लॉगर कहलाते हैं। ऐसे ब्लॉगर कुछ और कर रहे होते हैं। किंतु बचे हुए समय में ब्लॉगिंग करते हैं। इन्हें ब्लॉगिंग में सफल होने में दुसरे ब्लॉगर से अधिक Time लगते हैं। क्योंकि यह ब्लॉगिंग में अपना पूरा Time नहीं दे पाते हैं। अक्सर पढ़ने वाले छात्र या जॉब करने वाले व्यक्ति अपने बचे हुए समय में ब्लॉगिंग करते हैं। इसलिए इन्हें पार्ट टाइम ब्लॉगर कह सकते हैं।

3. फुल टाइम ब्लॉगर

वे व्यक्ति जो अपना पूरा समय ब्लॉगिंग करने में लगाते हैं, फुल टाइम ब्लॉगर कहलाते हैं। फुल टाइम ब्लॉगर अपने ब्लॉग को जल्दी सफल बना लेते है। क्योंकि ये ब्लॉगिंग पर अधिक समय देते हैं। अक्सर शौकिया ब्लॉगर जिसे ब्लॉगिंग करने में मजा आता है। वही फुल टाइम ब्लॉगिंग कर पाते हैं।

4. प्रोफेशनल ब्लॉगर

वे व्यक्ति जो ब्लॉगिंग में माहिर होते हैं और ये ब्लॉगिंग को एक बिजनेस की तरह देखते हैं, प्रोफेशनल ब्लॉगर कहलाते हैं। ऐसे ब्लॉगर अपने ब्लॉग के माध्यम से प्रोडक्ट और सर्विसेज की जानकारी लिखते हैं। और इसके बदले कंपनी से अच्छे खासे पैसे लेते हैं।

ब्लॉगिंग संबंधित जरूरी परिभाषाएं

ब्लॉगिंग में उपयोग होने वाले जरूरी शब्दो के परिभाषा निम्नलिखित है।

1. वेबपेज की परिभाषा

इंटरनेट पर उपस्थित वे सभी पृष्ठ जिसपर हम कुछ पढ़ते, देखते या लिखते है, Webpage होते हैं। इसे हिंदी में जालस्थल कहा जाता है।

2. ब्लॉग की परिभाषा

ब्लॉग भी एक वेबसाइट होता है। किंतु इसपर Article समय-समय पर अपडेट किया जाता है। जिसे कालानुक्रम के अनुसार व्यवस्थित करके रखा जाता है। यानी पुराने Article को नीचे और नये Article को ऊपर दिखाया जाता है।

3. ब्लॉग पोस्ट की परिभाषा

ब्लॉग के लिए लिखे गए Article को Blog Post कहा जाता है। Blog Post में Text, Image, Video, Pdf इत्यादि तरह के फाइल हो सकते हैं।

4. ब्लॉगिंग की परिभाषा

Blog Post लिखना या ब्लॉग संचालित करना ब्लॉगिंग कहलाता है। ब्लॉगिंग एक प्रकार का कार्य है।

ब्लॉगर की परिभाषा

Blog Post लिखने वाले व्यक्ति या Blog को मैनेज करने वाले व्यक्ति को ब्लॉगर कहा जाता है। यानी जो व्यक्ति ब्लॉगिंग करता है। उसे ब्लॉगर कहते हैं।

ब्लॉगिंग के इतिहास

बात 1994 की है। जब Swarthmore College का एक छात्र Justing Hall दुनिया का पहला Blog Links.net बनाया था। इस समय तक Blog या Blogging शब्द का जन्म भी नही हुआ था। तभी पहली बार John Barger ने Weblog शब्द को गढ़ा। किन्तु Blog शब्द को Peter Merholz के द्वारा 1999 में Weblog को छोटा कर के गढ़ा गया।

Peter Merholz ने Blog शब्द को मजाक में अपने ब्लॉग पर इस्तेमाल किया था। लेकिन आज Blog को Weblog के लघु के रुप में जाना जाता है। इसके पश्चात इवान विलियम्स ने Blog शब्द के संज्ञा “पोस्ट लिखना या पोस्ट करना” को निर्धारित किया। इसके साथ Blogger (Blogspot) प्रोडक्ट की शुरुआत हुआ। यह ब्लॉगिंग टूल है। जिसपर ब्लॉग बना सकते हैं। फिलहाल Blogger Google कंपनी के अधीन है।

इसके बाद से ही ब्लॉगिंग आसान हो गया। क्योंकि अब ब्लॉगिंग के लिए प्रोग्रामिंग सीखने की आवश्यकता नहीं थी। अब Blogger के द्वारा बहुत आसानी से ब्लॉग बनाया जा सकता था। Blogger के बाद एक Open Source ब्लॉगिंग टूल WordPress को विकसित किया गया। जिसे पहले संस्करण में ही खुब सराहा गया। आज दुनिया के एक तिहाई से भी ज्यादा ब्लॉग और वेबसाइट WordPress का इस्तेमाल करती है।

ब्लॉगिंग क्यों किया जाता है?

क्या आप जानते हैं कि लोग ब्लॉगिंग करना क्यों पसंद करते हैं। ब्लॉगिंग करने से क्या मिलता हैं। ब्लॉगिंग करने के क्या फायदे हैं। अगर आप नहीं जानते कि ब्लॉगिंग क्यों किया जाता है। तब आपको बता दूँ कि अपने विचार शेयर करने का ब्लॉग सबसे अच्छा तरीका है।

इससे लोग अपने विचार को पूरे दुनिया में शेयर कर पाते हैं। यही वो वजह होता है। जिसके वजह से लोग ब्लॉगिंग करना पसंद करते हैं। किंतु आजकल ब्लॉगिंग करने के बहुत से वजह हो सकते हैं। जैसे;

  1. Blogging खुद का Network बनाने के लिए भी करते हैं। खुद के Brand को Build करना भी हो सकता है।
  2. Blogging Knowledge शेयर करने के लिए भी किया जाता है।
  3. Blogging अपनी लिखने की कला को बेहतर यानी Writing Skills को Improve करने के लिए भी किया जाता है।
  4. इन सभी के साथ ब्लॉगिंग से पैसे भी कमाया जाता है। बहुत सारे ब्लॉगर्स तो Blogging पैसे कमाने के लिए ही करते हैं। अक्सर फुल टाइम ब्लॉगर और प्रोफेशनल ब्लॉगर पैसे कमाने के लिए ही ब्लॉगिंग करना पसंद करते हैं। Blogging से अपनी आजीविका भी चलाया जा सकता है।

ब्लॉगिंग से पैसे कैसे कमाए जाते हैं?

शायद अब आप सोच रहे होंगे कि आखिर ब्लॉगिंग से पैसे कैसे कमाए जा सकते हैं। यदि आपने पहले कभी भी ब्लॉगिंग से पैसे कमाने के बारे में नहीं सुना है। तब यह आपको रोचक लग सकता है। लेकिन यह सत्य है कि आप Blogging कर के पैसे कमा सकते हैं।

अक्सर आपने इंटरनेट का इस्तेमाल करते वक्त विज्ञापन (Advertisement) देखा होगा। जैसे; YouTube Video देखते वक्त किसी और तरह का विडियो चलने लग जाना। यह भी एक तरह का विज्ञापन होता है। इंटरनेट पर जितने भी Blog, Website या App है। वो सभी विज्ञापन के जरिए ही पैसे कमाते हैं।

जरुर पढ़ें: विज्ञापन क्या है?

Google के कमाई का मुख्य स्रोत भी ऑनलाइन विज्ञापन ही है। इसी तरह ब्लॉग पर भी Blog Post में विज्ञापन लगा कर पैसे कमाया जाता है। ऑनलाइन Website, Blog या App से पैसे कमाने के बहुत से तरीके हैं। किंतु विज्ञापन सबसे पॉपुलर तरीका है।

Blogging से पैसे कैसे कमाया जाता है। विस्तार से जानकारी प्राप्त करने के लिए इस लेख को जरूर पढ़ें:- ब्लॉगिंग से पैसे कैसे कमाए?

Note:- Blog से पैसे तो बहुत कमाया जा सकता है। इससे अपनी आजीविका को चला सकते हैं। किंतु Blog से पैसे कमाने के लिए बहुत ज्यादा मेहनत करना होता है। इसमें Time भी बहुत अधिक लगता है।

ब्लॉग कैसे बनायें?

तो अगर आप भी ब्लॉगिंग से पैसे कमाना चाहते हैं। तब आपको सबसे पहले एक ब्लॉग बनाना होगा। ब्लॉग पर नियमित लेख लिखना होगा और बहुत मेहनत करना होगा। उसके पश्चात आप पैसे कमाना शुरू करेंगे।

पहले ब्लॉग बनाने के लिए Coding और Programming Language सीखना होता था। किंतु आज ऐसे बहुत से प्लेटफॉर्म (टूल) उपलब्ध है। जो बस कुछ क्लिक में एक वेबसाइट और ब्लॉग बना सकता है। ब्लॉग बनाने के लिए मुख्यतः तीन चीजो की आवश्यकता होती है।

  1. Domain Name
  2. Web Hosting
  3. SSL Certificate

1. Domain Name

Domain Name किसी ब्लॉग के Address होता है। जो ब्लॉग के पहचान के रुप में कार्य करता है। जैसे; इस ब्लॉग का Domain Name www.gyanveda.in है। ऊपर आप URL Bar में देख सकते हैं। Domain Name एक Unique Name होता है। जिसे ऑनलाइन Domain Registerar से एक हजार रुपये से भी कम Price में खरीद सकते हैं।

2. Web Hosting

ब्लॉग के Content जैसे; Blog Post, Text, Videos इत्यादि को Store करके रखने के लिए एक ऐसे कंप्यूटर की आवश्यकता होती है। जिसके CPU या Processor बढ़िया हो। ताकि ब्लॉग की Loading Speed Fast हो सके और जिसे 24 घंटे बिजली की आपूर्ति की जा सके। ताकि ब्लॉग 24 घंटे Live रह सके।

किन्तु इतना सब कुछ करने में बहुत पैसे की खर्च होगी। इसलिए ब्लॉग के Content को Host करने के लिए Hosting कंपनी वाले से Web Hosting खरीदना होता है। Web Hosting खरीदने पर हमें एक कंप्यूटर दिया जाता है। जिसे सर्वर कहा जाता है। इस कंप्यूटर को ऑनलाइन कहीं से भी Access कर सकते हैं। और कुछ भी बदलाव कर सकते हैं।

इस सर्वर को Domain Name से कनेक्ट करना होता है। सर्वर को Domain से कनेक्ट कर ब्लॉगिंग टूल (जैसे;वर्डप्रेस) को सर्वर में Install करना होता है। इतना कुछ करने के बाद हमारा ब्लॉग लगभग तैयार हो जाता है। इसके बाद ब्लॉग Live हो जाता है।

3. SSL Certificate

SSL Certificate का Full Form Secure Sockets Layer Certificate होता है। यह ब्लॉग को Secure रखने का काम करता है। दरअसल इंटरनेट पर ब्लॉग HTTP Protocol पर कार्य करता है। किंतु HTTP Unsecure होता है। इसमें SSL Certificate Install करने के बाद HTTP का Secured Version HTTPS हमारे ब्लॉग को Secure रखता है। इसे भी खरीदना पड़ता है। अगर आप ब्लॉग बना रहे हैं तो Domain और Hosting के साथ SSL Certificate को जरुर खरीदें। इससे आपका ब्लॉग Secure और Trusted होगा।

फ्री ब्लॉग कैसे बनायें?

ब्लॉग बनाने के लिए Web Hosting, Domain Name और SSL Certificate खरीदना होता है। जिसमें लगभग दस हजार रुपये तक खर्च हो जाते हैं। ये सिर्फ एक साल के लिए होता है। एक साल के बाद फिर से Domain Name, Web Hosting और SSL को Renew कराना होता है। जिसमें फिर से लगभग दस हजार रुपये खर्च करना पड़ता है। इसी तरह हमेशा Renew करते रहना होता है।

इसलिए अगर आप फ्री में ब्लॉग बनाने का सोच रहे हैं। तो आज यह भी बिलकुल संभव है। आज ऐसे बहुत से प्लेटफॉर्म उपलब्ध है। जिसपर फ्री में ब्लॉग बना सकते हैं। जैसे; WordPress.com, Blogspot आदि। ऐसे बहुत से प्लेटफॉर्म है। जिसपर फ्री ब्लॉग बना सकते हैं। किंतु WordPress.com और Blogspot (Blogger) सबसे अधिक लोकप्रिय है।

इन सभी फ्री ब्लॉग बनाने वाले प्लेटफार्म में कुछ कमियां होती है। लेकिन अगर आप पैसे कमाने के लिए ब्लॉग बनाना चाहते हैं। तब सबसे अच्छा Blogspot होगा। Blogspot Google कंपनी का एक प्रोडक्ट है। इसे Blogger नाम से जाना जाता है। Blogspot ब्लॉग पर Google Adsense से विज्ञापन लगाकर पैसे कमा सकते हैं।

Blogspot (Blogger) पर फ्री ब्लॉग बनाने के लिए नीचे के स्टेप्स को फॉलो करे।

#Step-1:- सबसे पहले www.blogger.com पर जाना है और Create Your Blog पर क्लिक करना होता है।

#Step-2:- अब अपने Google Account (Gmail) से लॉगिन कर लिजिए।

#Step-3:- अब ब्लॉग के नाम डाल कर Next करना होता है।

#Step-4:- यहाँ अपने ब्लॉग के लिए एक Unique Name (Domain Name) डालना होता है। यानी एक ऐसा Name जिसके Name से पहले किसी ने Blogger पर ब्लॉग नहीं बनाया हो। नीचे This blog address is available लिखा आने पर Next कर सकते हैं।

#Step-5:- यहाँ Display Name में ब्लॉग का नाम या अपना नाम डाल दें। इसके बाद Next कर दें।

तो कुछ इस तरह से एक ब्लॉग बना सकते हैं। अब आप इस ब्लॉग पर ब्लॉगिंग करना शुरू कर सकते हैं। मुझे उम्मीद है कि आपको सारे स्टेप्स समझ आ गया होगा।

ब्लॉगिंग के फायदे

ब्लॉगिंग करने के निम्नलिखित फायदे हैं।

  1. Writing Skills बेहतर होती है।
  2. ब्लॉगिंग से लोकप्रियता हासिल कर सकते हैं।
  3. ब्लॉगिंग से पैसे कमा सकते हैं।
  4. ब्लॉगिंग कही से भी कर सकते हैं और पैसे कमा सकते हैं।
  5. ब्लॉगिंग में आप खुद ही मालिक होते हैं। यहाँ आपको कोई नहीं रोकता है
  6. ब्लॉगिंग में हमेशा कुछ सीखने को मिलता रहता है।
  7. ब्लॉगिंग से बहतो की मदद भी करते हैं।
  8. ब्लॉगिंग में समय भी बच जाता है। जिसमें कुछ सीख भी सकते हैं।

इसे भी पढ़ें:-

  1. फ्री में Blogging कैसे शुरू करें?
  2. ब्लॉगिंग से पैसे कैसे कमाए?
  3. मोबाइल से पैसे कैसे कमाए?
  4. Social Media से पैसे कैसे कमाए?

Conclusion – ब्लॉगिंग की पूरी जानकारी

उम्मीद करता हूँ कि यह लेख “ब्लॉग क्या है और ब्लॉगिंग कैसे करते हैं” पसंद आया होगा। इस लेख में हमने ब्लॉगिंग की पूरी जानकारी देने की कोशिश की है। इस लेख के माध्यम से एक समान्य व्यक्ति भी ब्लॉगिंग को जान, समझ और सीख सकता है। यदि आप ब्लॉगिंग से संबंधित कोई प्रश्न पूछना चाहते हैं। तब नीचे कमेंट बॉक्स के माध्यम से पूछ सकते हैं। अगर यह लेख आपको पसंद आया है। तब इसे अपने दोस्तो के साथ भी शेयर करे। ताकि वे भी ब्लॉगिंग को आसान भाषा में समझ सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to top
error: Content is protected !!